पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • International
  • 117 Years After Flying On Earth, A Helicopter Flew 28.93 Million Kilometers Away On Another Planet

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मंगल पर उड़ान भरकर नासा के हेलीकॉप्टर ने रचा इतिहास:धरती पर उड़ान भरने के 117 साल बाद 28.93 करोड़ किलोमीटर दूर दूसरे ग्रह पर किसी हेलीकॉप्टर ने भरी उड़ान

एक महीने पहलेलेखक: केनेथ चांग
दो किलो वजनी हेलीकॉप्टर ने मंगल ग्रह पर पहली उड़ान भरकर इतिहास रच दिया।

नासा के दो किलो वजनी हेलीकॉप्टर ने मंगल ग्रह पर पहली उड़ान भरकर इतिहास रच दिया। छोटे आकार का यह हेलीकॉप्टर उड़ान के दौरान 10 फीट की ऊंचाई पाने में सफल रहा। धरती छोड़ किसी दूसरे ग्रह पर किसी हेलीकॉप्टर की पहली उड़ान थी। इसे लेकर नासा साइंस मिशन डायरेक्ट्रेट के एसोसिएट एडमिनिस्ट्रेटर थॉमस जुरबुकेन ने पूरी टीम को बधाई दी। साथ ही कहा- ऐसे मौका पहले कभी नहीं आया।

राइट ब्रदर्स के धरती पर पहली उड़ान भरने के 117 साल बाद नासा के इंजेंविनिटी ने धरती से 28.93 करोड़ किमी दूर किसी दूसरे ग्रह (मंगल) पर सफलतापूर्ण उड़ान भरी है। राइट ब्रदर्स का उड़ान भरना और इंजेंविनिटी का मंगल पर उड़ना दोनों ही गौरवशाली और न भूलने वाले पल हैं। मंगल पर हुई इंजेंविनिटी की उड़ान और राइट ब्रदर्स की उड़ान आज आपस में जुड़ गई हैं।’ थॉमस ने हेलीकॉप्टर इंजेंविनिटी की एयरफील्ड को राइट ब्रदर्स फील्ड का नाम दिया है।

नासा के मुताबिक, धरती पर उड़ान भरने वाले हेलीकॉप्टर के ब्लेड एक मिनट में 400-500 राउंड घूमते हैं। जबकि मार्स पर भेजे गए हेलीकॉप्टर इंजेंविनिटी के ब्लेड उड़ान के दौरान 2500 राउंड प्रति मिनट की रफ्तार से घूमे। यानी इंजेंविनिटी के ब्लेड धरती पर उड़ने वाले हेलीकॉप्टर की तुलना में चार गुना तेजी से घूमे। इंजेंविनिटी की उड़ान के दौरान नासा ने उसका लाइव प्रसारण भी किया।

इस उड़ान से पहले नासा ने इससे जुड़े सवालों के मीडिया को जवाब भी दिए। नासा की तरफ से सवालों के जवाब देने के लिए नासा साइंस मिशन डायरेक्ट्रेट के एसोसिएट एडमिनिस्ट्रेटर थॉमस जुरबुकेन, जेपीएल डायरेक्टर मिशले वाटकिंस, नासा की जेट प्रपल्शन लैब में मार्स हेलीकॉप्टर के प्रोजेक्ट मैनेजर मीमी ऑन्ग इंजेंविनिटी के चीफ इंजीनियर बॉब बलराम मौके पर मौजूद रहे।

मंगल के वातावरण में उड़ान भरना धरती के मुकाबले मुश्किल
लाइव स्ट्रीमिंग के दौरान नासा का कहना था कि इंजेंविनिटी का मंगल के वातावरण में उड़ना धरती पर उड़ान भरने से कहीं ज्यादा मुश्किल है। लेकिन इसको देखने वालों ने यूट्यूब पर स्ट्रीमिंग के दौरान लिखा कि ये इतना भी मुश्किल नहीं लग रहा है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

और पढ़ें