--Advertisement--

वैल्यू / अमेजन पहली बार दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बनी, 56 लाख करोड़ रुपए हुआ मार्केट कैप

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2019, 07:45 PM IST


amazon: Worlds most valuable public company surpassing microsoft
अमेजन के फाउंडर और सीईओ जेफ बेजोस दुनिया के सबसे बड़े अमीर हैं। अमेजन के फाउंडर और सीईओ जेफ बेजोस दुनिया के सबसे बड़े अमीर हैं।
X
amazon: Worlds most valuable public company surpassing microsoft
अमेजन के फाउंडर और सीईओ जेफ बेजोस दुनिया के सबसे बड़े अमीर हैं।अमेजन के फाउंडर और सीईओ जेफ बेजोस दुनिया के सबसे बड़े अमीर हैं।

  • अमेजन के शेयर में सोमवार को 3.4% तेजी आई, इसका मार्केट कैप माइक्रोसॉफ्ट से ज्यादा हुआ
  • माइक्रोसॉफ्ट का वैल्यूएशन 55 लाख करोड़ रु, इसने पिछले महीने एपल को पीछे छोड़ा था
  • 7 साल नंबर-1 रहने के बाद एपल पिछले महीने माइक्रोसॉफ्ट से पिछड़ी थी, अब चौथे नंबर पर

वॉशिंगटन. माइक्रोसॉफ्ट को पीछे छोड़ अमेजन पहली बार दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली कंपनी बन गई। सोमवार को अमेरिकी शेयर बाजार बंद होने पर अमेजन का मार्केट कैप 56 लाख करोड़ रुपए (796.8 अरब डॉलर) रहा। जबकि, माइक्रोसॉफ्ट का वैल्यूएशन 54.81 लाख करोड़ रुपए (783.4 अरब डॉलर) रहा। तीसरे नंबर पर अल्फाबेट और चौथे पर एपल है।

1 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच चुकी है अमेजन

  1. पिछले साल सितंबर में अमेजन का मार्केट कैप 70 लाख करोड़ रुपए (1 ट्रिलियन डॉलर) पहुंच गया था। लेकिन, शेयर में गिरावट की वजह से नीचे आ गया। अमेजन के लिए नए साल की शुरुआत अच्छी रही है। इसका शेयर सोमवार को 3.4% बढ़त के साथ बंद हुआ। पिछले हफ्ते शेयर में 8.5% तेजी आई थी।

  2. अमेजन का शेयर प्राइस 21 साल में 90 गुना हुआ

    15 मई 1997 को 18 डॉलर पर अमेजन के शेयर की लिस्टिंग हुई। फिलहाल यह 1,629.51 डॉलर है। आईपीओ में 1000 डॉलर के निवेश की वैल्यू अब 8 लाख 96 हजार डॉलर से भी ज्यादा हो गई है।

  3. जेफ बेजोस दुनिया में सबसे अमीर

    अमेजन के फाउंडर और सीईओ लंबे समय से दुनिया के अमीरों की लिस्ट में टॉप पर बने हुए हैं। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स में 9.45 लाख करोड़ रुपए (135 अरब डॉलर) नेटवर्थ के साथ बेजोस नंबर-1 हैं। बिलेनियर इंडेक्स में 6.44 लाख करोड़ रुपए (92 अरब डॉलर) की नेटवर्थ के साथ बिल गेट्स दूसरे नंबर पर हैं।

  4. आईफोन की बिक्री घटने से एपल पिछड़ी

    लगातार 7 साल दुनिया की सबसे वैल्यूएबल कंपनी रहने के बाद एपल पिछले साल दिसंबर में माइक्रोसॉफ्ट से पिछड़ गई थी। फिलहाल 49.07 लाख करोड़ रुपए (701.1 अरब डॉलर) के मार्केट कैप के साथ एपल चौथे नंबर पर है। 

  5. जुलाई-सितंबर तिमाही के नतीजे विश्लेषकों के अनुमान के मुताबिक नहीं रहने और आईफोन की बिक्री घटने की वजह से एपल को नुकसान हुआ। एपल ने पिछले बुधवार को दिसंबर तिमाही के रेवेन्यू गाइडेंस में 5.5% कमी की थी। इस वजह से शेयर में गुरुवार को 10% गिरावट आ गई थी और मार्केट कैप 5 लाख करोड़ रुपए कम हो गया था।

Astrology
Click to listen..