• Hindi News
  • International
  • China । Pentagon । Chinese Officials । US Officials । Beijing Relationship India। Incremental And Tactical Actions । Eastern Ladakh Sector With Indi A। PRC People Republic Of China । United States

अमेरिका को धमकी:पेंटागन की रिपोर्ट में दावा- भारत-चीन के रिश्तों में US की दखलंदाजी नहीं चाहता ड्रैगन

25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिका की ताकत को चुनौती देते चीन ने अब US को सीधे धमकी देना शुरू कर दिया है। अमेरिका के रक्षा विभाग ने एक रिपोर्ट जारी कर दावा किया है कि ड्रैगन ने अमेरिका को भारत-चीन के रिश्तों में दखलअंदाजी न करने की धमकी दी है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर अपना दावा मजबूत करने आक्रामक तेवर दिखा रहा है। पेंटागन ने अमेरिकी कांग्रेस में 'मिलिटरी एंड सिक्योरिटी डेवलपमेंट इनवॉल्विंग द पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना' नाम से यहा रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट में कहा गया है लद्दाख में स्टैंडऑफ अमेरिका और भारत के गहराते संबंधों को रोकने की चीनी चाल थी।

फाइबर ऑप्टिकल का जाल बिछाया
रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 2020 में बॉर्डर पर हुए गतिरोध के बाद PLA ने LAC पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली है। झड़प के बाद चीन ने बॉर्डर पर फाइबर ऑप्टिकल नेटवर्क का जाल बिछा लिया है। यह सेना के साथ तेजी से कम्युनिकेट करने में बहुत उपयोगी है।

डिप्लोमेटिक तरीके कारगर नहीं
चीन ने अपनी सेना में वेस्टर्न थियेटर कमांड को भारत के साथ झड़प की आशंका के चलते ही तैयार किया है। देशों के बीच गतिरोध खत्म करने के लिए डिप्लोमेटिक तरीके कारगर होते नजर नहीं आ रहे हैं। इसका एक बड़ा कारण यह है कि भारत और चीन दोनों ही बॉर्डर पर मिलने वाले फायदे को कम नहीं करना चाहते हैं।

हथियार बढ़ा रहा चीन
रिपोर्ट के मुताबिक पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के पास करीब 9.75 लाख सक्रिय सैनिक हैं। चीन ने पिछले कुछ सालों में हथियार और साजो सामान बढ़ाने में भी तेजी दिखाई है। रिपोर्ट में पेंटागन ने चीन को अमेरिका के लिए गंभीर चुनौती बताया है।