• Hindi News
  • Interesting
  • Two Elderly Indian Women Kusum Bhargava, an 86 year and Ishwari Amma an 78 year old Take On The Dubai Run On Wheelchairs

दुबई / 86 साल की कुसुम और 78 साल की अम्मा ने व्हीलचेयर पर 5 किमी की दौड़ पूरी की



86 साल की कुसुम और 78 साल की ईश्वरी अम्मा। 86 साल की कुसुम और 78 साल की ईश्वरी अम्मा।
Two Elderly Indian Women Kusum Bhargava, an 86-year and Ishwari Amma an 78-year-old Take On The Dubai Run On Wheelchairs
दुबई रन। दुबई रन।
X
86 साल की कुसुम और 78 साल की ईश्वरी अम्मा।86 साल की कुसुम और 78 साल की ईश्वरी अम्मा।
Two Elderly Indian Women Kusum Bhargava, an 86-year and Ishwari Amma an 78-year-old Take On The Dubai Run On Wheelchairs
दुबई रन।दुबई रन।

  • कुसुम और ईश्वरी दुबई रन की 5 किमी वर्ग में हिस्सा लेने वाली सबसे बुजुर्ग प्रतियोगी थीं
  • दुबई फिटनेस चैलेंज के आखिर में दौड़ होती है, इस बार तीसरा संस्करण था
  • दौड़ में हिस्सा लेने और इसे देखने वाले कुल 70 हजार लोग पहुंचे

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2019, 12:43 PM IST

दुबई. हजारों धावकों के बीच दो बुजुर्ग भारतीय महिलाओं ने व्हीलचेयर पर 5 किमी की दौड़ पूरी की। 86 साल की कुसुम भार्गव और 78 साल की ईश्वरी अम्मा ने व्हीलचेयर पर 'दुबई रन' में शुक्रवार को हिस्सा लिया था। स्थानीय मीडिया के अनुसार, कुसुम और ईश्वरी दुबई रन में हिस्सा लेने वाली सबसे बुजुर्ग प्रतियोगी थीं। दुबई में एक महीने तक चलने वाले दुबई फिटनेस चैलेंज के आखिर में रन का आयोजन होता है। यह तीसरा संस्करण था। इसमें हिस्सा लेने वाले और देखने वालों को मिलाकर कुल 70 हजार लोग पहुंचे।

 

फिटनेस चैलेंज में लोग रोज 30 मिनट तक 30 तीन व्यायाम करते हैं। यह 18 अक्टूबर से शुरू हुआ था और 16 नवंबर को समाप्त हो जाएगा। दौड़ की शुरुआत दुबई वर्ल्ड ट्रेड सेंटर से दोनों तरफ की सडकों पर हुई। 5 और 10 किलोमीटर श्रेणी में भाग ले रहे धावक पहले शेख ज़ायद रोड होते हुए बुर्ज खलिफा, दुबई ओपेरा, दुबई माल और एमिरेट्स टॉवर से गुजरे। 

 

 

दोनों ने दौड़ पूरी कराने का श्रेय परिवारजनों को दिया

भार्गव ने कहा, 'मैंने पांच किमी की दौड़ पूरी की और इसका श्रेय मेरी बहू को जाता है।' दूसरी ओर, शारजाह की रहने वाली अम्मा ने भी अपनी बहू और नाती-पोतों के साथ दौड़ में हिस्सा लिया। उनके परिवार के सदस्यों ने ही दौड़ की शुरुआत से अंत तक व्हीलचेयर को धक्का दिया। अम्मा ने कहा, मेरा बेटा हमेशा हमें दुबई लाकर शेख जायद रोड और खूबसूरत इमारतें दिखाता था। आज, अपने पैरों पर यहां होने का अनुभव अनमोल और कमाल का था।'

  • भार्गव- मैंने पांच किमी की दौड़ पूरी की और इसका श्रेय मेरी बहू को जाता है
  • अम्मा ने कहा- नाती-पोतों के बल पर दौड़ में हिस्सा लेना अनमोल पल

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना