US में वैक्सीनेशन को लेकर सख्ती:ब्राजील के राष्ट्रपति बिना वैक्सीन सर्टिफिकेट के पहुंचे तो अमेरिकी रेस्टोरेंट ने एंट्री नहीं दी; फुटपाथ पर खाना पड़ा पिज्जा

एक महीने पहले

अमेरिका में वैक्सीनेशन को लेकर कितनी सख्ती है, इसका अंदाजा न्यूयॉर्क में हुई एक घटना से लगाया जा सकता है। यहां एक रेस्टोरेंट में ब्राजील के राष्ट्रपति जायेर बोल्सोनारो को सिर्फ इसलिए एंट्री नहीं दी गई, क्योंकि उनके पास वैक्सीन सर्टिफिकेट नहीं था। अब बोल्सोनारो की फुटपाथ पर पिज्जा खाते हुए फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

UNGA में भाग लेने न्यूयॉर्क पहुंचे हैं बोल्सोनारो
दुनियाभर से वैश्विक नेता संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में भाग लेने अमेरिका पहुंच रहे हैं। बोल्सोनारो भी इस वक्त अमेरिका में हैं। वे रविवार रात ब्राजील के कुछ अधिकारियों के साथ न्यूयॉर्क के एक रेस्टोरेंट में पहुंचे थे। यहां एंट्री से पहले सभी का कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट मांगा गया। ज्यादातर लोगों के पास सर्टिफिकेट नहीं था। इसके बाद उन्हें फुटपाथ पर खड़े होकर पिज्जा खाना पड़ा।

मंत्रियों ने सोशल मीडिया पर खुद पोस्ट की वीडियो
अमेरिका के होटल और रेस्टोरेंट में एंट्री के लिए कोरोना वैक्सीन का सर्टिफिकेट होना जरूरी है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक बोल्सोनारो ने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है। उनका मानना है कि उनकी इम्युनिटी कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए मजबूत है। बोल्सोनारो के प्रतिनिधिमंडल में शामिल दूसरे मंत्रियों ने न्यूयॉर्क के फुटपाथ में पिज्जा खाने की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की थी।

कोरोना वैक्सीन के बिना अमेरिका में नहीं मिलेगी एंट्री
अमेरिका ने दूसरे देशों से आने वाले यात्रियों के लिए नियमों में मंगलवार को बदलाव किया है। US ने नए इंटरनेशनल ट्रैवल सिस्टम की घोषणा की है। इसके तहत वैक्सीनेशन के दोनों डोज लगवा चुके ट्रैवलर्स को ही अमेरिका में एंट्री दी जाएगी। कोरोना संक्रमण के शुरुआती समय में अमेरिका ने विदेश से आने वाले यात्रियों के ट्रैवल पर बैन लगा दिया था।

अब जाकर US ने इससे राहत दी है। वाइट हाउस के सोमवार को इंटरनेशनल एयर सिस्टम का ऐलान किया है। उन्होंने बताया कि अब से अमेरिका आने वाले यात्रियों को वैक्सीन के दोनों डोज का सबूत देना जरूरी होगा।

खबरें और भी हैं...