जंग का मैदान बना इस्लामाबाद:हिंसा के बाद आजादी मार्च खत्म, शाहबाज सरकार को 6 दिन का अल्टीमेटम देकर वापस लौटे इमरान

इस्लामाबादएक महीने पहले

पाकिस्तान में एक बार फिर से सियासी उठापटक शुरू हो गया है। इसी बीच इमरान खान चुनाव की घोषणा करने के लिए शाहबाज सरकार को 6 दिन का अल्टीमेटम देकर वापस लौट गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार 6 दिन में चुनाव की तारीख का ऐलान करें।

इधर, देर रात अपने लाखों समर्थकों के साथ इमरान इस्लामाबाद के करीब डी-चौक पहुंचे थे। यहां, PTI के समर्थकों और पुलिस के बीच झड़पें भी हुईं। पुलिस ने खान समर्थकों पर टियर गैस का इस्तेमाल किया। पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के आजादी मार्च को देखते हुए इस्लामाबाद को रेड जोन घोषित कर दिया गया था। वहीं, गृह मंत्रालय ने सुरक्षा को देखते हुए सेना की तैनाती का निर्देश दिया था।

खबर में आगे बढ़ने से पहले पोल में भाग लेकर अपनी राय दे सकते हैं...

मरियम बोली- हिंसा भड़का रहे PTI कार्यकर्ता
इमरान की आजादी मार्च पर सत्ता पक्ष के नेता मरियम नवाज ने निशाना साधा। मरियम ने कहा कि पूर्व PM के शह पर पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के कार्यकर्ता हिंसा भड़का रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने शांति से प्रदर्शन करने की इजाजत दी है, लेकिन उसे नहीं माना जा रहा है।

फोटो में देखिए इमरान खान के आजादी मार्च को...

25 मई को इस्लामाबाद में अपने समर्थकों के साथ शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का आह्वान किया था।
25 मई को इस्लामाबाद में अपने समर्थकों के साथ शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का आह्वान किया था।
प्रदर्शनकारियों को कंट्रोल करने के लिए सुरक्षाबलों ने आंसू गैस के गोले छोड़े थे।
प्रदर्शनकारियों को कंट्रोल करने के लिए सुरक्षाबलों ने आंसू गैस के गोले छोड़े थे।
पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया है।

संसद का कार्यकाल अगले साल अगस्त तक
इमरान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) मांग कर रही है कि शाहबाज शरीफ के 13 पार्टियों की गठबंधन सरकार फौरन इस्तीफा दे। केयर टेकर सरकार बने और जल्द से जल्द चुनाव कराए जाएं। वैसे संसद का कार्यकाल अगले साल अगस्त तक है।

मेरी सरकार गिराने में अमेरिका का हाथ
मंगलवार को पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान ने अमेरिका पर अपनी सरकार गिराने का आरोप लगाया था। शाहबाज शरीफ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इन चोरों ने देश पर कब्जा कर लिया है। मुझे उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट और फौज सच के साथ खड़े होंगे। फौज अब यह नहीं कह सकती कि वो न्यूट्रल है। न्यूट्रल तो जानवर होते हैं। मैं फिर कहता हूं कि हम जिहाद करने निकले हैं, सियासत तो बहुत दूर की बात है।