• Hindi News
  • Interesting
  • The social organization Global Himalayan Expedition started it in 2013 to showcase the moon, stars and houses

लद्दाख / 14 हजार फीट की ऊंचाई पर दुनिया का पहला एस्ट्रो विलेज, इसे 30 महिलाएं चला रहीं



लद्दाख में 14 हजार फुट की ऊंचाई पर मौजूद एक एस्ट्रो होमस्टे। लद्दाख में 14 हजार फुट की ऊंचाई पर मौजूद एक एस्ट्रो होमस्टे।
The social organization Global Himalayan Expedition started it in 2013 to showcase the moon, stars and houses
X
लद्दाख में 14 हजार फुट की ऊंचाई पर मौजूद एक एस्ट्रो होमस्टे।लद्दाख में 14 हजार फुट की ऊंचाई पर मौजूद एक एस्ट्रो होमस्टे।
The social organization Global Himalayan Expedition started it in 2013 to showcase the moon, stars and houses

  • चांद, तारे और गृह दिखाने के लिए सामाजिक संस्था ग्लोबल हिमालयन एक्सपेडिशन ने 2013 में इसकी शुरुआत की थी
  • ऊंचाई और शुष्क जलवायु एस्ट्रोनॉमी के लिए एकदम सही है, 15 गांवों की 30 महिलाओं को ट्रेंड किया

Dainik Bhaskar

Aug 27, 2019, 02:49 PM IST

लेह.  लद्दाख में दुनिया का पहला एस्ट्रो विलेज बनाया गया है। इसमें 5 होमस्टे हैं। इनका संचालन 15 गांवों की 30 महिलाएं करती हैं। लद्दाख अपनी ऊंचाई और शुष्क जलवायु के कारण एस्ट्रोनॉमी के लिए एकदम सही क्षेत्र है। यहां रात को आसमान में तारों और ग्रहों को आसानी से पहचाना जा सकता है। पहले से ही लद्दाख बर्फीली वादियों के कारण पर्यटकों को पसंद है। एस्ट्रो विलेज के कारण पर्यटकों की संख्या और बढ़ेगी। स्थानीय लोगों ने लद्दाख में रात के आसमान को संसाधन के रूप में देखा। इसे रोजगार का जरिया बनाने की ठानी और एस्ट्रो होमस्टे बनाए।

 

सामाजिक संस्था ग्लोबल हिमालयन एक्सपेडिशन ने 2013 में स्थानीय लोगों को एस्ट्रो होमस्टे बनाने की राह दिखाई। संस्था ने इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन के साथ इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया। प्रोजेक्ट का नाम एस्ट्रोनॉमी फॉर हिमालयन लिवलीहुड है।

teliscope

 

महिलाएं टेलीस्कोप ऑपरेट करती हैं
संस्था ने पहले एस्ट्रो विलेज में होमस्टे बनाए। उसके बाद महिलाओं को इन्हें चलाने की ट्रेनिंग दी। अब ये महिलाएं टेलीस्कोप ऑपरेट करना जानती हैं। इन्हें आकाशीय घटनाओं की अच्छी समझ हो गई है। ये पर्यटकों के ठहरने का इंतजाम भी करती हैं। इसी कड़ी में माउंटेन होमस्टेज ने भी लद्दाख के गांवों में एस्ट्रो-होमस्टे बनाए।

 

हर रोज करीब 10 पर्यटक आ रहे 
लद्दाख का पहला एस्ट्रो होमस्टे पैंगोंग टीसो के पास मान गांव में बनाया गया। मान गांव की 4 महिलाओं को ट्रेनिंग दी गई। यहां 10 इंच के ऑटोमेटिक ट्रैकिंग टेलीस्कोप हैं। पिछले 2 महीने में 200 से अधिक पर्यटक यहां आए। इससे 50000 रुपए की आमदनी हुई। यहां हर रोज 10 पर्यटक नाइट स्काई वॉचिंग के लिए आते हैं।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना