• Hindi News
  • International
  • The Lockdown In The Financial Capital Of China Increased The Concern, The Impact On The Global Supply Chain

शंघाई बंदरगाह पर फंसे हजारों जहाज:चीन की आर्थिक राजधानी में लगे लॉकडाउन ने बढ़ाई चिंता, ग्लोबल सप्लाई चेन पर हो रहा असर

बीजिंग5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चीन की आर्थिक राजधानी शंघाई में कोरोना ने एक बार फिर पैर पसार लिए हैं। ऐसे में पूरी दुनिया में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। जिसे देखते हुए शंघाई में पिछले एक महीने से लॉकडाउन लगा हुआ है। जहां सड़कों से ट्रैफिक नदारद है, वहीं दूसरी तरफ पूर्वी चीन सागर में ट्रैफिक जाम लगा हुआ है।

ग्रीन और रेड डॉट्स शंघाई के तट पर मालवाहक जहाजों और टैंकरों की भारी संख्या को दिखा रहे हैं। यह तस्वीर मरीन ट्रैफिक वेबसाइट ने ली है।
ग्रीन और रेड डॉट्स शंघाई के तट पर मालवाहक जहाजों और टैंकरों की भारी संख्या को दिखा रहे हैं। यह तस्वीर मरीन ट्रैफिक वेबसाइट ने ली है।

शंघाई पोर्ट पर हर तरफ खड़े दिख रहे जहाज
लॉकडाउन के चलते पूरे शंघाई में आर्थिक गतिविधियां पूरी तरह से बंद हो गई हैं। इसका सबसे बुरा असर शंघाई बंदरगाह पर देखने को मिल रहा है। यहां बड़ी संख्या में मालवाहक जहाज खड़े होने के कारण ट्रैफिक जाम लग गया है। बंदरगाह से कई किलोमीटर दूर समुद्र में भी जहाज खड़े नजर आ रहे हैं। माल उतारने और चढ़ाने की इजाजत न होने के कारण जहाज के क्रू भी समुद्र में फंसे हुए हैं। कई जहाजों पर तो खाने-पीने और दैनिक जरूरतों की चीजों की भी कमी होने लगी है।

तस्वीरों में दिख रहा ट्रैफिक
सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही तस्वीरों में शंघाई बंदरगाह पर जहाजों की उपस्थिति को दिखाया जा रहा है। यह तस्वीर मरीन ट्रैफिक वेबसाइट ने ली है। यह वेबसाइट समुद्र में जहाजों की लाइव लोकेशन को ट्रैक करती है। लॉकडाउन के नियमों में ढील नहीं मिलने के चलते पूरा बंदरगाह मालवाहक जहाजों की बढ़ती संख्या से भर गया है। अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि इन जहाजों को बंदरगाह पर आने या बंदरगाह पर खड़े जहाजों को बाहर जाने की इजाजत कब दी जाएगी।

मरीन ट्रैफिक वेबसाइट की इस तस्वीर में मालवाहक जहाजों को ग्रीन कलर से दर्शाया गया है, जबकि टैंकरों को रेड कलर के जरिए दर्शाया गया है।
मरीन ट्रैफिक वेबसाइट की इस तस्वीर में मालवाहक जहाजों को ग्रीन कलर से दर्शाया गया है, जबकि टैंकरों को रेड कलर के जरिए दर्शाया गया है।

सुस्त होगी देश की आर्थिक रफ्तार
समुद्र में लगे इस ट्रैफिक जाम से ग्लोबल सप्लाई चेन पर भी असर पड़ रहा है। क्योंकि शंघाई का बंदरगाह दुनिया के सबसे व्यस्त बंदरगाहों में से एक है। वहीं, शंघाई चीन के साथ दुनिया के अन्य देशों के आर्थिक कारोबार के लिए भी काफी महत्व रखता है। चीन के इलेक्ट्रिक कार मार्कर एक्सपेंग ने कहा कि अगर शंघाई और आसपास के इलाकों में सप्लायर्स फिर से काम शुरू नहीं कर सकते हैं तो वाहन निर्माताओं को अगले महीने प्रोडक्शन रोकना पड़ेगा।

शंघाई में कोरोना से 7 और लोगों की मौत
शंघाई में नई कोविड लहर के कारण सात और लोगों की मौत हो गई है। इस तरह दो दिन में कोरोना से मरने वालों की संख्या 10 हो गई है। चीन में संक्रमण से अब तक 4,648 लोगों की मौत हो चुकी है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के मुताबिक, देश में बीते 24 घंटे में संक्रमण के 21,400 नए मामले सामने आए। इनमें अधिकतर मामले शंघाई में दर्ज हुए। 24 घंटे में स्थानीय स्तर पर संक्रमण के 3,297 नए मामले सामने में आए, जिसमें से 3,084 नए मरीज शंघाई में मिले।

चीन में लोगों का 100 फीसदी वैक्सीनेशन किया जा चुका है। बावजूद इसके शंघाई में कोरोना का कहर रुकने का नाम नहीं ले रहा है।
चीन में लोगों का 100 फीसदी वैक्सीनेशन किया जा चुका है। बावजूद इसके शंघाई में कोरोना का कहर रुकने का नाम नहीं ले रहा है।

लोगों से बेवजह बाहर नहीं निकलने की अपील
कोरोना की बेकाबू रफ्तार को देखते हुए प्रशासन ने एहतियाती कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। लोगों से बेवजह घर बाहर नहीं निकलने और गैरजरूरी यात्राओं से बचने की अपील की जा रही है। कई कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम दे दिया है। बाहर निकलने वाले लोगों को ड्रोन और हेलीकॉप्टर पर लगे स्पीकर के जरिए चेतावनी भी दी जा रही है। वहीं, सरकार लॉकडाउन के जरिए कोरोना को बेहतर तरीके से काबू करना चाहती है।

खबरें और भी हैं...