• Hindi News
  • International
  • An Upgraded Version Of ISIL K Al Qaeda, The Terrorist Organization That Attacked Kabul; He Is Also Taking Taliban Commanders With Him.

आईएस-खुरासान:काबुल पर हमला करने वाला आतंकी संगठन ISIL-K अलकायदा का अपग्रेड वर्जन; वह तालिबान के कमांडरों को भी अपने साथ ले रहा

3 महीने पहलेलेखक: बेन हबॉर्ड, एरिक श्मिट, मैथ्यू रोसेनबर्ग  
  • कॉपी लिंक

तालिबान का कब्जा इस बात का पुख्ता आश्वासन देता है कि वह अफगानिस्तान के सभी आतंकवादियों का मसीहा है। इसके विपरीत, आईएस-खुरासान (आइसिल) खुद को तालिबान के प्रतिद्वंद्वी के तौर पर पेश कर रहा है। उसने इस साल नागरिकों, अधिकारियों और तालिबान के खिलाफ दर्जनों हमलों को अंजाम दिया है।

UN की रिपोर्ट बताती है कि जब हाल के महीनों में अमेरिकी सेना वापसी कर रही थी, उस वक्त मध्य एशिया, रूस के उत्तरी काकेशस, चीन के पश्चिमी क्षेत्र से अफगानिस्तान में 8-10 हजार जिहादियों ने घुसपैठ की थी। इनमें अधिकांश आतंकी तालिबान से, बाकी ISIS-K से जुड़े थे। यह नेटवर्क क्षेत्र की स्थिरता और सुरक्षा के लिए बड़ी चुनौती है। आतंकवाद विशेषज्ञों को संदेह है कि ये आतंकी पश्चिम के खिलाफ बड़े हमले करने की क्षमता रखते हैं। छह साल पहले पाकिस्तानी तालिबान ने आईएसआईएस-के को पैदा किया।

तालिबान विरोधी है यह गुट
2016 में जब अमेरिकी हवाई हमले और अफगान कमांडो का ऑपरेशन चरम पर था, तब इन आतंकियों की संख्या 2000 तक रह गई थी। लेकिन जून 2020 में इस गुट का नेतृत्व कमांडर शाहब के हाथ में आया। तब से वो तालिबान संगठन को मजबूत कर रहा है। यह गुट तालिबान का विरोधी रहा है। दोनों गुटों ने पूर्वी अफगानिस्तान में कई लड़ाई लड़ी है। कुछ विश्लेषकों का मानना है कि इस गुट ने तालिबान के कमांडरों को भी अपने साथ जोड़ा है।

अल-कायदा से भी दो कदम आगे
इस गुट के बारे में न्यूलाइंस मैगजीन के एडिटर इन चीफ हसन हसन कहते हैं कि अल कायदा के लिए, यह डोमिनोज की फ्रेंचाइजी खोलने जैसा है और यह वैसे ही जैसे आप किसी को गुणवत्ता नियंत्रण के लिए भेजते हैं। दूसरी ओर, इस्लामिक स्टेट इसे एक कदम आगे ले जाएगा और मूल संगठन से एक प्रबंधक नियुक्त करेगा।’

खबरें और भी हैं...