• Hindi News
  • International
  • British University Research Do Not Praise Your Children Too Much, It Will Adversely Affect Their Development

ब्रिटिश यूनिवर्सिटी की स्टडी:अपने बच्चों की हद से ज्यादा तारीफ भी न करें, इससे उनके विकास पर उलटा असर होगा

लंदन8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
85% पैरेंट्स को इसके प्रतिकूल प्र‌भाव नहीं पता है। - Dainik Bhaskar
85% पैरेंट्स को इसके प्रतिकूल प्र‌भाव नहीं पता है।

अक्सर अभिभावक अपने बच्चों की तारीफों के पुल बांधते रहते हैं। अपने बच्चों की थोड़ी सी भी उपलब्धि को बच्चों के सामने ही इतना बढ़ा-चढ़ा कर पेश करते हैं कि जैसे उन्होंने बहुत बड़ा कारनामा कर दिया हो। लेकिन आप ऐसा करने से बचें। ये आपके ही बच्चों के लिए घातक साबित हो सकता है। बच्चों को भी बदगुमानी हो जाती है। वे मुश्किल हालात का सामना करने में विफल रहते हैं।

ब्रिटेन की एक्सटर यूनिवर्सिटी की ओर से हाल में किए एक शोध में इन तथ्यों का खुलासा हुआ है। शोध में 4500 अभिभावकों को शामिल किया गया। यूनिवर्सिटी के सोशल मोबिलिटी विभाग के एलियट मेजर के अनुसार सर्वे में शामिल अभिभावकों में से 85% को यह पता ही नहीं था कि उनके बच्चों की हद से ज्यादा तारीफ करने से उनके बच्चों के लर्निंग पर विपरीत असर पड़ रहा है।

तारीफ करने से क्षमता का विकास होगा, लेकिन...
मेजर के अनुसार, अभिभावक ये मानते हैं कि बच्चों को सकारात्मक बातें बोलने या उनकी तारीफ करने से उनमें क्षमता का विकास होगा, लेकिन उन पर इसका उलटा असर होता है। उन्होंने उदाहरण दिया कि किस प्रकार से 18 साल की ब्रिटिश टेनिस स्टार एमा राडुकानू के अभिभावकों ने उनकी कभी भी हद से ज्यादा तारीफ नहीं की और आज एमा दुनिया भर की बड़ी टेनिस स्टार हैं।

एमा ने जब हाल ही में टेनिस का यूएस ओपन खिताब जीता तो उन्होंने खुद बताया था कि कैसे उनके अभिभावकों ने कभी भी उनकी हद से ज्यादा तारीफ नहीं की और आगे बढ़ने को प्रेरित किया।