पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • International
  • China Wuhan Lab Coronavirus Origins; Virology Laboratory Deputy Director Shi Zhengli On Scientists

कोरोना की उत्पत्ति पर चीन की सफाई:चीनी साइंटिस्ट ने कहा- निर्दोष वैज्ञानिकों पर कीचड़ उछाल रही दुनिया; वुहान लैब को लेकर अफवाहें फैलाई जा रहीं

बीजिंग3 महीने पहले

कोरोनावायरस की उत्पत्ति को लेकर दुनियाभर के निशाने पर आए चीन अब अपने बचाव में उतर आया है। कोरोना की उत्पत्ति को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा रही चीन की वुहान लैब के वैज्ञानिकों ने दुनिया के आरोपों को निराधार बताया है।

चीन की ‘बैट वुमन’ के नाम से मशहूर वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की डिप्टी डायरेक्टर शी झेंगली ने कहा है कि दुनिया निर्दोष वैज्ञानिकों पर बिना किसी आधार के कीचड़ उछाल रही है। वुहान लैब से कोरोनावायरस की उत्पत्ति का दावा निराधार है। मैं किसी ऐसी चीज के लिए सबूत कैसे पेश कर सकती हूं, जहां कोई सबूत है ही नहीं?

अटकलों में जरा सी भी सच्चाई नहीं
चीन की टॉप वायरोलॉजिस्ट झेंगली ने न्यूयॉर्क टाइम्स को दिए इंटरव्यू में कहा कि वुहान में उनकी लैब के बारे में लगाई जा रहीं अटकलों में जरा सी भी सच्चाई नहीं है। झेंगली वही वैज्ञानिक हैं, जिन पर वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में चमगादड़ पर लापरवाही से रिसर्च करने का आरोप लगाया गया था। कई विशेषज्ञों का मानना है कि इन्हीं की लापरवाही से पूरी दुनिया में कोरोना फैला।

अमेरिकी सीक्रेट एजेंसी की रिपोर्ट से खड़े हुए सवाल
हाल ही में अमेरिकी सीक्रेट एजेंसी की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि वुहान लैब के कई वैज्ञानिक अक्टूबर-नवंबर 2019 में कोरोना संक्रमित पाए गए थे। अगर ये वैज्ञानिक शुरुआत में ही संक्रमित हुए थे, तो इससे वायरस के पैदा होने की जगह का पता लगाया जा सकता है। हालांकि, रिपोर्ट के बाद चीन ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए इसे खारिज कर दिया था।

अमेरिकी वैज्ञानिकों का दावा- वायरस चीन की लैब से ही निकला
हाल में अमेरिका के 18 वैज्ञानिकों के समूह ने कोरोना की उत्पत्ति की गहराई से जांच करने की मांग रखी थी। इनका मानना है कि वायरस लैब से ही लीक हुआ है। ये सभी वैज्ञानिक सार्स परिवार के वायरस की गहन स्टडी करते रहे हैं। समूह का नेतृत्व कर रहे वायरोलॉजिस्ट जेसी ब्लूम के मुताबिक, यह स्टडी WHO की टीम के पहुंचने तक चल रही थी। इसलिए टीम को लैब की जांच नहीं करने दी गई। जांच का दिखावा जरूर किया गया।

चीन को घेरने की अमेरिकी रणनीति
इस बीच कोरोना की उत्पत्ति के बारे में जानने के लिए अमेरिका ने कोशिशें तेज कर दी हैं। US प्रेसिडेंट जो बाइडेन ने अमेरिकी जांच एजेंसी को इसकी बारीकी से जांच करने के लिए कहा है। उन्होंने इस जांच की रिपोर्ट 90 दिनों के अंदर मांगी है। बाइडेन ने जांच एजेंसियों को चीन की वुहान लैब से वायरस निकलने की आशंका को लेकर भी जांच करने को कहा है। उन्होंने जांच एजेंसियों से कहा है कि ये वायरस जानवर से फैला या किसी प्रयोगशाला से, इस बारे में स्पष्ट जांच की जाए।

खबरें और भी हैं...