पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चाड के प्रेसिडेंट मारे गए:सैनिकों से मिलने फ्रंट पोस्ट पर गए थे इदरिस डेबी, आतंकवादियों के हमले का शिकार बन गए

लंदन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इदरिस डेबी 30 साल से मध्य अफ्रीकी देश चाड के राष्ट्रपति थे। 11 अप्रैल को आए चुनाव नतीजों में भी उन्हीं की जीत हुई थी। (फाइल) - Dainik Bhaskar
इदरिस डेबी 30 साल से मध्य अफ्रीकी देश चाड के राष्ट्रपति थे। 11 अप्रैल को आए चुनाव नतीजों में भी उन्हीं की जीत हुई थी। (फाइल)

मध्य अफ्रीकी देश चाड के राष्ट्रपति इदरिस डेबी की आतंकी हमले में मौत हो गई। उनकी मौत के बारे में फिलहाल, विस्तार से जानकारी नहीं मिल पाई है, क्योंकि जहां वे मौजूद थे, वो दूर-दराज का रेगिस्तानी इलाका है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डेबी विद्रोही और आतंकी गुटों के खिलाफ जंग लड़ रहे सैनिकों से मिलने फ्रंटलाइन पोस्ट (अग्रिम मोर्चे) पर गए थे। यहां संभवत: आतंकियों की गोली का शिकार बन गए।

30 साल से राष्ट्रपति थे डेबी
डेबी 1990 में पहली बार इस सेंट्रल अफ्रीकी देश के राष्ट्रपति बने थे। 11 अप्रैल को इस देश में फिर राष्ट्रपति चुनाव हुए थे। इसमें भी डेबी की पार्टी जीती थी और वो 6 साल के लिए फिर राष्ट्रपति बने थे। 68 साल के डेबी देश और अफ्रीकी महाद्वीप में काफी लोकप्रिय थे। उन्होंने इस रेगिस्तानी देश को विकास के रास्ते पर चलाने में अहम भूमिका निभाई।

विद्रोही और आतंकी गुटों की हरकत
डेबी का उनके ही देश में कुछ विद्रोही संगठन विरोध करते थे। इनमें से कुछ का संबंध आतंकी गुटों से भी था। इदरिस अकसर मोर्चे पर तैनात सैनिकों से मिलने जाते थे। चुनाव जीतने के बाद भी वे यहां पहुंचे। यहीं एक हमले में उनकी मौत हुई। मंगलवार को नेशनल टीवी पर इसकी जानकारी दी गई। सैन्य प्रवक्ता जनरल एजम बर्मेनदोआ ने कहा- राष्ट्रपति ने इस हफ्ते के आखिर में मोर्चे पर अंतिम सांस ली।

कुछ सवालों के जवाब बाकी
चाड का ज्यादातर हिस्सा रेगिस्तानी है। यहां कम्युनिकेशन और ट्रांसपोर्ट के साधन भी बहुत सीमित हैं। डेबी खुद एक सैनिक रहे थे और अकसर मोर्चे पर खुद जाया करते थे। अब तक यह साफ नहीं हो पाया है कि उनकी मौत लड़ाई के दौरान हुई या फिर अचानक गोलीबारी का शिकार बन गए। देश के पूर्वी हिस्से में विद्रोही मजबूत माने जाते हैं।

खबरें और भी हैं...