चीन में जबरदस्ती कोरोना टेस्टिंग:महिला को नीचे गिराकर, हाथ-पैर दबाकर लिया सैंपल, घर में भी जबरन घुस रहे

बीजिंग20 दिन पहले

चीन में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। 26 शहरों मे लॉकडाउन लगा हुआ है। 21 करोड़ की आबादी घरों में है। चीन तमाम कोशिशों के बावजूद कोरोना संक्रमण को काबू करने में नाकाम साबित हो रहा है। जिसके बाद हेल्थ डिपार्टमेंट जबरदस्ती लोगों का कोरोना टेस्ट कर रहा है।

लोग कोरोना वायरस से ज्यादा लॉकडाउन से डरे हुए हैं। शंघाई और अन्य शहरों से ऐसे कई वीडियो सामने आ रहे हैं, जो इसका सबूत दे रहे हैं। सोशल मीडिया पर ऐसा ही एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कोविड टेस्ट के लिए महिला को जमीन पर नीचे गिरा दिया गया है।

स्वास्थ्य कर्मियों ने एक महिला को जमीन पर गिराकर उसका स्वाब सैंपल लिया।
स्वास्थ्य कर्मियों ने एक महिला को जमीन पर गिराकर उसका स्वाब सैंपल लिया।

जबरदस्ती लिया स्वाब सैंपल
वीडियो में महिला टेस्ट सेंटर के फर्श पर गिरी हुई दिखाई दे रही है। वह चिल्ला रही है और जबरदस्ती टेस्ट का विरोध कर रही है। उसी समय एक आदमी उसके हाथों को अपने घुटनों से दबा लेता है और उसे मजबूती से पकड़ लेता है। इसके बाद जबरदस्ती महिला का मुंह खोला जाता है और पीपीई किट पहना स्वास्थ्यकर्मी उसका स्वाब सैंपल ले लेता है।

ऐसे और भी वीडियो हुए वायरल
इस तरह के अन्य वीडियो भी वायरल हो रहे हैं। जिसमें चीनी स्वास्थ्य कर्मियों को अनिवार्य कोविड टेस्ट के लिए जबरदस्ती करते देखा जा सकता है। स्वास्थ्यकर्मी एक बूढ़े व्यक्ति के घर में जबरन घुस गए थे और उसका कोविड टेस्ट किया था।

चीन के कई शहरों में लोगों को जबरन क्वारंटीन भी किया जा रहा है। उन्हें पकड़कर आइसोलेशन सेंटर भेजा जा रहा है।
चीन के कई शहरों में लोगों को जबरन क्वारंटीन भी किया जा रहा है। उन्हें पकड़कर आइसोलेशन सेंटर भेजा जा रहा है।

लोग बाहर न निकलें इसलिए की दरवाजों पर वेल्डिंग
इसके इतर, होम आइसोलेशन के लिए लोगों के घर उनसे जबरदस्ती छीना जा रहा है। एक वीडियो में पीपीई किट पहने पुलिस को हाउसिंग कॉम्पलेक्स के बाहर लोगों को नए नियम के बारे में बताते देखा गया। इस नियम को सुनने के बाद लोगों को चीखते-चिल्लाते देखा गया। पुलिस को लोगों को पीटते हुए भी देखा गया। लोगों को बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जा रही है। इसके लिए लोगों के घर के दरवाजों पर वेल्डिंग कर उन्हें बंद किया जा रहा है।

8 प्रांतों में 2 महीने से स्कूल बंद, प्राइमरी के बच्चों की टेस्टिंग
झिजिंगयान, जिलिन, शंघाई, बीजिंग समेत 8 प्रांतों में लगभग दो महीने से स्कूल बंद हैं। यहां ओमिक्रॉन वायरस के कारण संक्रमण के केस कम नहीं हो रहे हैं। जिनपिंग सरकार ने इन प्रांतों के स्कूलों में पढ़ने वाले प्राइमरी के बच्चों की कोरोना वायरस टेस्टिंग के आदेश दिए हैं। बच्चों को घरों से लाकर जांच हो रही है।