जासूसों की हत्या से बढ़ी अमेरिका की टेंशन:रूस, चीन और पाकिस्तान में मारे जा रहे CIA के एजेंट, खुफिया लेटर जारी कर किया आगाह

वॉशिंगटन9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

दुनियाभर में अमेरिकी जासूसों की हत्या ने CIA को चिंता में डाल दिया है। न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, चीन और पाकिस्तान समेत कई देशों में इनकी हत्याएं हो रही हैं। इसके बाद CIA ने दुनियाभर में फैले अपने जासूसों को एक खुफिया लेटर जारी करके आगाह किया है। इसके अलावा कुछ ऐसे भी मामले आए हैं जिसमें अमेरिकी जासूस दूसरे देशों से मिल गए और अमेरिका के खिलाफ डबल एजेंट के तौर पर काम करने लगे।

जासूसों को किया शिफ्ट

दरअसल CIA ने खुफिया जानकारी जुटाने के लिए दुनियाभर में अपने जासूस छोड़ रखे हैं। जो अमेरिका के लिए उस देश की खुफिया बातें जुटाने का काम करते हैं। पूर्व अधिकारियों ने बताया कि बीते कुछ साल में रूस, चीन, ईरान और पाकिस्तान में कुछ जासूसों को मार दिया गया और कुछ को गिरफ्तार कर लिया गया। इन हत्याओं से चिंतित CIA ने अपने मुखबिरों को दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया है।

अमेरिका ने खुफिया लेटर भेजा

अमेरिका के काउंटर-इंटेलिजेंस अधिकारियों ने पिछले हफ्ते दुनियाभर में हर CIA स्टेशन को एक खुफिया पत्र लिखकर चेतावनी जारी की थी। इसमें उसने अपने जासूसों की हत्या का जिक्र किया गया था। साथ ही सूत्रों पर पूरे तरह विश्वास नहीं करने और विदेशी एंजेसियों को हल्के में ना लेने की बात कही है।

चीन के लिए काम करने लगे कई अमेरिकी जासूस

रूस, चीन, ईरान और पाकिस्तान जैसे देशों की खुफिया एजेंसी कई बार जासूसों को गिरफ्तार नहीं करती हैं, बल्कि उन जासूसों का इस्तेमाल CIA को गलत जानकारी देने के लिए करने लगती हैं। चीन और अमेरिका के बीच पहले से ही अघोषित लड़ाई जारी है। ऐसे में CIA के जासूसों का चीन अगर अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करेगा तो इससे अमेरिका को कई मामलों में भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।