पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मौलाना की हर शर्त मानने तैयार इमरान; कहा- बस, प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा नहीं दूंगा

9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इमरान खान ने इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है। (फाइल)
  • इमरान ने आजादी मार्च के नेता मौलाना फजल-उर-रहमान के पास मंत्रियों की एक टीम भेजी
  • रिपोर्ट्स में इमरान के हवाले से कहा गया- विपक्ष की हर जायज मांग मानने को तैयार, बस इस्तीफा नहीं दूंगा

इस्लामाबाद. पाकिस्तान में सियासत नई करवट लेती दिख रही है। मौलाना फजल-उर-रहमान के आजादी मार्च के सामने इमरान सरकार झुकती नजर आ रही है। मौलाना प्रधानमंत्री इमरान खान के इस्तीफे पर अड़े हैं। लेकिन, इमरान ने मंगलवार को कहा- मैं विपक्ष की हर जायज मांग मानने को तैयार हूं, लेकिन प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा नहीं दूंगा। मौलाना ने 27 अक्टूबर को आजादी मार्च शुरू किया था। तीन दिन से उनके समर्थक राजधानी इस्लामाबाद में डटे हुए हैं। मौलाना ने साफ कर दिया है कि इमरान को इस्तीफा देना ही होगा। 
 

रहमान से मिले इमरान के मंत्री 
मौलाना को आजादी मार्च खत्म करने के लिए मनाने की तमाम कोशिशें की जा रही हैं। हालांकि, इमरान के इस्तीफे के पहले इसका खत्म होना इसलिए मुश्किल लग रहा है क्योंकि मौलाना फौज की अपील पर भी पीछे हटने को तैयार नहीं थे। मंगलवार दोपहर रक्षा मंत्री परवेज खटक के नेतृत्व में मंत्रियों की टीम आजादी मार्च का संचालन करने वाली रहबर समिति से मिली। इसके पहले इमरान ने ‘द ट्रिब्यून’ से कहा- मैं विपक्ष की हर बाजिब मांग मानने तैयार हूं। लेकिन, इस्तीफा नहीं दूंगा। 
 

इमरान ने देश को धोखा दिया
सोमवार रात मौलाना ने आजादी मार्च को संबोधित किया। कहा, “इमरान खान ने कुछ लोगों को साथ लेकर 2018 का जनमत चुरा लिया था। वो कभी इलेक्टेड पीएम नहीं थे। वो सिर्फ सिलेक्टेड हैं और अब हम कहते हैं कि इमरान खान आप अब रिजेक्टेड हो गए हो। इसलिए, इस्तीफा दो और घर जाओ। मुल्क को आपकी हुक्मरानी मंजूर नहीं।” इमरान की दिक्कत इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि दोनों प्रमुख विपक्षी दल पीएमएल-एन और पीपीपी मौलाना को समर्थन दे रहे हैं। बिलावल भुट्टो और शहबाज शरीफ आजादी मार्च में शामिल लोगों को संबोधित कर रहे हैं। 
 

दो मांगें अहम
इमरान और फौज की पूरी कोशिश है कि मौलाना को आजादी मार्च वापस लेने के लिए तैयार किया जाए। लेकिन, अब तक तो 66 साल के मौलाना सरकार और सेना के सामने नहीं झुके हैं। उनकी दो प्रमुख मांगें हैं। और इन दोनों को मानना इमरान और बाजवा के लिए संभव नहीं हैं। पहली- इमरान खान की सरकार फौरन इस्तीफा दे। दूसरी- देश में नए चुनाव कराए जाएं और इनकी निगरानी फौज कतई न करे।  

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें