• Hindi News
  • International
  • China In No Mood For Laxity Chinese Borders Still Locked, Sealing The Radius Of 1 Km Of The Infected, Reward On The Culprits

ढिलाई के मूड में नहीं चीन:चीनी सीमाएं अब भी लॉक, संक्रमित के 1 किमी तक का दायरा सील कर रहा, दोषियों पर इनाम

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चीन ने दूसरे देशों से गैरकानूनी तरीके से आने वाले लोगों को रोकने के लिए सीमा पर पैट्रोलिंग बढ़ा दी है। - Dainik Bhaskar
चीन ने दूसरे देशों से गैरकानूनी तरीके से आने वाले लोगों को रोकने के लिए सीमा पर पैट्रोलिंग बढ़ा दी है।

चीन में 28 दिनों में कुल 1280 मामले आए हैं। दूसरे देशों की तुलना में काफी कम संक्रमण होने के बावजूद चीन कोविड को लेकर किसी प्रकार की ढिलाई नहीं बरत रहा है। यही नहीं, 2019 के अंत में वुहान में संक्रमण फैलने के बाद कोरोना की रोकथाम के लिए बनाई गई कोविड जीरो नीति को लगातार सख्त कर रहा है। चीन ने नजदीकी संपर्क का दायरा बढ़ा दिया है।

अब संक्रमित व्यक्ति के 1 किमी के दायरे में आने वाले लोगों की टेस्टिंग की जा रही है और पूरे इलाके को क्वारेंटाइन किया जा रहा है। मौजूदा वक्त में पूर्वोत्तर चीनी शहर डालियान कोरोना की चपेट में हैं। यहां हर रोज 22 मामले आ रहे हैं। स्थानीय प्रशासन ने पूरा शहर सील कर दिया है। यहां तक डालियान में यूनिवर्सिटी में 10 हजार से अधिक छात्रों को ‘कैद’ कर लिया गया है।

दुनिया भर के देश जहां अपने बॉर्डर खोल रहे हैं, वहीं चीन ने अब तक अपने बॉर्डर खोलने पर कोई फैसला नहीं लिया है। दूसरे देशों से गैरकानूनी तरीके से आने वाले लोगों को रोकने के लिए सीमा पर पैट्रोलिंग बढ़ा दी है। रूस से सटे शहर हीहे में कोविड प्रकोप के जिम्मेदार लोगों की सूचना देने पर 15 लाख का इनाम रखा है।

क्रू संक्रमित के संपर्क में आया तो पूरी ट्रेन कोे क्वारेंटाइन किया
चीन की सख्ती को कुछ उदाहरण से समझा जा सकता है। हाल ही में एक हाईस्पीड ट्रेन का क्रू संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ गया था, इसके बाद ट्रेन में मौजूद सभी लोगों को क्वारेंटाइन कर दिया गया। इससे पहले शंघाई डिज्नीलैंड के 33 हजार विजिटर्स को पार्क में ही क्वारेंटाइन कर मास टेस्टिंग की थी, क्योंकि एक विजिटर्स संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ गया था।

मालिक से बिना पूछे संक्रमण के डर के चलते पालतू जानवरों को मारा जा रहा
शांगराव शहर में स्थानीय प्रशासन ने एक महिला की शिकायत के जवाब में एक बयान जारी किया है, जिसमें महिला ने कहा था कि उसे लगता है कि जब वह होटल में क्वारेंटाइन थी, तब उसके कुत्ते को मार दिया गया। सरकारी बयान में कहा गया, क्षेत्र को कीटाणुरहित करने वाले श्रमिकों ने मालिक को बताए बिना जानवर को ‘गैर-खतरनाक उपचार’ दिया। चीन ने सीमाई इलाकों पर निगरानी बढ़ा दी है। फिलहाल चीन ने अन्य देशों की तरह बॉर्डर नहीं खोले हैं।

चीन में कोरोना की रोकथाम कमेटी के प्रमुख बोले- सख्ती ही कारगर उपाय है
चीन की कोरोना से रोकथाम की सरकारी कमेटी का नेतृत्व कर रहे महामारी विशेषज्ञ लियांग वानियन ने एक इंटरव्यू में कहा कि चीन ने प्रभावी रूप से सामुदायिक कोविड मामलों को नियंत्रित किया है। उन्होंने जीरो टॉलरेंस नीति का बचाव करते हुए कहा कि सिर्फ सख्ती ही महामारी रोकने का सबसे कारगर तरीका है। दूसरे देशों की तरह हमने कभी नहीं माना कि यह बीमारी पैनडेमिक से एंडेमिक बन जाएगी। उनकी टिप्पणी से साफ है कि चीन सख्ती जारी रखेगा।