पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • International
  • Bezos, Musk And Buffett, Who Earn Billions Of Rupees, Pay The Lowest Income Tax, Some Year They Have Not Even Paid

दुनिया के टॉप अमीर टैक्स देने में पीछे:जेफ बेजोस, एलन मस्क और वॉरेन बफे की कुल नेटवर्थ 34 लाख करोड़, लेकिन टैक्स सबसे कम चुकाते हैं, किसी साल भरा ही नहीं

वॉशिंगटनएक महीने पहलेलेखक: एलन रैपेपोर्ट
  • कॉपी लिंक

दुनिया के टॉप अमीरों में शामिल अमेजन के CEO जेफ बेजोस, टेस्ला के एलन मस्क, ब्लूमबर्ग के माइकेल ब्लूमबर्ग और वर्कशायर हैथवे के वॉरेन बफे समेत अमेरिका के 25 बड़े रईस मामूली इनकम टैक्स देते हैं। न्यूज ऑर्गेनाइजेशन प्रोपब्लिका की रिपोर्ट बताती है कि किसी-किसी साल इन लोगों ने टैक्स ही नहीं दिया। इस रिपोर्ट के मुताबिक 2014-2018 के बीच अमेरिका के टॉप-25 अरबपतियों ने बहुत कम टैक्स दिया है।

अमेरिकी टैक्स एजेंसी इंटरनल रेवेन्यू सर्विस (IRS) के दस्तावेजों के मुताबिक इस 2014-2018 के दौरान इन रईसों की कमाई 29.26 लाख करोड़ रुपए रही, जबकि इन्होंने टैक्स के तौर पर सिर्फ 99 हजार करोड़ रुपए भरे। अमेजन CEO बेजोस की बात करें तो उन्होंने 2007 में टैक्स ही नहीं दिया, जबकि उस साल अमेजन के शेयरों की कीमत दोगुनी हुई थी।

इस अरबपति तिकड़ी की कुल नेटवर्थ 34 लाख करोड़, फिर भी टैक्स में आनाकानी
बेजोस के अलावा टेस्ला के मस्क ने 2018 में टैक्स नहीं दिया। 2014 से 2018 के बीच उनकी दौलत 1.08 लाख करोड़ रुपए बढ़ी, पर टैक्स 3 हजार करोड़ चुकाया। बर्कशायर हैथवे के CEO बफे ने 2014-2018 के दौरान 173 करोड़ रुपए ही टैक्स दिया। जबकि इस दौरान उनकी दौलत 1.77 लाख करोड़ रुपए बढ़ी। ब्लूमबर्ग इंडेक्स के मुताबिक इन तीनों की कुल नेटवर्थ करीब 34 लाख करोड़ रुपए है।

जेफ बेजोस13.86 लाख करोड़ रुपए
एलन मस्क12.18 लाख करोड़ रुपए
वॉरेन बफे7.95 लाख करोड़ रुपए
कुल34 लाख करोड़ रुपए

टैक्स नियमों की खामियों का फायदा उठाया
2011 में बेजोस की नेटवर्थ 86 हजार करोड़ थी, लेकिन उन्होंने नुकसान दिखाकर बच्चों के नाम दो लाख रुपए का टैक्स क्रेडिट लिया था। प्रोपब्लिका ने यह रिपोर्ट फोर्ब्स के आंकड़ों से बनाई है। इसमें कहा गया है कि इन अमीरों ने अमेरिका के टैक्स सिस्टम की खामियों का फायदा उठाया। इन्होंने दिखा दिया कि वे जो कमाते हैं, वह अमेरिका में टैक्स के दायरे में नहीं आता। इनकी कमाई कंपनियों के शेयर, वैकेशन होम्स, यॉट और दूसरे निवेश से होती है जो टैक्सेबल इनकम नहीं है।