• Hindi News
  • Interesting
  • Toilets become door to door in Trump village, people said if Trump comes, they should also have water

हरियाणा / ट्रम्प गांव में घर-घर बन गए शौचालय, लोगों ने कहा- अगर ट्रम्प आ जाएं तो इनमें पानी भी आ जाए

एक ग्रामीण का कहना है, यहां ट्रम्प का नाम कीचड़ में खींचा जा रहा है। एक ग्रामीण का कहना है, यहां ट्रम्प का नाम कीचड़ में खींचा जा रहा है।
X
एक ग्रामीण का कहना है, यहां ट्रम्प का नाम कीचड़ में खींचा जा रहा है।एक ग्रामीण का कहना है, यहां ट्रम्प का नाम कीचड़ में खींचा जा रहा है।

  • नूह जिले के मरोड़ा गांव का नाम बदलकर ट्रम्प गांव हो गया, लेकिन यहां पानी की समस्या अब भी है
  • गांव को सुलभ इंटरनेशनल सोशल सर्विस ऑर्गेनाइजेशन ने गोद लेकर घर-घर शौचालय बनवाए  

दैनिक भास्कर

Feb 25, 2020, 08:20 AM IST

नूंह(दीपक कुमार). अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भारत आए हुए हैं। लेकिन हरियाणा के नूंह जिले एक गांव के लोग भी आस लगाए बैठे हैं कि काश ट्रम्प उनके गांव में भी आ जाएं तो उनकी किस्मत बदल जाए। नूंह के मरोड़ा (अब ट्रम्प) गांव को सुलभ इंटरनेशनल सोशल सर्विस ऑर्गेनाइजेशन ने वर्ष 2017 में गोद लिया।

यहां सिर्फ 7 घरों में शौचालय थे। संस्था ने गांव का नाम बदलकर ट्रम्प रख दिया और घर-घर में 95 सुलभ शौचालय बनवाए, लेकिन इन शौचालयों में पानी है। लोग कहते हैं कि शौचालय बन गए, ट्रम्प गांव आ जाएं तो पानी भी आ जाए।

ऐसे पड़ा था अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रम्प का नाम
सुलभ संस्था के संस्थापक डॉ. बिंदेश्वर पाठक ने बताया कि अमेरिका दौरे के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी से जुड़े पुनीत अहलुवालिया से मुलाकात के दौरान एक गांव गोद लेने बारे में कहा। साथ ही उस गांव का नाम ट्रम्प रखने का सुझाव दिया। पुनीत अहलुवालिया ने मरोड़ा गांव का दौरा भी किया था।

मुझे तो यह सब नौटंकी लगती है
लोगों को शौचालय में पानी साथ लेकर चलना पड़ता है। इस असुविधा के कारण कई बंद रहते है। गांव के साबिद आलम का कहना है कि मुझे तो यह सब एक नौटंकी लगती है। मुझे नहीं लगता कि हमारे पीएम ने हमारे गांव के बारे में भी सुना है। ट्रम्प को कैसे पता चलेगा?’ वहीं अकील का कहना है कि इस बार, ट्रम्प को यहां आकर हमसे मिलना चाहिए और देखना चाहिए कि कैसे उसका नाम कीचड़ में खींचा जा रहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना