यूएस / नेशनल पार्क से दिल जैसा पत्थर ले गई बच्ची ने माफी के साथ लौटाया; अफसर बोले- तुम रोल मॉडल हो



A girl took a heart-shaped rock from a national park. Then she felt guilty and sent it back
A girl took a heart-shaped rock from a national park. Then she felt guilty and sent it back
X
A girl took a heart-shaped rock from a national park. Then she felt guilty and sent it back
A girl took a heart-shaped rock from a national park. Then she felt guilty and sent it back

  • ग्रेट स्मोकी माउंटेन नेशनल पार्क से करीना नाम की बच्ची एक पत्थर उठाकर ले गई थी 
  • बाद में उसने पार्क को पत्र लिखकर इसे लौटा दिया
  • अफसर ने कहा- बच्ची ने ऐसा कर मिसाल कायम की, सबको सबक लेना चाहिए

Dainik Bhaskar

Aug 25, 2019, 09:30 PM IST

वॉशिंगटन. टैनिसी और नॉर्थ कैरोलिना स्थित ग्रेट स्मोकी माउंटेन नेशनल पार्क से कुछ ही दिनों पहले एक बच्ची अपने साथ एक पत्थर घर ले गई। यह पत्थर दिल के आकार का था, लेकिन जब बच्ची को अपराध बोध हुआ तो उसने इसे रेंजर को पत्र के साथ वापस भेज दिया। बच्ची ने पत्र में लिखा, "उसे पार्क, माउंटेन और वाटरफॉल बहुत पसंद है। इसलिए मैं वाटरफॉल के पास से लिया गया पत्थर लौटा रही हूं।" बच्ची ने पत्र में वाटरफॉल का चित्र भी बनाया।

 

ग्रेट स्मोकी माउंटेन नेशनल पार्क अपनी खूबसूरती के लिए प्रसिद्ध है। यहां 60 फीट की ऊंचाई से गिरने वाला टॉम ब्रीच वाटरफॉल है। यही कारण है कि हर साल यहां करीब एक करोड़ से भी अधिक लोग आते हैं। इनमें से हजारों यहां की यादों से जुड़ी कोई न कोई वस्तु ले जाते हैं।

 


 

बच्ची करीना पार्क संरक्षण की रोल मॉडल

  1. नेशनल पार्क को जो पत्र मिला, वह करीना के नाम से आया। इसके अलावा, पत्र में पता या अन्य कोई जानकारी नहीं दी गई। पार्क के रेंजर ने पत्थर और पत्र को झरने के बैक ग्राउंड में रखकर फेसबुक पर पोस्ट किया। लिखा- "करीना तुम पार्क संरक्षण की रोल मॉडल हो। पार्क के एजुकेशन रेंजर जेसी स्नो और एलिशन बेट ने कहा, हम इस पत्थर को बच्ची के घर तक भेजना चाहते थे, लेकिन वह कौन है और कहां रहती है, इसकी जानकारी हमें नहीं है। बच्ची की पहचान के नाम पर सिर्फ हमें उसका नाम करीना ही पता है।"

  2. रेंजर जेसी स्नो और एलिशन बेट ने कहा, "इस बच्ची ने एक मिसाल कायम की है। अक्सर लोग यहां आते हैं। पार्क की चीजों को नुकसान पहुंचाते हैं। कुछ तो यहां की चीजों को अपने साथ घर ले जाते हैं। इनमें छोटे पौधे भी होते हैं। कई लोग पेड़ों पर अपना नाम या अपने करीबी का नाम लिख जाते हैं। इससे बहुत नुकसान होता है। हम चाहते हैं कि करीना का यह पत्र लोगों के लिए एक मैसेज बने।" 

  3. नियमों के मुताबिक, नेशनल पार्क से कुछ भी चीज लेना या यहां की संपत्ति को नुकसान पहुंचाना अपराध है। जो लोग नियम तोड़ते हैं, उनपर जुर्माना और सजा का प्रावधान है। उसका अपराध बोध यह बताता है कि यदि उसकी तरह सभी विजिटर एक-एक पत्थर ले जाएंगे तो पार्क की सुंदरता कायम नहीं रह पाएंगी। यहां हर साल में 1 करोड़ से अधिक विजिटर आते हैं यानी हर साल 1 करोड़ से अधिक पत्थर पार्क से खत्म हो जाएंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना