• Hindi News
  • International
  • California Scientists Claim – Eating Grapes Reduces Cholesterol; It Also Helps Prevent Heart Attack And Stroke

कैलिफोर्निया के वैज्ञानिकों का दावा:अंगूर खाने से कोलेस्ट्रॉल घटता है; यह हार्टअटैक और स्ट्रोक रोकने में भी करता है मदद

19 दिन पहलेलेखक: लॉस एंजेलिस
  • कॉपी लिंक
अंगूर में मौजूद पॉलीफिनॉल नामक एंटीऑक्सिडेंट रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ रखता है। - Dainik Bhaskar
अंगूर में मौजूद पॉलीफिनॉल नामक एंटीऑक्सिडेंट रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ रखता है।

यह बात सब जानते हैं कि फल खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। वैज्ञानिकों ने एक अध्ययन के आधार पर दावा किया है कि अंगूर खाने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है। यह हार्टअटैक और स्ट्रोक रोकने में भी मदद कर सकता है। दरअसल, कैलिफोर्निया के शोधकर्ताओं ने अध्ययन में शामिल प्रतिभागियों को चार हफ्ते तक रोज 46 ग्राम अंगूर का पाउडर दिया। उन्होंने पाया कि अंगूर खाने से आंत में बैक्टीरिया की विविधता में वृद्धि हुई।

ये बैक्टीरिया इंसान की मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) में मददगार होते हैं। इन लोगों में कोलेस्ट्रॉल स्तर भी काफी हुआ दिखा। कोलेस्ट्रॉल रक्त में फैट जैसा पदार्थ है जो ज्यादा होने पर धमनियों को अवरुद्ध कर सकता है। यह दिल की बीमारी की वजह बन सकता है। अंगूर खाने से पित्त में एसिड स्तर घटता है।

यह पाचन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अंगूर और सेब जैसे फलों में पॉलीफिनॉल नामक एंटीऑक्सिडेंट होता है, जो पौधों में प्राकृतिक रूप से मौजूद कार्बनिक यौगिक है। यह शरीर में रक्त प्रवाह बेहतर बनाने के लिए रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ और लचीला रखते हैं।

शुगर स्तर व ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करते हैं पॉलीफिनॉल
शोधार्थियों का कहना है कि पॉलीफिनॉल, ब्लड में शुगर स्तर कम करने और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं। ये क्रॉनिक इन्फ्लेमेशन कम करने में भी मददगार होते हैं। नई स्टडी का नेतृत्व लॉस एंजेलिस स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में मेडिसिन के प्रोफेसरा और न्यूट्रिशनिस्ट झाओपिंग ली ने किया। न्यूट्रिएंट्स जर्नल में प्रकाशित रिपोर्ट में ली कहते हैं, अंगूर का आंत के बैक्टीरिया पर लाभकारी प्रभाव पड़ता है। यह अच्छी खबर है। इस रिसर्च से अंगूर खाने के फायदे जो हम जानते हैं उसका दायरा बढ़ा है।

माइक्रोबायोटा का विश्लेषण किया
माइक्रोबायोटा नाम का बैक्टीरिया आंत में होता है। अध्ययन में विशेषज्ञों ने माइक्रोबायोटा का विश्लेषण किया। रिसर्च में शामिल 19 लोगों को पहले चार हफ्ते लो-पॉलीफिनॉल और लो-फाइबर डाइट दी गई। इसके बाद अगले चार हफ्ते उन्हें रोज 46 ग्राम अंगूर का पाउडर दिया गया। साथ में लो-पॉलीफेनोल और लो-फाइबर डाइट जारी रखी गई। इसके बाद जांच के आधार पर यह रिपोर्ट तैयार की गई।
​​​​​

खबरें और भी हैं...