पोलैंड पर गिरी दो रूसी मिसाइलें:दो लोगों की मौत; बाइडेन, नाटो चीफ और पोलैंड प्रेसीडेंट ने रूस को दी क्लीन चिट

3 महीने पहले
पोलैंड NATO का हिस्सा है, अगर उसके आरोप सच साबित होते तो संधि के तहत सभी NATO देश मिलकर रूस को जवाब दे सकते थे। ऐसे में तीसरे विश्वयुद्ध की आशंका बढ़ गई थी।

रूस-यूक्रेन जंग के बीच मंगलवार को पोलैंड में रूस की दो मिसाइलें गिरी। पहले इसे रूस का पोलैंड पर हमला माना जा रहा था, लेकिन बाद में पोलैंड के राष्ट्रपति समेत जो बाइडेन और नाटो चीफ ने रूस को क्लीन चिट दे दी। रूस शुरू से ही पोलैंड पर मिसाइलें दागने से इनकार कर रहा था।

बता दें, पोलैंड के प्रधानमंत्री के प्रवक्ता ने कहा कि था कि उनके देश में रूस में बनी 2 मिसाइलें गिरी हैं। इसमें दो लोगों की जान चली गई। अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा था कि पोलैंड में रूस की मिसाइलें गिरना संभव नहीं लगता है। अब तक रूस को चेतावनी देते रहे बाइडेन ने कहा- प्राइमरी इन्वेस्टिगेशन में सामने आया है कि ये मिसाइलें यूक्रेनी सैनिकों की जवाबी कार्रवाई के बाद पोलैंड में गिरी हैं।

नाटो चीफ का कहना है कि कोई सबूत नहीं है कि पोलैंड में विस्फोट रूस ने जानबूझकर किया था। पोलैंड के राष्ट्रपति ने कहा- मिसाइल हमले में 2 लोग मारे गए। यह दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना है, जानबूझकर किया गया हमला नहीं है।

खबर से जुड़ी जानकारी पढ़ने से पहले आप इस पोल में हिस्सा ले सकते हैं...

G20 लीडर्स ने जंग को लेकर कही ये बातें...

  • PM नरेंद्र मोदी बोले- दोनों देशों बातचीत के रास्ते ढूंढें। दुनिया में शांति के लिए हमें साथ मिलकर काम करना होगा।
  • इंडोनेशिया राष्ट्रपति जोको विडोडो ने कहा- अगर युद्ध नहीं रुका तो दुनिया के लिए आगे बढ़ना मुश्किल होगा।
  • राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा- वो मॉस्को पर दबाव बनाएं, जिसने यूक्रेन को बर्बाद करके, वैश्विक अर्थव्यवस्था को मुश्किल में डाला।
  • ब्रिटिश PM ऋषि सुनक बोले- यूक्रेन-रूस वॉर से महंगाई और दूसरी समस्याएं बढ़ी हैं। किसी एक देश के कारण भविष्य को अंधकार में नहीं डाल सकते।
  • जेलेंस्की ने वीडियो मैसेज में जंग खत्म करने के लिए 10 शर्तें दोहराईं। इनमें रूसी सैनिकों की वापसी, यूक्रेनी नियंत्रण की पूर्ण बहाली शामिल है।
  • जी-20 लीडर्स ने एक घोषणापत्र भी जारी किया, जिसमें जंग की आलोचना के साथ यूक्रेन से रूसी सैनिकों की बिना शर्त वापसी की मांग की गई है।
G20 देश ने नेताओं ने रूस-यूक्रेन जंग की निंदा की और हमले रोकने की बात कही। इस बैठक में रूस के राष्ट्रपति पुतिन शामिल नहीं हुए। उनकी जगह रूसी विदेश मंत्री ने हिस्सा लिया।
G20 देश ने नेताओं ने रूस-यूक्रेन जंग की निंदा की और हमले रोकने की बात कही। इस बैठक में रूस के राष्ट्रपति पुतिन शामिल नहीं हुए। उनकी जगह रूसी विदेश मंत्री ने हिस्सा लिया।

रूसी हमलों के बाद पोलैंड ने बुलाई आपात बैठक
रूस ने यूक्रेन पर 100 मिसाइलें दागी थीं। इनमें से 2 मिलाइलें पोलैंड में गिरीं। पोलैंड के PM माटुस्ज मोराविकी ने मिसाइल गिरने की खबरों के बाद आपात बैठक बुलाई। सरकार के प्रवक्ता पिओतर मुलर ने कहा कि मामले की जांच जारी है। रूसी राजदूत से भी इस घटना पर तत्काल स्पष्टीकरण मांगा गया है।

यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की बोले NATO देश पर हमला गंभीर मामला है। रूस पर कार्रवाई होनी चाहिए। व्हाइट हाउस ने कहा कि प्रेसिडेंट बाइडेन ने मामले को लेकर पोलैंड के राष्ट्रपति आंद्रेज डूडा के साथ फोन पर बात की है। अमेरिका और ब्रिटेन के अलावा नाटो भी मामले की जांच कर रहा है।

नाटो देश पोलैंड में मिसाइल गिरने के बाद की तस्वीरें...

पोलैंड के प्रेजवोडो गांव के पास अनाज ले जा रहे एक ट्रैक्टर पर ये मिसाइलें गिरीं। यह जगह यूक्रेन की सीमा से लगभग पांच मील की दूरी पर है।
पोलैंड के प्रेजवोडो गांव के पास अनाज ले जा रहे एक ट्रैक्टर पर ये मिसाइलें गिरीं। यह जगह यूक्रेन की सीमा से लगभग पांच मील की दूरी पर है।
पोलैंड में यह तस्वीर वायरल हो रही है। इसमें एक रूसी मिसाइल का टुकड़ा दिख रहा है।
पोलैंड में यह तस्वीर वायरल हो रही है। इसमें एक रूसी मिसाइल का टुकड़ा दिख रहा है।
जिस जगह मिसाइल गिरी है, उस पूरे इलाके में पोलिश पुलिस ने घेराबंदी कर दी है।
जिस जगह मिसाइल गिरी है, उस पूरे इलाके में पोलिश पुलिस ने घेराबंदी कर दी है।
रूसी मिसाइलों से नुकसान के बाद पोलैंड के PM ने आपात बैठक बुलाई। डिफेंस मिनिस्टर मारिउज भी शामिल हुए।
रूसी मिसाइलों से नुकसान के बाद पोलैंड के PM ने आपात बैठक बुलाई। डिफेंस मिनिस्टर मारिउज भी शामिल हुए।

अमेरिका ने रूस को दी चेतावनी
अमेरिका ने कहा कि वह अपने नाटो मेंबर पोलैंड में मिसाइल गिरने की जांच कर रहा है। इसके साथ ही लगातार पोलिश अधिकारियों के साथ मामले को लेकर बातचीत भी कर रहा है। रूस को चेतावनी भी दी है। नाटो के महासचिव स्टोलटेनबर्ग ने कहा कि हम नाटो क्षेत्र के हर इंच की रक्षा करेंगे।

हालांकि, व्हाइट हाउस ने कहा है कि हम पोलैंड से आने वाली खबरों की पुष्टि नहीं कर सकते हैं। हमारी टीम अधिक जानकारी जुटाने के लिए पोलिश सरकार के साथ काम कर रही है।

क्या है नाटो?
NATO का पूरा नाम नॉर्थ अटलांटिक ट्रीटी ऑर्गनाइजेशन है। यह यूरोप और उत्तरी अमेरिकी देशों का एक सैन्य और राजनीतिक गठबंधन है। नाटो संधि का आर्टिकल-5 कहता है कि यदि नाटो के किसी भी देश पर हमला होता है, तो नाटो के बाकी मेंबर देश इस हमले को सभी सदस्यों पर हमला मानेंगे। सहयोगी देश की मदद के लिए आगे आएंगे और कार्रवाई करेंगे।

नाटो में अमेरिका, फ्रांस, बेल्जियम, लक्जमर्ग, ब्रिटेन, नीदरलैंड्स, कनाडा, डेनमार्क, पोलैंड, आइसलैंड्स, इटली, नार्वे, पुर्तगाल समेत 30 देश हैं।

15 नवंबर को यूक्रेन में रूसी मिसाइलें गिरने के बाद की तस्वीरें ....

मिसाइल गिरने के बाद कुछ इमारतों में आग लग गई। बिल्डिंग में लगी आग को मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम बुझाने की कोशिश कर रही है।
मिसाइल गिरने के बाद कुछ इमारतों में आग लग गई। बिल्डिंग में लगी आग को मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम बुझाने की कोशिश कर रही है।
लवीव शहर में कई बिल्डिंग्स में रुसी मिसाइलें गिरीं, जिसके बाद आसमान में धुआं ही धुआं दिखाई दिया।
लवीव शहर में कई बिल्डिंग्स में रुसी मिसाइलें गिरीं, जिसके बाद आसमान में धुआं ही धुआं दिखाई दिया।

जंग से जुड़ी अहम तस्वीरें...

यूक्रेन के खेरसॉन इलाके से रूस ने सैनिकों को हटा लिया है। अब वहां पर जेलेंस्की सरकार की तरफ से लोगों को खाने का सामान बांटा जा रहा है।
यूक्रेन के खेरसॉन इलाके से रूस ने सैनिकों को हटा लिया है। अब वहां पर जेलेंस्की सरकार की तरफ से लोगों को खाने का सामान बांटा जा रहा है।
खेरसॉन शहर में बीते कई दिनों से बिजली नहीं है। सरकार ने यहां मोबाइल और लैपटॉप चार्जिंग के लिए एक स्टेशन बनाया है।
खेरसॉन शहर में बीते कई दिनों से बिजली नहीं है। सरकार ने यहां मोबाइल और लैपटॉप चार्जिंग के लिए एक स्टेशन बनाया है।