• Hindi News
  • International
  • Afghanistan Tolo News Journalist Death; Ziar Khan Yaad Clarifies Over His Death Reports In Taliban In Kabul

अफगानी रिपोर्टर को देना पड़ा जिंदा होने का सबूत:तालिबानियों की पिटाई से मौत की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई; ट्वीट कर सफाई देनी पड़ी

काबुलएक वर्ष पहले
तस्वीर टोलो न्यूज के पत्रकार जियार खान की है। सोशल मीडिया पर इनकी मौत की खबर वायरल होने के बाद इन्होंने सफाई दी।

अफगानिस्तान के सबसे बड़े मीडिया हाउस टोलो न्यूज के रिपोर्टर जियार खान की मौत की खबर गुरुवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। कई मीडिया हाउस ने भी इस खबर को कवर किया और लोगों ने जियार की मौत पर दुख जताना शुरू कर दिया, लेकिन करीब 30 मिनट बाद पता चला कि जिस रिपोर्टर की मौत का दावा किया जा रहा था, वह जिंदा है। जियार ने ट्वीट कर बताया कि वह घायल जरूर हैं, लेकिन उनकी मौत नहीं हुई है।

सोशल मीडिया पर जब जियार की मौत की खबर वायरल होने लगी तो उन्होंने यह ट्वीट किया।
सोशल मीडिया पर जब जियार की मौत की खबर वायरल होने लगी तो उन्होंने यह ट्वीट किया।

क्यों वायरल हुई मौत की खबर?
टोलो न्यूज के पत्रकार जियार खान अफगानिस्तान के हालातों को बारीकी से कवर कर रहे हैं। बुधवार को वह साथी कैमरामेन के साथ काबुल में गरीबी और लोगों की हालत पर कवरेज कर रहे थे। अचानक तालिबान के कुछ लड़ाके एक लैंड क्रूजर पर सवार होकर वहां पहुंचे और उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। हथियारबंद तालिबानियों ने उनका कैमरा तोड़ दिया, फोन छीन लिया और बुरी तरह पीटा। इस घटना में वे बुरी तरह घायल हो गए।

अफगानिस्तान में तालिबानी कब्जे के बाद कैसे हैं हालात, पढ़ने के लिए क्लिक करें

गूगल ट्रांसलेटर की गलती भारी पड़ी

टोलो न्यूज की इस पोस्ट के बाद ही सोशल मीडिया पर जियार की मौत होने का दावा किया जाने लगा।
टोलो न्यूज की इस पोस्ट के बाद ही सोशल मीडिया पर जियार की मौत होने का दावा किया जाने लगा।

टोलो न्यूज ने अपनी न्यूज वेबसाइट पर गुरुवार को 10.45 बजे पश्तो भाषा में न्यूज पब्लिश की। उन्होंने इसे सोशल मीडिया पर शेयर किया। पश्तो में उन्होंने हेडिंग में लिखा कि टोलो न्यूज के रिपोर्टर के साथ तालिबान ने काबुल में मारपीट की। गूगल ट्रांसलेटर के जरिए इसकी हेडिंग को अंग्रेजी में बदलने पर इसका मतलब अलग हो गया। ट्रांसलेशन के बाद बताया गया कि तालिबान ने टोलो न्यूज के रिपोर्टर की काबुल में हत्या कर दी है। इस पोस्ट के बाद ही सोशल मीडिया पर जियार की हत्या की खबर तेजी से वायरल होने लगी।

अफगानिस्तान में पानी की बोतल की कीमत 3 हजार रुपए

अफगानिस्तान से बाहर आने के लिए काबुल एयरपोर्ट पर जमा हो रहे लोगों के लिए हालात बदतर होते जा रहे हैं। खौफ तो है ही और खाने-पीने के सामानों के दाम भी बेतहाशा बढ़ रहे हैं। आलम ये है कि पानी की बोतल 40 डॉलर, यानी करीब 3 हजार रुपए और एक प्लेट चावल के लिए 100 डॉलर, यानी करीब साढ़े सात हजार रुपए चुकाने पड़ रहे हैं और भुगतान भी केवल डॉलर में ही लिया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...