चीन: 600 किमी प्रति घंटे स्पीड वाली ‘मैग्लेव ट्रेन’ का प्रोटोटाइप पेश किया, 2021 से दौड़ने लगेगी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • लोकोमोटिव कंपनी सीआरसीसी सिफांग कॉर्प ने इसे डिजान किया है
  • कंपनी का दावा है कि यह देश की सबसे तेज मैग्लेव ट्रेन होगी

बीजिंग. चीन ने 600 किमी प्रतिघंटा रफ्तार से दौड़ने वाले मैगनेटिक लेविएशन (मैग्लेव) ट्रेन का प्रोटोटाइप बना लिया है। लोकोमोटिव कंपनी सीआरसीसी सिफांग कॉर्प ने इसे डिजाइन किया है। कंपनी का दावा है कि यह देश की सबसे तेज मैग्लेव ट्रेन होगी।

 

चीफ इंजीनियर डिंग सेंसन के मुताबिक, इसमें 3 साल लगे। लोग इससे सफर करने के लिए एयर ट्रेवल का विकल्प छोड़ देगें। फिलहाल कॉमर्शियल प्लेन की स्पीड 900 किमी प्रतिघंटा है। डिंग ने कहा कि 2021 में इस नई मैग्लेव ट्रेन की टेस्टिंग शुरू हो जाएगी।

 

10 सेमी ऊपर उठकर चलती है : डिंग के मुताबिक अल्ट्रा लाइटवेट ट्रेन बॉडी के साथ हाई स्ट्रेन्थ वाले मटेरियल इस्तेमाल करना चुनौती थी। इस ट्रेन में सस्पेंशन गाइडेंस, कंट्रोल और हाई पावर्ड ट्रेक्शन को उन्नत किया गया है। स्पीड ज्यादा होने पर ट्रेन जमीन से 10 सेमी ऊपर उठ जाती है। इसे मैग्नेटिक लेविएशन और मैग्नेटिक सस्पेंशन के नाम से भी जाना जाता है। कंपनी के चेयरमैन जू किंग्च का कहना है कि मैगनेटिक फोर्स होने से पहाड़ी इलाकों में ट्रेन को अतिरिक्त पावर मिलेगा। पारंपरिक बुलेट ट्रेन की तुलना में मैग्लेव में कम शोर, कंपन, यात्री क्षमता ज्यादा और मेंटेनेंस खर्च कम होता है।

 

\"eee\"