• Hindi News
  • International
  • Pakistan Taliban VS Afghanistan India | Afghani Pop Singer Aryana Sayeed On Pakistan And India Friendship

तालिबानी कब्जे के पीछे पाकिस्तान?:अफगानी पॉप स्टार ने पाकिस्तान को अफगानिस्तान में बदतर हालात के लिए जिम्मेदार ठहराया, बोलीं- भारत सच्चा दोस्त

2 महीने पहले

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे में पाकिस्तान की भूमिका धीरे-धीरे सामने आती जा रही है। कुछ दिनों पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने तालिबान के कब्जे पर खुशी जाहिर की थी, तो अब अफगानिस्तान की फेमस पॉप स्टार अर्याना सईद ने पाकिस्तान पर निशाना साधा है। उन्होंने तालिबान की बढ़ती हिंसा का जिम्मेदार पाकिस्तान को ठहराया है और भारत को सच्चा दोस्त बताया है।

अर्याना ने ANI को दिए इंटव्यू में कहा, "कई सालों से हम देखते आए हैं कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान में तालिबान को बढ़ावा देता है। कई वीडियो में भी इसका खुलासा हो चुका है। जब भी हमारी सरकार किसी तालिबानी को पकड़कर उसकी जांच करती है तो वह पाकिस्तानी निकलता है। इसलिए आज अफगानिस्तान में जिस तरह के हालात है, उसके लिए सिर्फ पाकिस्तान जिम्मेदार है। पाकिस्तान में तालिबान के मिलिट्री बेस हैं। वहां तालिबान के लड़ाकों को ट्रेनिंग देकर आतंकी बनाया जाता है।"

पाकिस्तान पर दबाव बनाना चाहिए
उन्होंने उम्मीद जताई है कि इंटरनेशनल कम्युनिटी पाकिस्तान को दी जा रही सभी मदद तत्काल बंद करेगी। इन्हीं पैसों से पाकिस्तान तालिबान को सपोर्ट करता है। पाकिस्तान के ऊपर इस बात के लिए दबाव बनाना चाहिए। उन्होंने अफगानिस्तान के हालात ठीक करने के लिए इंटरनेशनल कम्युनिटी को आगे आने के लिए कहा है।

भारत के बारे में क्या कहा ?
अर्याना ने भारत को अफगानिस्तान का मददगार बताया है। उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा अफगानिस्तान का भला सोचा है। वह सही मायने में सच्चा दोस्त है। अफगानिस्तान से भागकर भारत पहुंचे हमारे नागरिकों के साथ वहां अच्छा बर्ताव किया जाता है। "मैं अफगानिस्तान की तरफ से भारत को धन्यवाद कहती हूं। पिछले कुछ सालों में बने हालात देखकर विश्वास हो गया है कि हमारे पड़ोस में भारत ही सच्चा दोस्त है।"

2015 में तालिबान को चुनौती दी थी
अर्याना सईद अफगानिस्तान में बड़ी सेलेब्रिटी हैं। उन्होंने 2015 में अपने काम से तालिबान को चुनौती दी थी। अर्याना अफगानिस्तान में महिला होकर एक स्टेडियम गई थीं, उन्होंने वहां गाना भी गाया था और सबसे बड़ी बात इस दौरान उन्होंने हिजाब भी नहीं पहना था। इससे पहले अफगानिस्तान में ऐसा कभी नहीं हुआ।

अमेरिकी एयरक्राफ्ट से दोहा पहुंची थीं
काबुल में तालिबान का कब्जा होने के बाद अर्याना अमेरिकी C-17 ग्लोबमास्टर में सवार होकर कतर के दोहा पहुंची थीं। यहां से वे तुर्की के इस्तांबुल जाने की कोशिश कर रही हैं। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट से अमेरिकी एयरक्राफ्ट की फोटो शेयर की थी। अर्याना ने अपनी पोस्ट में लिखा था कि ऊपर वाले की दुआ से वह काबुल से निकलने में कामयाब हो गई हैं।

खबरें और भी हैं...