• Hindi News
  • Interesting
  • UK, First person Nick Butters, participate in marathon of every country, ran 5130 miles in 22 months

ब्रिटेन / विश्व के हर देश की मैराथन में हिस्सा लेने वाले पहले व्यक्ति, 22 महीनों में 5130 मील दौड़े



निक बटर। निक बटर।
X
निक बटर।निक बटर।

  • 96 हफ्तों में 196 देशों की मैराथन दौड़कर निक बटर ने विश्व रिकॉर्ड बनाया
  • रविवार को एथेंस में आखिरी मैराथन पूरी की, अब तक 2.30 करोड़ रुपए जोड़े यह रकम कैंसर पीड़ितों को दान करेंगे
  • दोस्त से प्रेरित होकर कैंसर पीड़ितों की मदद के लिए बैंक की नौकरी छोड़ दुनिया का चक्कर लगाने वाले पहले व्यक्ति 

Dainik Bhaskar

Nov 13, 2019, 07:58 AM IST

लंदन.  इंग्लैंड के निक बटर मैराथन के जरिये दुनिया का चक्कर लगाने वाले पहले व्यक्ति हैं। ऐसा उन्होंने अपने कैंसर पीड़ित दोस्त और उसके जैसे अन्य रोगियों की मदद के लिए किया। दो दिन उन्होंने ने विश्व रिकॉर्ड बनाया। वे दुनिया के पहले ऐसे शख्स बन गए हैं, जिन्होंने धरती के भारत सहित सभी 196 देशों की मैराथन में महज 96 हफ्तों में हिस्सा लिया।

 

बात 2016 की है। मोरक्को में प्रोस्टेट कैंसर का फंड जुटाने के लिए एक मैराथन रखी गई थी। वहीं 30 वर्षीय निक की मुलाकात केविन वेबर से हुई थी। केविन ने बताया था कि उन्हें अंतिम स्टेज का कैंसर है। केविन ने निक से कहा, 'कैंसर होने का इंतजार मत करो।' केविन के इन्हीं शब्दों ने निक को भीतर तक झकझोर दिया। केविन की बातों से निक प्रेरित हुए कि बैंक की नौकरी और सूट-बूट छोड़कर ट्रैक सूट पहनकर ऐसे पीड़ितों के लिए राशि जुटाने निकल पड़े।

 

कार दुर्घटनाग्रस्त हुए, कुत्तों ने काटा, कोहनी तुड़वाई
निक ने अभियान की शुरुआत जनवरी 2018 में कनाडा से की। वे सहारा रेगिस्तान और अंटार्कटिका समेत सात महाद्वीपों की मैराथन में 5130 मील दौड़े। यानी पिछले 96 हफ्तों के दौरान औसतन हर हफ्ते तीन नए देशों में तीन मैराथन में दौड़े। इन 675 दिनों में 51 लाख कदम दौड़कर उन्होंने 15 लाख कैलोरी बर्न की। यही नहीं, इस दौरान उन्हें 10 पासपोर्ट और 120 वीसा लेने पड़े। उन्होंने 196 देशों की यात्रा के दोरान 201 फ्लाइट ली, 45 ट्रेन यात्राएं कीं, 15 बस और 280 टैक्सी यात्राएं कीं। इस बीच वे कार से दुर्घटनाग्रस्त हुए, कुत्तों ने काटा, कोहनी तुड़वा बैठे, लेकिन हारे नहीं। कुल 22 महीने बाद अंतिम मैराथन वे रविवार को एथेंस में दोड़े। 

 

निक 16 से 18 जुलाई 2019 के बीच भारत में थे
इस अभियान में निक ने 2.30 करोड़ रुपए से अधिक रुपए जुटाए हैं। यह राशि वे कैंसर पीड़ितों को दान करेंगे। उन्होंने बताया कि मैराथन के दौरान उन्होंने दुनियाभर के 2,000 लोगों के फोन नंबर लिए हैं। वे दो किताबें लिखने की योजना बना रहे हैं, जो वर्ष 2020 और 2021 में आएंगी। निक 16 से 18 जुलाई 2019 के बीच भारत में थे।

 

'आज ही उठो औ अपने सपनों का पीछा शुरू कर दो'
निक वेबर कहते हैं, 'आपको कभी पता नहीं चलेगा कि आपका समय कब खत्म हो रहा है। इसलिए आज ही उठो और अपने सपनों का पीछा करना शुरू कर दो।' निक अपने सफर को अविस्मरणीय अनुभव करार देते हैं। उन्हें इस सबकी योजना बनाने में दो साल लगे। शुरुआत में यह चुनौतीपूर्ण लगी, पर वे हिम्मत नहीं हारे।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना