एशियाई या भारतीय मूल के लोगों को नए प्रधानमंत्री जॉनसन की टीम में जगह मिलने की उम्मीद

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रीति पटेल की कैबिनेट में वापसी तय, मिल सकता है गृह सचिव का पद
  • जॉनसन के करीबी आलोक शर्मा को हाउसिंग की जिम्मेदारी मिल सकती है
  • माइकल गोव और जेरेमी हंट को भी नई जवाबदारी मिल सकती है

लंदन. बोरिस जॉनसन बुधवार को औपचारिक तौर पर ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बन गए। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने उन्हें प्रधानमंत्री नियुक्त किया। इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने बकिंघम पैलेस में महारानी को अपना इस्तीफा सौंपा। यूरोपियन यूनियन के साथ ब्रेग्जिट डील कराने में नाकाम रहने पर 7 जून को थेरेसा मे ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दिया था। 

 

जॉनसन ग्रेट ब्रिटेन और उत्तरी आयरलैंड के 55वें प्रधानमंत्री हैं। रिपोर्ट के अनुसार महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के कार्यकाल में ब्रिटेन के वे 14वें प्रधानमंत्री हैं। हालांकि जॉनसन को बकिंघम पैलेस जाने के दौरान कुछ लोगों के विरोध का सामना भी करना पड़ा। 

 

ब्रेग्जिट संभव होकर रहेगा: जॉनसन

ब्रिटेन का प्रधानमंत्री नियुक्‍त होने के बाद जॉनसन ने कहा- ब्रेग्जिट संभव होकर रहेगा। यह 31 अक्‍टूबर की निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत ही पूरा होगा। समय आ गया है। ब्रेग्जिट अब दूर नहीं। ब्रिटेन के लोगों को ब्रेग्जिट के बगैर भी तैयार रहने की जरूरत है।

 

जेरेमी हंट को हराकर जॉनसन बने प्रधानमंत्री

इससे पहले कंजर्वेटिव पार्टी ने बोरिस जॉनसन और जेरेमी हंट में से किसी एक को प्रधानमंत्री चुनने के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं से वोटिंग करवाई। इसमें जॉनसन को जीत मिली। परिणामों के बाद जॉनसन ने कहा था- आज अभियान समाप्त हुआ। अब काम शुरू।

 

पार्टी के हर टैलेंट को मौका मिलेगा- सूत्र

जॉनसन के करीबी सूत्र के मुताबिक, बोरिस अपनी कैबिनेट में पार्टी में मौजूद हर तरह के टैलेंट को मौका देंगे, जो आधुनिक ब्रिटेन को प्रदर्शित करे। प्रीति पटेल को दो साल पहले थेरेसा मे ने बर्खास्त कर दिया था। इस बार उनकी वापसी तय मानी जा रही है।

 

जॉनसन के पुराने सहयोगी भी शामिल होंगे 

सूत्रों के मुताबिक, पटेल को गृह मंत्री बनाया जा सकता है। हालांकि उनका नाम अंतरर्राष्ट्रीय व्यापार और पार्टी चैयरमेन के पद के लिए भी चल रहा है। जॉनसन के पुराने समय के सहयोगी आलोक शर्मा को भी कैबिनेट में जगह मिलेगी। उनके जिम्मे हाउसिंग की समस्या से संबंधित विभाग आएगा। गृह सचिव साजिद जाविद का नाम जॉनसन के चांसलर के तौर पर चल रहा है। 

 

अक्टूबर तक कोई डील नहीं

जॉनसन की योजना अक्टूबर अंत तक किसी भी तरह की डील नहीं करने की होगी। उनकी कोशिश अर्थव्यवस्था को बनाने की है। गेविन विलियमसन का नाम भी वापसी करने वाले नेताओं में शामिल है। गेविन को भी मे ने हुवाई लीक्स के आरोपों में बर्खास्त किया था।