चीन में बारिश-बाढ़ से हाहाकार:जियांग्शी प्रांत में 5 लाख लोग के हाल बेहाल, 43 हजार हेक्टेयर फसल बर्बाद

जियांग्शी6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

चीन के जियांग्शी प्रांत में भारी बारिश और बाढ़ में लोगों को जीना मुहाल कर दिया है। जियांग्शी के 55 प्रांत में बारिश-बाढ़ की वजह से 5 लाख लोग प्रभावित हुए हैं, जबकि 43,300 हेक्टेयर फसल खराब बर्बाद हो गई है। हालांकि, फिलहाल बारिश बंद होने से लोगों को राहत है, लेकिन मौसम विभाग ने इस प्रांत फिर से बारिश का दावा किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बाढ़ की वजह से अब तक 7 करोड़ डॉलर के प्रत्यक्ष नुकसान का आकलन किया गया है। वहीं बुधवार को मानसून के यांग्त्जे नदी के बेसिन की तरफ बढ़ने से जलस्तर के बढ़ने का खतरा है। हाइड्रोलॉजिकल स्टेशनों ने पानी के स्तर को लेकर रेड अलर्ट जारी किया है।

पोयांग झील और बढ़ेगा जलस्तर
मौसम विभाग का अनुमान है कि आने वाले 4 दिनों में चीन के मीठे पानी की सबसे बड़ी पोयांग झील के जलस्तर बढ़ोतरी जारी रहेगी। जल स्तर खतरे के लेवल से 0.4 मीटर ऊपर तक बढ़ सकता है, इस वजह से इलाके में बाढ़ आ सकती है।

भारी बारिश और बाढ़ की वजह से जियांग्शी के कई इलाकों में जलभराव और जियोलॉजिकल आपदाओं का खतरा मंडरा रहा है।
भारी बारिश और बाढ़ की वजह से जियांग्शी के कई इलाकों में जलभराव और जियोलॉजिकल आपदाओं का खतरा मंडरा रहा है।

बाढ़, लैंडस्लाइड और जलभराव का भी खतरा
दूसरी तरफ जियांग्शी के केंद्रीय इलाकों में बाढ़, लैंडस्लाइड, शहरी और ग्रामीण जलभराव और जियोलॉजिकल आपदाओं का खतरा पैदा हो सकता है। अधिकारियों ने मौसम परिवर्तन और बाढ़ नियंत्रण के लिए हाई लेवल निगरानी की मांग की है।

इलाके से अब तक 83 हजार लोगों को निकाल लिया गया है। आगे अभी और बारिश का अनुमान है।
इलाके से अब तक 83 हजार लोगों को निकाल लिया गया है। आगे अभी और बारिश का अनुमान है।

बाढ़ की वजह से प्रांत को लगभग 40 करोड़ डॉलर के आर्थिक नुकसान की आशंका है। इस इलाके से अब तक लगभग 83,000 लोगों को निकाला लिया गया है। स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक 28 मई से हो रही मूसलाधार बारिश और बाढ़ ने सूबे के 80 प्रांतों में कहर बरपा रखा है।