पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Uttar Pradesh Sub Inspector Vijay Pratap Runs To Joine Office

तबादले से नाराज पुलिसकर्मी ने दौड़कर की 45 किमी दूर थाने पहुंचने की कोशिश, बेहोश हुआ

9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिसकर्मी विजय प्रताप।
  • पुलिसकर्मी ने इटावा से बिठौली थाना पहुंचने की कोशिश की लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाया
  • अस्पताल में विजय प्रताप का कहना था कि मेरा जबरन तबादला किया गया, आप कुछ भी कहें मैं दौड़कर ही जाऊंगा
Advertisement
Advertisement

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा में पुलिस लाइन थाना से 45 किमी दूर स्थित बिठौली थाना ट्रांसफर किए जाने के बाद पुलिसकर्मी ने दौड़कर वहां पहुंचने की कोशिश की, लेकिन रास्ते में बेहोश हो गया और उसे अस्पताल ले जाया गया। उसने बताया, रिजर्व इंस्पेक्टर ऑफ पुलिस (आरई) ने जबरन मेरा तबादला किया। आप इसे मेरा गुस्सा कहें या नाखुशी, लेकिन में दौड़कर बिठौली जाऊंगा।\"
 
दरअसल, पुलिसकर्मी विजय प्रताप को अनुशासनहीनता के आरोप में निलंबित किया गया था। साथ ही वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आदेश पर इटावा से 70 किलोमीटर दूर बिठौली थाने मे तैनाती दी गई थी। लेकिन, यहां वह गैरहाजिर रहने लगा। नए सिरे से दोबारा उसका ट्रांसफर बिठौली किया गया। इससे वह नाराज हो गया। उसने इटावा मुख्यालय से दौड़कर जाने का फैसला किया, लेकिम 45 किलोमीटर दूर हनुमंतपुरा में बेहोश होकर गिर पड़ा।
 

जांच के बाद कार्रवाई की 
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा ने शनिवार को बताया कि विजय प्रताप सिंह के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई प्रारंभिक जांच के बाद अमल मे लाई गई है। दरोगा को अनुशासनहीनता का दोषी पाया गया है। उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने पर विजय प्रताप के खिलाफ पहले से ही जांच चल रही है। इस पर उसने एक बार माफी भी मांगी थी। उसका सोशल मीडिया पर एक पार्टी के पक्ष में प्रचार करने का वीडियो भी सामने आया है। मामले में एएसपी ग्रामीण ओमवीर सिंह को जांच सौंपी गई है।

Advertisement

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज पिछले समय से आ रही कुछ पुरानी समस्याओं का निवारण होने से अपने आपको बहुत तनावमुक्त महसूस करेंगे। तथा नजदीकी रिश्तेदार व मित्रों के साथ सुखद समय व्यतीत होगा। घर के रखरखाव संबंधी योजनाओं पर भ...

और पढ़ें

Advertisement