चीन में प्लांट में आग से 38 की मौत:दो लोग लापता, दो घायल; हादसे के पीछे साजिश का शक, संदिग्ध हिरासत में

बीजिंग9 दिन पहले
घटना चीन में हेनान स्टेट के एनियांग शहर में निजी कंपनी के प्लांट में हुई।

चीन में एक निजी कंपनी के प्लांट में आग लगने से 38 लोगों की मौत हो गई है। चीन के स्टेट मीडिया के हवाले से यह खबर मिली है। हादसे में दो लोग घायल हैं, वहीं दो लापता हैं। जांच एजेंसियों को आग के पीछे साजिश का शक है। ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक पुलिस ने कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया है। हालांकि, उनके बारे में जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई है।

सेंट्रल चाइना के हेनान प्रांत में मौजूद ट्रेडिंग कंपनी के प्लांट में सोमवार शाम को आग लगी थी।
सेंट्रल चाइना के हेनान प्रांत में मौजूद ट्रेडिंग कंपनी के प्लांट में सोमवार शाम को आग लगी थी।

एजेंसी के मुताबिक हादसा सेंट्रल चाइना के हेनान प्रांत में हुआ। घटना में दो लोग घायल भी हुए थे, जिन्हें अस्पताल ले जाया गया है। आग लगने के बाद प्लांट से दो लोग लापता बताए जा रहे हैं। रेस्क्यू टीम उनकी तलाश कर रही है।

हादसे के बाद प्लांट से दो लोग लापता हैं, रेस्क्यू टीम मंगलवार सुबह तक इनकी खोज में जुटी थी।
हादसे के बाद प्लांट से दो लोग लापता हैं, रेस्क्यू टीम मंगलवार सुबह तक इनकी खोज में जुटी थी।

एजेंसी ने शहर के पब्लिसिटी डिपार्टमेंट के हवाले से बताया है कि एनयांग शहर के वेनफेंग एरिया में मौजूद ट्रेड कंपनी के प्लांट में यह आग चीनी समय के मुताबिक सोमवार शाम को 4 बजकर 22 मिनट पर लगी थी। इस पर रात को करीब 11 बजे काबू पा लिया गया था।

फायर डिपार्टमेंट ने करीब सात घंटे की मशक्कत के बाद प्लांट में लगी आग पर काबू पाया।
फायर डिपार्टमेंट ने करीब सात घंटे की मशक्कत के बाद प्लांट में लगी आग पर काबू पाया।

एनयांग शहर के अधिकारियों ने बताया कि सोमवार की शाम को रेस्क्यू टीम को वेनफेंग एरिया में मौजूद एक ट्रेडिंग कंपनी के प्लांट में आग लगने का अलार्म मिला था। इसके तुरंत बाद म्यूनिसिपल फायर एंड रेस्क्यू स्क्वॉड ने तुरंत स्पॉट पर पहुंचकर आग बुझाने का काम शुरू कर दिया।

आग इतनी भीषण थी कि इसकी वजह से आसपास के पूरे इलाके में धुआं फैल गया था।
आग इतनी भीषण थी कि इसकी वजह से आसपास के पूरे इलाके में धुआं फैल गया था।

फायर के साथ ही पॉवर सप्लाई, पब्लिक सिक्योरिटी, इमरजेंसी मेडिकल टीम को भी मौके पर बुलाया गया थी। घायलों को मौके पर ही प्राथमिक उपचार देकर अस्पताल भेजा गया है। स्थानीय पब्लिक सिक्योरिटी डिपार्टमेंट ने संदिग्धों को हिरासत में ले लिया है। राज्य के बड़े अफसरों को भी रेस्क्यू की निगरानी के लिए बुलाया गया है। मृतकों के परिवार की मनोवैज्ञानिक काउंसलिंग की जा रही है।

खबरें और भी हैं...