• Hindi News
  • International
  • Along With The Troller, The Company Is Also Responsible For Online Trolling, It Is Mandatory To Remove The Post, The Identity Of The Culprits Will Have To Be Told.

डिजिटल सुरक्षा कानून का ड्राफ्ट बना:ऑनलाइन ट्रोलिंग पर ट्रोलर के साथ कंपनी भी जिम्मेदार, पोस्ट हटाना अनिवार्य, बतानी होगी दोषियों की पहचान

सिडनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोशल मीडिया कंपनियों की जवाबदेही बढ़ेगी। - Dainik Bhaskar
सोशल मीडिया कंपनियों की जवाबदेही बढ़ेगी।

सोशल मीडिया पर ऑनलाइन ट्रोलिंग पर प्रभावी अंकुश के लिए ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने नए कानून का मसौदा तैयार किया है। इसके तहत सोशल मीडिया कंपनियों को ट्रोल करने के संदिग्ध अथवा दोषी ट्रोलर की पहचान बताना अनिवार्य होगा। सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग अथवा आपत्तिजनक पोस्ट होने पर यूजर्स के साथ साथ कंपनी को भी जिम्मेदार बनाया जाएगा।

सोशल मीडिया कंपनियों को आपत्तिजनक पोस्ट हटानी भी होगी। ऑस्ट्रेलिया सरकार का कहना है कि जब रीयल वर्ल्ड में कानूनों का अस्तित्व है तो डिजिटल दुनिया में भी इनका कानूनों का पालन हर हाल में होना चाहिए। ऑनलाइन डिजिटल दुनिया में अराजकता को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। ऑस्ट्रेलिया में पिछले कुछ समय के दौरान कई यूजर्स को ट्रोलिंग के कारण मानसिक अवसाद झेलना पड़ा।

अब नए कानून के अनुसार सोशल मीडिया कंपनियों को ऐसी व्यवस्था करनी होगी, जिससे कि यूजर्स अपनी शिकायतों को दर्ज करा सकेंगे। यदि शिकायत के बाद भी सोशल मीडिया कंपनियां कार्रवाई को अंजाम नहीं देती हैं, तो नए कानून के अनुसार कोर्ट में मानहानि का मुकदमा भी दर्ज कराया जा सकता है। अब ऑस्ट्रेलिया में नए सोशल मीडिया यूजर्स के साथ-साथ पुराने यूजर्स पर नए कानून लागू होंगे। प्रधानमत्री स्कॉट मॉरिसन का कहना है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर कोई सीमा न लांघे।

ट्रोलर का नाम, पता और ईमेल एड्रेस बताना जरूरी होगा

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के अनुसार देखने में आया है कि सोशल मीडिया कंपनियां अकसर निजता के नाम पर ट्रोलिंग के दोषियों की पहचान नहीं बताती है। लेकिन नए कानून के अनुसार अब कंपनियों को संदिग्ध अथवा दोषी का नाम, पता और यहां तक कि ईमेल एड्रेस भी बताना होगा।