• Hindi News
  • International
  • Panjshir Amrullah Saleh | Afghanistan Panjshir Valley Taliban Crisis Latest; News About Taliban And Amrullah Saleh

तालिबानियों का डर:पंजशीर में विद्रोहियों के लीडर सालेह ने काबुल कब्जे से पहले बीवी और बेटियों की तस्वीरें जला दी थीं

एक महीने पहले

तालिबान ने पंजशीर पर पूरी तरह कब्जे का दावा किया है। अफगान मीडिया के मुताबिक, पंजशीर में विद्रोही नेताओं के लीडर अमरुल्ला सालेह ताजिकिस्तान भाग गए हैं। एक दिन पहले ही सालेह ने ब्रिटिश न्यूज पेपर में लिखे अपने आर्टिकल में कहा था कि वो तालिबानियों के आगे सरेंडर करना नहीं चाहते। इस आर्टिकल में उन्होंने अपनी फैमिली को लेकर डर की बात भी जाहिर की थी।

सालेह ने बताया- जिस दिन काबुल तालिबानियों के कब्जे में गया, उससे पहले मैं काबुल स्थित अपने घर गया। अपनी बेटी और बीवी की तस्वीरें जला दीं। अपना कम्प्यूटर बटोरा और फिर अपने चीफ गार्ड रहीम से कहा कि अपना हाथ कुरान पर रखो। मैंने उससे कहा कि हम पंजशीर जा रहे हैं और सड़कों पर तालिबानियों का कब्जा है। हम लड़ेंगे और साथ मिलकर लड़ेंगे। अगर मैं घायल हो जाऊं तो मेरे सिर में 2 गोलियां मार देना। मैं तालिबान के आगे घुटने नहीं टेकना चाहता हूं।

भागने वाले नेताओं ने अपने ही देश से दगा की: सालेह
उन्होंने आर्टिकल में लिखा था- जब काबुल में कब्जे से पहले इंटेलिजेंस चीफ मेरे पास आए और कहा कि जहां भी आप जाएंगे, मैं साथ चलूंगा। अगर तालिबानियों ने रास्ता रोक भी लिया तो हम आखिरी जंग साथ-साथ लड़ेंगे। वो राजनेता जो विदेशों के होटलों और विला में रह रहे हैं, उन्होंने अपने ही लोगों से दगा किया। ये लोग अब गरीब अफगानियों से विद्रोह करने को कह रहे हैं। ये कायरता है। अगर हमें विद्रोह चाहते हैं तो इस विद्रोह की अगुआई भी होनी चाहिए।

सालेह ताजिकिस्तान भागे, अहमद मसूद छिप गए
रविवार को तालिबान की मदद करने के लिए पाकिस्तानी पायलट्स ने रेजिस्टेंस फोर्सेज के ठिकानों पर ड्रोन से हवाई हमले किए। पंजशीर में रजिस्टेंस के प्रमुख नेता और देश के पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह जिस घर में ठहरे थे, उस पर भी हमला हुआ। इसके बाद सालेह ताजिकिस्तान भाग गए। अहमद मसूद पंजशीर में ही सुरक्षित ठिकाने पर हैं, लेकिन पंजशीर अब तालिबान के कब्जे में आ गया है।

पंजशीर पर कब्जे की पहली तस्वीर तालिबान ने जारी की है। तालिबान ने ऐलान किया है कि अब पूरे अफगानिस्तान पर उसका कब्जा है।
पंजशीर पर कब्जे की पहली तस्वीर तालिबान ने जारी की है। तालिबान ने ऐलान किया है कि अब पूरे अफगानिस्तान पर उसका कब्जा है।

पाकिस्तान के CH-4 ड्रोन ने पंजशीर में एक गाड़ी पर दो मिसाइलें दागीं। इसमें रेजिस्टेंस के प्रवक्ता फहीम दश्ती और पांच अन्य लड़ाकों की मौत हो गई। दश्ती पेशे से पत्रकार थे और 15 अगस्त तक काबुल डेली के संपादक भी थे। अहमद मसूद के करीबी और पंजशीर बलों के प्रमुख सालेह मोहम्मद रेगिस्तानी भी रविवार के हमलों में मारे गए।

खबरें और भी हैं...