कोलकाता / मरीज के परिजन के हमलों से निपटने के लिए डॉक्टर सीख रहे ताईक्वांडो



West Bengal doctors taekwondo to repulse attacks by patients kin
X
West Bengal doctors taekwondo to repulse attacks by patients kin

  • 5 जूनियर डॉक्टर और एक फैकल्टी को जल्द ही ताईक्वांडो कुकिवॉन में ब्लैक बेल्ट मिलेगा

Dainik Bhaskar

Mar 16, 2019, 11:58 AM IST

कोलकाता (पश्चिम बंगाल).  कोलकाता के डॉक्टर्स ताईक्वांडो सीख रहे हैं। ताकि वे किसी मरीज के साथ हुई अनहोनी के बाद उसके परिजन द्वारा किए गए हमले से खुद को बचा सकें। कोलकाता के नील रतन सरकार मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के 5 जूनियर डॉक्टर और एक फैकल्टी मेंबर जल्द ही ताईक्वांडो कुकिवॉन में ब्लैक बेल्ट हासिल करने जा रहे हैं। देश में सरकार की ओर संचालित किसी भी मेडिकल कॉलेज में ऐसा पहली बार होने जा रहा है, जब डॉक्टर ब्लैक बेल्ट हासिल करेंगे।

मार्च 2017 में एनआरएस अस्पताल देश में ऐसा पहला मेडिकल कॉलेज बना था, जिसने स्टूडेंट, इंटर्न और जूनियर डॉक्टरों के लिए ताईक्वांडो की ट्रेनिंग शुरू की थी। अस्पताल की इस पहल का उद्देश्य डॉक्टरों को तनाव से मुक्त करना और पब्लिक के हमले जैसी संकटपूर्ण स्थिति के लिए उन्हें तैयार करना था।

 

'सपना सच हो गया'

अस्पताल के डॉक्टर इंद्रयुध बंदोपाध्याय ने कहा, ‘यह सपने के सच होने जैसा है। हमें गर्व है कि यह देश का पहला ऐसा सरकारी अस्पताल बन गया है जो यह उपलब्धि हासिल कर सकता है।’ 

COMMENT