--Advertisement--

नेपाल / माउंट गुरजा में हिमस्खलन, 4 शेरपा और 5 दक्षिण कोरियाई पर्वतारोहियों की मौत



तूफान के बाद शुक्रवार शाम को हिमस्खल की वजह से पर्वतारोहियों का बेस कैम्प बर्फ में दब गया।   - सिंबॉलिक तूफान के बाद शुक्रवार शाम को हिमस्खल की वजह से पर्वतारोहियों का बेस कैम्प बर्फ में दब गया। - सिंबॉलिक
X
तूफान के बाद शुक्रवार शाम को हिमस्खल की वजह से पर्वतारोहियों का बेस कैम्प बर्फ में दब गया।   - सिंबॉलिकतूफान के बाद शुक्रवार शाम को हिमस्खल की वजह से पर्वतारोहियों का बेस कैम्प बर्फ में दब गया। - सिंबॉलिक
  • पर्वतारोहियों ने 7 अक्टूबर को चढ़ाई शुरू की थी
  • खराब मौसम की वजह से उन्हें आधे रास्ते पर ही सफर रोकना पड़ा था

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 05:11 PM IST

काठमांडू. नेपाल के माउंट गुरजा पर हिमस्खलन की चपेट में आकर नौ लोगों की मौत हो गई। इनमें दक्षिण कोरिया के पांच पर्वतारोही और चार नेपाली गाइड शामिल हैं। यह हादसा शुक्रवार को हुआ। इस दल ने 7 अक्टूबर को चढ़ाई शुरू की थी। 


3500 मीटर की ऊंचाई पर हुआ हादसा : जिस पर्वत पर यह हादसा हुआ वो नेपाल के हिम्सखलन अन्नपूर्णा क्षेत्र में है। ट्रेकिंग कैम्प के प्रबंध निदेशक वांगचु शेरपा ने बताया कि खराब मौसम की वजह से पर्वतारोहियों का यह दल 3500 मीटर की ऊंचाई पर कैम्प में रुका था। बर्फीले तूफान के बाद हुए हिमस्खलन से यह कैम्प तबाह हो गया। उन्हें माउंट गुरजा की चोटी पर पहुंचने के लिए करीब 3700 मीटर की चढ़ाई और करनी थी। शवों को लाने के लिए  शनिवार सुबह एक रेस्क्यू हेलिकॉप्टर मौके पर रवाना किया गया।

 

पर्वतारोहण में माहिर थे टीम के लीडर : जानकारी के मुताबिक, दल के लीडर किम चांग-हो दक्षिण कोरिया के पहले पर्वतारोही थे जिन्होंने बिना अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलेंडर के 8000 मीटर से ऊंची 14 चोटियां पार की थीं।

--Advertisement--
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..