अमेरिका में फिर फायरिंग, 3 मजदूरों की मौत:मैरीलैंड की फैक्ट्री में 2 लोगों ने दागीं गोलियां, एक गिरफ्तार; गन कल्चर पर भड़के लोग

वाशिंगटन8 महीने पहले

अमेरिका के मैरीलैंड में दो लोगों ने एक मशीन फैक्ट्री में घुसकर फायरिंग कर दी। हमले में दो मजदूरों की मौत हो गई। 4 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। पुलिस ने बताया कि एक आरोपी को पकड़ा गया है। हालांकि, सोशल मीडिया पर यूजर्स दोनों हमलावरों की गिरफ्तारी की बात कह रहे हैं। घटना के बाद खुफिया एजेंसी फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (FBI) ने पूरे इलाके को घेर लिया है।

कोलंबिया मशीन की इसी फैक्ट्री में फायरिंग की घटना हुई है।
कोलंबिया मशीन की इसी फैक्ट्री में फायरिंग की घटना हुई है।

वॉशिंगटन के एक ऑफिसर ने बताया- मैरीलैंड के मेपलविले और माउंट एडना रोड पर अपराधियों ने एक साथ गोलीबारी की, जिसके बाद जवाबी फायरिंग भी की गई। इसमें एक अपराधी गंभीर रूप से घायल है, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हमारे एक जवान के कंधे पर भी गोली लगी है।

FBI और अमेरिकी पुलिस ने पूरे इलाके को घेर लिया है। आस-पास के सभी हाईवे को बंद कर दिया गया है।
FBI और अमेरिकी पुलिस ने पूरे इलाके को घेर लिया है। आस-पास के सभी हाईवे को बंद कर दिया गया है।

खबर में आगे बढ़ने से पहले पोल में भाग लेकर अपनी राय दे सकते हैं...

इलाके की घेराबंदी, हाईवे को किया बंद
ओपन फायरिंग के बाद पुलिस ने इलाके की घेराबंदी कर दी है। वहीं मैरीलैंड से गुजरने वाली सभी हाईवे को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है। पुलिस को शक है कि आरोपी हत्यारे के साथ कुछ और लोग इस साजिश में शामिल हो सकते हैं।

टेक्सास स्कूल में फायरिंग, 19 बच्चे की हो गई थी मौत
24 मई 2022 को टेक्सास प्रांत के एक स्कूल में फायरिंग की घटना हुई थी, जिसमें 19 बच्चों की मौत हो गई थी। हत्यारा उसी स्कूल में पढ़ाई कर रहा था। गोलीबारी के दौरान ही हत्यारे को पुलिस ने मार गिराया था। इस घटना के बाद राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा था कि सख्त कार्रवाई होगी।

टेक्सास स्कूल में शूटर ने दूसरी, तीसरी और चौथी क्लास में पढ़ने वाले मासूम बच्चों को अपनी गोली का निशाना बनाया था।
टेक्सास स्कूल में शूटर ने दूसरी, तीसरी और चौथी क्लास में पढ़ने वाले मासूम बच्चों को अपनी गोली का निशाना बनाया था।

2022 में अब तक 245 की मौत, 255 घटनाएं
न्यूयॉर्क असेंबली के मेंबर लिंडा बी ने ट्वीट कर कहा कि 2022 में अब तक 160 दिन हुए हैं, लेकिन गोलीबारी से 245 लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका में लगातार हो रहे ओपन फायरिंग के बाद गन कल्चर को लेकर सवाल उठने लगे हैं। बराक ओबामा से लेकर राष्ट्रपति जो बाइडेन तक गन कल्चर पर बैन लगाने के हिमायती हैं।

गन कल्चर को लेकर सोशल मीडिया पर उठा सवाल
फायरिंग के बाद सोशल मीडिया पर एक बार फिर गन कल्चर को लेकर सवाल उठने लगा है। मैरीलैंड से डेमोक्रेटिक कैंडिडेट रही लादरेता रॉबिन्सन ने लिखा- मेरा दिल आज टूट गया है। हम अमेरिका में इसे न्यू नॉर्मल नहीं मान सकते हैं। हम लोगों को इस तरह जीने के लिए नहीं छोड़ सकते हैं। कैलोफोर्निया के डेलिगेटेड डेव मेरिस ने लिखा- जो लोग गन लॉबी का सपोर्ट कर सत्ता में आए थे, वो अब खुश होंगे।

अमेरिका में 230 साल पुराना है गन कल्चर का इतिहास
अमेरिका में गन कल्चर का इतिहास करीब 230 साल पुराना है। 1791 में संविधान के दूसरे संशोधन के तहत अमेरिका नागरिकों को हथियार रखने और खरीदने का अधिकार दिया गया। अमेरिका में इस कल्चर की शुरुआत तब हुई थी, जब वहां अंग्रेजों का शासन था। उस समय वहां स्थायी सिक्योरिटी फोर्स नहीं थी, इसीलिए लोगों को अपनी और परिवार की सुरक्षा के लिए हथियार रखने का अधिकार दिया गया, लेकिन अमेरिका का ये कानून आज भी जारी है।