चीन फिर से कोरोना की चपेट में:इनर मंगोलिया के एजिन में लॉकडाउन, 35 हजार लोगों के घर से बाहर निकलने पर पाबंदी

बीजिंग3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चीन के कई हिस्सों में कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। चीन के उत्तर-पश्चिम में इनर मंगोलिया की एजिन काउंटी के लोगों को सोमवार से घर में रहने के लिए कहा गया है। एजिन की आबादी 35,700 है। इन्हें कोविड पाबंदियों का सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया गया है। फिलहाल एजिन कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है। यहां बीते हफ्ते 150 से ज्यादा नए संक्रमित मिले।

चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने चेतावनी दी है कि करीब एक हफ्ते में कोविड इंफेक्शन 11 राज्यों में फैला गया है। ऐसे में आने वाले दिनों में हालात और बिगड़ते जाएंगे। इस चेतावनी के बाद एजिन में लॉकडाउन की घोषणा की गई। चीन में सोमवार को 38 कोरोना केस मिले, जिसमें से आधे इनर मंगोलिया से हैं।

बीजिंग में 12 कोराना संक्रमित
राजधानी बीजिंग में कोरोना संक्रमितों की संख्या 12 हो गई है। देश के जिन हिस्सों में कोरोना संक्रमण बरकरार है, वहां के लोगों को बीजिंग आने के लिए कुछ शर्तों का पालन करना होगा। इन्हें राजधानी में एंट्री तभी मिलेगी, जब वो कोविड टेस्ट रिपोर्ट दिखाएंगे। यह रिपोर्ट 2 दिन से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। साथ ही 2 हफ्ते तक इनके हेल्थ की निगरानी की जाएगी। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अधिकारियों ने बीजिंग में जांच बढ़ाने और होटल में बुकिंग पर रोक लगाने जैसे कदम उठाए हैं।

बीजिंग समेत इन हिस्सों में इंफेक्शन बढ़ रहा
बीजिंग समेत इनर मंगोलिया, गांसु, निंग्जिया और गुइझोउ में कोविड इंफेक्शन के मामले बढ़ रहे हैं। इन राज्यों में देश के अन्य हिस्सों से यात्रा पर रोक लगा दी गई है। साथ ही ट्रेनों की आवाजाही पर भी पाबंदी है। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रशासन काफी अलर्ट है। सरकार का प्रयास है कि इंफेक्शन को बढ़ने से जल्द से जल्द रोका जाए। मालूम हो कि कोरोना का पहला मामला दिसंबर, 2019 में चीन के वुहान शहर में मिला था।

बढ़ते संक्रमण के लिए शंघाई का बुजुर्ग दंपति जिम्मेदार!
संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी के पीछे बताया जा रहा है कि शंघाई के रहने वाले एक बुजुर्ग दंपति हैं, जो शियान समेत कई शहरों में गए और कोविड-19 से पीड़ित पाए गए। इसके बाद अधिकारी इस दंपति के संपर्क में आए लोगों का पता लगाने के काम में जुट गए। तीन दिन के भीतर उनके करीबी संपर्क में आए सैकड़ों लोगों का पता लगाया गया और उनके साथ यात्रा करने वाले 5 लोग भी बाद में संक्रमित पाए गए।