चीन / जू में कछुए की पीठ पर लगाई टोकरी, ताकि लोग इसमें सिक्के फेंक सकें



नानिंग चिड़ियाघर में कछुआ। नानिंग चिड़ियाघर में कछुआ।
X
नानिंग चिड़ियाघर में कछुआ।नानिंग चिड़ियाघर में कछुआ।

  • यह मामला नानिंग चिड़ियाघर का है
  • आरोप है कि लोगों से पैसा ऐंठने के लिए ऐसा किया गया 
  • चीन में पैसा फेंकना शुभ माना जाता है

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2019, 05:48 PM IST

बीजिंग. चीन के नानिंग चिड़ियाघर की एक कछुए की पीठ पर पैसे एकत्रित करने के लिए टोकरी लगाने की वजह से आलोचना हो रही है। सोशल मीडिया पर इसका फोटो वायरल होने के बाद कई लोगों ने नाराजगी जताई। इंटरनेशनल यूनियन फॉर द कंजर्वेशन ऑफ नेचर (आईयूसीएन) ने इसे अतिसंवेदनशील बताया है और जू की आलोचना की। इसके बाद नानिंग चिड़ियाघर के अधिकारी मामले की जांच कर रहे है।


पेटा एशिया के प्रेस अधिकारी केथ गुओ ने  मीडिया से कहा, कछुए की प्रजाति का संबंध जंगल से है। वह न तो टाइल्स वाले पूल में रहने और न ही पैसा कमाने के लिए बना है। उन्होंने कहा, जू के कर्मचारियों को चीनी लोगों की आवाज को सुनना चाहिए और कछुए को अभ्यारण्य में छोड़ देना चाहिए। एक विज्ञान ब्लॉगर वेई-टिया ने भी लिखा, ‘‘टाइल्स वाला पूल कछुए के लिए ठीक जगह नहीं हैं।’ 

 

man

 

चीनी इसलिए फेंकते सिक्के
चीनी संस्कृति में सिक्के फेंकने को अच्छा माना जाता है। 2017 में एक बुजुर्ग महिला को बोर्डिंग के दौरान प्लेन के इंजन में सिक्का फेंकने के लिए हिरासत लिया गया था। यह महिला पहली बार विमान में सफर कर रही थी। सिक्का गुड लक के लिए फेंका था।

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना