• Hindi News
  • Hbr
  • India Russia | Biswanath Patra: Russia President Vladimir Putin, Praises Kendriya Vidyalaya Class 11th student For His His Innovative Water Dispense

मॉस्को / ओडिशा के छात्र ने पानी की बर्बादी रोकने के लिए मशीन बनाई, पुतिन से मिली तारीफ

सोची में बिस्वनाथ (बाईं तरफ से पहले) के प्रोजेक्ट पर उन्हें बधाई देते रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन। सोची में बिस्वनाथ (बाईं तरफ से पहले) के प्रोजेक्ट पर उन्हें बधाई देते रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन।
X
सोची में बिस्वनाथ (बाईं तरफ से पहले) के प्रोजेक्ट पर उन्हें बधाई देते रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन।सोची में बिस्वनाथ (बाईं तरफ से पहले) के प्रोजेक्ट पर उन्हें बधाई देते रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन।

  • केंद्रीय विद्यालय में पढ़ने वाले 11वीं के छात्र बिस्वनाथ पात्रा रूस में प्रोजेक्ट का प्रदर्शन करने वाले 25 छात्रों में शामिल थे
  • नीति आयोग ने अटल इनोवेशन मिशन के तहत इन छात्रों को रूस के सोची भेजा था 

Dainik Bhaskar

Dec 13, 2019, 02:57 PM IST

मॉस्को. पानी की बर्बादी रोकने वाली मशीन बनाने के लिए ओडिशा के एक छात्र को राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से तारीफ मिली। छात्र का नाम पी बिस्वनाथ पात्रा है। बिस्वनाथ ने डीप टेक्नोलॉजी एजुकेशन प्रोग्राम और नीति आयोग के अटल इनोवेशन मिशन (एआईएम) कार्यक्रम में अपने वॉटर डिस्पेंसर का प्रदर्शन किया। यह कार्यक्रम रूस के सोची में रूसी संस्थान सीरियस (SIRIUS) ने 28 नवंबर से 8 दिसंबर तक आयोजित किया था। कार्यक्रम में राष्ट्रपति पुतिन खुद मुख्य अतिथि बन कर पहुंचे थे।

बिस्वनाथ को बधाई देने वालों में ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भी शामिल रहे। उन्होंने ट्विटर पर वह वीडियो पोस्ट किया, जिसमें पुतिन बिस्वनाथ के प्रोजेक्ट की तारीफ करते दिख रहे हैं।

पुतिन ने कहा- “हम चाहते हैं आपके जैसे भारतीय यहां आएं”
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में राष्ट्रपति पुतिन बिस्वनाथ के प्रोजेक्ट से प्रभावित होकर कहते हैं कि हम चाहते हैं कि आपके जैसे अन्य बच्चे भी भारत से यहां आकर कार्यक्रमों में शामिल हों। मुझे लगता है यह शानदार होगा। आखिर में पुतिन सभी बच्चों से पूछते हैं कि क्या बच्चों को सोची में अच्छा लगा? जिसके जवाब में सभी छात्र खुशी का इजहार करते हैं।

नल से बर्बाद होने वाले पानी को बचाने की व्यवस्था
बिस्वनाथ 25 छात्रों में से हैं, जिनका प्रोजेक्ट सोची में प्रदर्शित करने के लिए चुना गया। केंद्रीय विद्यालय में पढ़ने वाले बिस्वनाथ ओडिशा से एकमात्र छात्र हैं, जिन्हें रूस जाने का मौका मिला। बिस्वनाथ के टीचर के मुताबिक, वे पिछले करीब एक साल से स्मार्ट वॉटर डिस्पेंसर बनाने के लिए मेहनत कर रहे थे। इससे पानी निकलने के साथ जो पानी बर्बाद होता है, उसे भी फिल्टर करने की व्यवस्था है। इसे पानी का एटीएम कह सकते हैं। एक स्मार्ट वाॅटर डिस्पेंसर 5000 से लेकर 7000 रुपए तक कीमत का होगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना