अमेरिका / अल्बामा में बच्चों का यौन शोषण करने वाले नपुंसक बनाए जाएंगे, ऐसा करने वाला पहला राज्य बना

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2019, 10:55 AM IST


प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • गवर्नर ने बाल यौन शोषण के खिलाफ नए विधेयक पर दस्तखत किए 
  • गवर्नर बोलीं- ऐसी सजा देने से ही अपराधियों के मन में डर पैदा होगा

अल्बामा. अमेरिका के अल्बामा राज्य में बच्चों का यौन शोषण करने वाले व्यक्ति को नपुंसक बनाया जाएगा। सोमवार को अल्बामा की गवर्नर काय इवे ने 'केमिकल कैस्ट्रेशन' विधेयक पर दस्तखत कर दिए हैं। विधेयक में अल्बामा में 13 साल से कम उम्र के बच्चों के खिलाफ यौन अपराध के दोषियों को नपुंसक बनाने का प्रावधान है। अल्बामा इस तरह का कानून लागू करने वाला अमेरिका का पहला राज्य बन गया है।

इंजेक्शन का खर्च भी आरोपी वहन करेगा

  1. जज तय करेंगे कि आरोपी को कब तक और कितनी मात्रा में दवा दी जाएगी। इसका खर्च भी आरोपी वहन करेगा। यह विधेयक रिपब्लिकन प्रतिनिधि स्टीव हर्स्ट द्वारा प्रस्तुत किया गया। इसे अल्बामा के दोनों सदनों में पारित किया गया।

  2. गवर्नर काय इवे का कहना है कि जघन्य अपराधों के लिए जघन्य सजा ही होनी चाहिए, तभी अपराधियों के मन में डर पैदा होगा। अभी अपराधियों के मन में कोई डर नहीं है, इसलिए इस तरह के अपराध लगातार बढ़ रहे हैं।

  3. नए कानून में दोषी को हिरासत से रिहा करने से पहले या फिर पैरोल देने से एक महीने पहले दवा का इंजेक्शन लगाया जाएगा। इससे शरीर में टेस्टोस्टेरोन पैदा नहीं होगा। दोषी के शरीर में कुछ और हार्मोन भी डाले जाएंगे।

  4. कुछ कानूनी समूहों ने चिंता जताई

    उधर, कई राज्यों ने कैदियों पर रासायनिक दवा का इस्तेमाल करने पर चिंता जताई है। राज्यों के मुताबिक यह स्पष्ट नहीं है कि दवा का कितनी बार उपयोग होगा, कुछ कानूनी समूहों ने जबरन दवा के इस्तेमाल को लेकर चिंता भी जताई है।

  5. बाल यौन शोषण केस में नपुंसक बनाने की सजा दक्षिण कोरिया में 2011 और इंडोनेशिया में 2016 से दी जाती है। तब इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने कहा था कि हम बाल यौन हिंसा के मुद्दे पर कोई समझौता नहीं कर सकते।

COMMENT