• Hindi News
  • International
  • UK PM Boris Johnson Resignation LIVE Updates; UK Political Crisis Latest News | Boris Johnson Cabinet Minister

बोरिस जॉनसन ने पार्टी लीडर पद छोड़ा:अक्टूबर तक ब्रिटिश PM बने रहेंगे, 50 मंत्रियों-सांसदों के इस्तीफे के बाद लिया फैसला

लंदनएक महीने पहले

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने संसद में कंजर्वेटिव पार्टी के लीडर पद से इस्तीफा दे दिया है। हालांकि, अक्टूबर में नया नेता चुने जाने तक वो बतौर प्रधानमंत्री काम करते रहेंगे। इस इस्तीफे की सबसे बड़ी वजह 30 जून को डिप्टी चीफ व्हिप पोस्ट पर क्रिस पिंचर का अपॉइंटमेंट है। पिंचर सेक्स स्कैंडल में फंसे थे। इसके बाद ही ब्रिटिश कैबिनेट से इस्तीफों का सिलसिला शुरू हो गया।

इस्तीफे से पहले जॉनसन ने देश के नाम संबोधन में कहा- बहुत दुखी मन से कंजर्वेटिव पार्टी का नेता पद छोड़ रहा हूं। सांसद जब नया नेता चुन लेंगे तो प्रधानमंत्री पद से भी इस्तीफा दे दूंगा। हमारे सांसद चाहते हैं कि नया प्राइम मिनिस्टर होना चाहिए। मैं उनकी इच्छा का सम्मान करता हूं। अगले हफ्ते नया नेता चुनने का प्रोसेस शुरू होगा।

इसके बाद जॉनसन ने कैबिनेट की मीटिंग की। इसमें कहा- मैं किसी नई पॉलिसी पर काम नहीं करूंगा, कोई बड़ा फैसला भी नहीं लूंगा। फाइनेंशियल सेक्टर से जुड़े फैसले भी नया प्रधानमंत्री ही करेगा।

आगे क्या, इलेक्शन या कोई और रास्ता
रूल्स के हिसाब से 12 महीने तक जॉनसन के खिलाफ दूसरा नो-कॉन्फिडेंस मोशन नहीं लाया जा सकता, क्योंकि पिछले महीने जॉनसन ने कॉन्फिडेंस वोट जीता था। पार्टी के कुछ सांसद मांग करने लगे हैं कि 12 महीने के इस इम्युनिटी पीरिएड को कम या खत्म किया जाए। एक रास्ता यह भी है कि जॉनसन फ्रेश इलेक्शन की घोषणा कर दें। संभावना नहीं के बराबर है, क्योंकि संसद और जॉनसन की पार्टी ही नए चुनाव के फेवर में नहीं हैं। आगे क्या होगा, इस पर डिटेल रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें...

सबसे बड़े अपडेट्स

1. ब्रिटिश विदेश मंत्री लिज ट्रस जी-20 समिट से लौट रही हैं। मौजूदा घटनाक्रम पर जल्द स्टेटमेंट देंगी।
2. जेम्स क्लीवरली को नया शिक्षा मंत्री बनाया गया है। वो 2015 से सांसद हैं। 2019-2020 में कंजर्वेटिव पार्टी के अध्यक्ष थे।
3. कंजर्वेटिव पार्टी के सांसदों ने जॉनसन से यह आश्वासन मांगा है कि वो वास्तव में सिर्फ कार्यवाहक प्रधानमंत्री ही होंगे​।​​​​​​

सबसे अहम बयान
विपक्षी लेबर पार्टी के नेता कीर स्टारर ने कहा- बोरिस जॉनसन को बहुत पहले ही पद छोड़ देना चाहिए था। उनका कुर्सी छोड़ना देश के लिए अच्छी खबर है। ब्रिटेन को नई शुरुआत की जरूरत है। कंजर्वेटिव पार्टी ने 12 सालों में देश का बहुत नुकसान किया है।

पीएम पद के दावेदारों में वर्तमान वित्त मंत्री नदीम जाहवी और पूर्व विदेश मंत्री जेरेमी हंट भी दौड़ में हैं। माना जा रहा है कि पूर्व रक्षा मंत्री पैनी मॉरडॉट भी अपनी दावेदारी जता सकती हैं। पैनी जॉनसन के खिलाफ काफी समय से मुखर रही हैं। ब्रिटिश पीएम की रेस में कुल 6 नाम हैं। दावेदारों पर पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

क्या अक्टूबर तक PM रह पाएंगे बोरिस
ब्रिटेन में लिखित संविधान नहीं है, लेकिन सदियों से परंपराओं पर आधारित शासन प्रणाली है। ‘डेली मेल’ के मुताबिक, जॉनसन वही कर रहे हैं जो डेविड कैमरॉन और थेरेसा मे ने किया था। यानी जब तक संसदीय दल का नया नेता नहीं चुन लिया जाता, तब तक वो बतौर प्रधानमंत्री बने रहेंगे। इस प्रोसेस में हफ्ते या महीनों लग सकते हैं। यही वजह है कि जॉनसन अक्टूबर तक ब्रिटिश PM के ऑफिशियल रेसीडेंस 10 डाउनिंग स्ट्रीट में रहेंगे।

मान लीजिए अगर जॉनसन सीधे प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देते हैं तो उस स्थिति में सरकार में नंबर दो व्यक्ति (डोमिनिक रॉब) प्रधानमंत्री पद की जिम्मेदारी संभालता। हालांकि, वो केयरटेकर प्राइम मिनिस्टर ही रहते, क्योंकि आखिरी फैसला तो पार्टी का संसदीय दल ही करता। हो सकता है वो किसी और को प्रधानमंत्री चुने।

50 मंत्री-सांसद इस्तीफा दे चुके हैं
पिंचर की नियुक्ति और जॉनसन के काम करने के तरीके से नाराज 50 मंत्री और सांसद इस्तीफा दे चुके हैं। इन लोगों का कहना है कि ब्रिटिश पीएम सब जानते थे, इसके बावजूद अपॉइंटमेंट किया। सरकार के खिलाफ अविश्वास इस कदर बढ़ता जा रहा है कि 36 घंटे पहले ही मंत्री बनाए गए मिशेल डोनेलन ने भी इस्तीफा दे दिया।

लॉकडाउन में शराब पार्टी, यहीं से शुरू हुई जॉनसन के जाने की कहानी

यौन शोषण के आरोपी सांसद क्रिस पिंचर को डिप्टी चीफ व्हिप नियुक्त करने को लेकर भी काफी विवाद हुआ था। इस वजह से उनके खिलाफ गुस्सा बढ़ गया था। हालांकि, विवाद बढ़ता देख जॉनसन ने मंगलवार को माना कि पिंचर को सरकार में शामिल करने का उनका फैसला गलत था। इसके लिए उन्होंने माफी भी मांगी।

इसके अलावा लॉकडाउन में शराब पार्टी की तस्वीरें सामने आने और प्रिंस फिलिप की फ्यूनरल से पहले भी पार्टी करने के लिए जॉनसन की काफी फजीहत हुई। प्रिंस के फ्यूनरल से पहले पार्टी करने पर तो उन्होंने माफी भी मांगी थी। पढ़िए बोरिस जॉनसन ने माफी मांगते हुए क्या कहा था...

अगले PM माने जा रहे ऋषि सुनक की पत्नी अक्षता एक्टिव
नए PM की रेस में पूर्व वित्त मंत्री ऋषि सुनक और फॉरेन कॉमन वेल्थ एंड डेवलपमेंट अफेयर्स सेक्रेटरी लिज ट्रस आगे हैं। कोरोना राहत पैकेज के कारण सुनक खासे लोकप्रिय हैं। PM पद की दावेदारी में आगे चल रहे ऋषि सुनक के घर पर खासी गहमा-गहमी रही। ऋषि की पत्नी अक्षता मूर्ति भी एक्टिव हो गई हैं। अक्षता इंफोसिस के को-फाउंडर नारायण मूर्ति की बेटी हैं।

बुधवार को सुनक के घर पर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में अक्षता पत्रकारों के लिए खुद ट्रे में चाय लेकर आईं।
बुधवार को सुनक के घर पर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में अक्षता पत्रकारों के लिए खुद ट्रे में चाय लेकर आईं।

अक्षता क्वीन से भी ज्यादा अमीर हैं अक्षता, उनके बारे में पढ़ने के लिए क्लिक करें...

54% कंजर्वेटिव सपोर्टर ने कहा था- बोरिस इस्तीफा दें
बुधवार को YouGov के सर्वे में पहली बार सत्तारूढ़ कंजर्वेटिव ​​​​पार्टी के 54% समर्थकों ने कहा कि बोरिस को पद छोड़ना चाहिए। जून में हुए सर्वे में 34% ने ही बोरिस को पद छोड़ने को कहा था। सर्वे में शामिल रहे 70 फीसदी ब्रिटिश लोग बोरिस के इस्तीफे के पक्ष में हैं।