पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Imran Khan: Pakistan PM Imran Khan One Day Saudi Arabia Visit News Meeting Updates On Prince Mohammed Bin Salman Speaks Over Kashmir Article 370

प्रिंस को मनाने सऊदी अरब पहुंचे इमरान खान, 7 महीने में उनकी यह चौथी रियाद यात्रा

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इमरान खान मई के आखिरी हफ्ते से दिसंबर मध्य तक चार बार सऊदी अरब की यात्रा कर चुके हैं। (फाइल)
  • सऊदी अरब इस बात से सख्त खफा है कि इमरान मलेशिया के पीएम के साथ ओआईसी जैसा संगठन तैयार कर रहे हैं
  • प्रिंस सलमान कुआलालम्पुर में होने जा रही समिट में इमरान की शिरकत को चुनौती की तरह देखते हैं
Advertisement
Advertisement

रियाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान शनिवार को एक दिन की यात्रा पर सऊदी अरब पहुंचे। इमरान यहां सऊदी प्रिंस सलमान बिन अब्दुलअजीज से मुलाकात करेंगे। एक लिहाज से यह यात्रा बेहद अहम मानी जा रही है। दरअसल, 18 से 20 दिसंबर तक मलेशिया में एक सम्मेलन होने वाला है। इसमें पाकिस्तान, मलेशिया, तुर्की और ईरान के राष्ट्राध्यक्ष हिस्सा लेंगे। सऊदी अरब और यूएई इसे आर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (ओआईसी) के लिए चुनौती मानता है। इमरान प्रिंस सलमान की नाराजगी दूर करने और उन्हें मनाने की कोशिश कर रहे हैं। इमरान मई से दिसंबर मध्य तक चार बार सऊदी अरब की यात्रा कर चुके हैं। 

सऊदी के प्रभुत्व को चुनौती
ओआईसी मुस्लिम देशों का सबसे मजबूत संगठन है। कश्मीर मुद्दे पर इसने पाकिस्तान के रुख का समर्थन न करते हुए भारत का पक्ष लिया। अगस्त में यूएन महासभा में मलेशिया और तुर्की ने ही पाकिस्तान का समर्थन किया। इसी दौरान पाकिस्तान, मलेशिया और तुर्की ने मलेशिया की राजधानी कुआलालम्पुर में 18 से 20 दिसंबर तक एक सम्मेलन आयोजित करने का फैसला किया। बाद में कतर भी इसमें शामिल होने तैयार हो गया। सऊदी और यूएई दोनों को लगता है कि इमरान मलेशिया के पीएम महातिर मोहम्मद और तुर्की के राष्ट्रपति एर्डोगन के साथ मिलकर ओआईसी के समांतर संगठन खड़ा करना चाहते हैं। यह दोनों देशों को सीधी चुनौती लगी। 

घबराया पाकिस्तान
सऊदी और यूएई दोनों ने कुआलालम्पुर समिट पर सख्त नाखुशी जाहिर की। पाकिस्तान को इस प्रतिक्रिया का अंदाजा नहीं था। घबराए इमरान ने पहले विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी को रियाद भेजा। ‘द डॉन’ के मुताबिक, कुरैशी सऊदी प्रिंस और प्रशासन को मनाने में कामयाब नहीं रहे तो इमरान को खुद वहां जाने का फैसला करना पड़ा। हालांकि, अब यात्रा का कार्यक्रम उलझता नजर आ रहा है। अमेरिका भी सऊदी और यूएई के साथ है। पाकिस्तान की दिक्कत ये है कि वो अब मलेशिया समिट से पीछे भी नहीं हट सकता। और अगर वो आगे बढ़ता है तो सऊदी-यूएई समेत दूसरे मुस्लिम देश उससे दूर हो सकते हैं। यह हर लिहाज से उसके लिए घाटे का सौदा होगा।

Advertisement

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement