अमेरिका:2 लाख 75 हजार लोगों ने दिया एच-1बी वीजा के लिए आवेदन, 67 प्रतिशत केवल भारतीय

वॉशिंगटन2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • भारत के बाद दूसरे नंबर पर चीन से 13.2 प्रतिशत आवेदन मिले हैं
  • ड्रॉ के जरिए USIC ने पिछले महीने रजिस्ट्रेशन आवेदकों का चुनाव किया था
  • संस्था ने कहा- सभी सफल आवेदक 90 दिनों के अंदर फॉर्मल एप्लीकेशन जमा करें

यूएस सिटिजनशिप एंड इमिग्रेशन सर्विसेज (USCIS) के अनुसार एच-1बी वीजा रजिस्ट्रेशन के लिए 2 लाख 75 हजार आवेदन प्राप्त हुए हैं। जिसमें से 67.7 प्रतिशत, यानी करीब दो लाख आवेदन केवल भारत से हैं। संस्था हर साल अमेरिकी कंपनियों में विदेशी कर्मचारियों के लिए 85 हजार एच-1बी वीजा जारी करती है। USCIS ने बुधवार को कहा कि, 20 मार्च से पहले प्राप्त सफल रजिस्ट्रेशन 1 अप्रैल से अपना आवेदन जमा कर सकते हैं। संस्था के मुताबिक रजिस्ट्रेशन्स के दौरान करीब 40 हजार अकाउंट बनाए गए थे। जिसमें से 81 फीसदी आवेदन भारत और चीन से मिले थे। वहीं, रजिस्ट्रेशन के शुरुआती दौर में ही 2 लाख आवेदन प्राप्त हुए थे। इनमें से करीब 46 फीसदी यूएस एडवांस डिग्री वालों के लिए थे।

नए इलेक्ट्रॉनिक रजिस्ट्रेशन सिस्टम को मिल रहा अच्छा रिस्पॉन्स
एच-1बी वीजा जारी करने के लिए नया इलेक्ट्रॉनिक रजिस्ट्रेशन सिस्टम शामिल किया गया है। USCIS के डिप्टी डायरेक्टर फॉर पॉलिसी जोसिफ एड्लो ने बताया कि, नए एच-1बी इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम सफल हुआ है। इस नई आधुनिक प्रक्रिया के कारण संस्था और आवेदकों के बीच होने वाले पेपर और डाटा शेयरिंग में काफी कमी आई है। 

अमेरिकी कंपनियों को मिलती है मदद
एच-1बी एक नॉन इमिग्रेंट वीजा है, जिसके जरिए अमेरिकी कंपनियां दूसरे देशों से टेक्नोलॉजी प्रोफेशनल्स को हायर करती है। सरकार के आदेशानुसार, USIC हर साल कुशल विदेशी कर्मचारियों के लिए 65 हजार एच-1बी वीजा जारी करती है। वहीं, अन्य 20 हजार वीजा एप्लीकेशन्स में वो लोग शामिल होते हैं, जिन्होंने अमेरिकी संस्था से मास्टर्स या कोई बड़ी डिग्री ली हो।