कोरोना से दुनिया में 50 लाख मौतें:19 महीने में वायरस ने न्यूजीलैंड की कुल आबादी से ज्यादा जानें लीं, सबसे ज्यादा 7.66 लाख मौतें अमेरिका में

वॉशिंगटन3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दुनिया में कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा 50 लाख के पार हो गया है। यह संख्या न्यूजीलैंड की कुल आबादी से भी ज्यादा है। जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 50 लाख मौतों का आंकड़ा 19 महीने में पूरा हुआ। इससे महामारी की गंभीरता का अंदाजा लगाया जा सकता है। न्यूज एजेंसी ने कुछ एक्सपर्ट्स के हवाले से कहा है कि मरने वालों का वास्तविक आंकड़ा तीन गुना तक ज्यादा हो सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक इस महामारी ने अमेरिका, ब्राजील, भारत, मैक्सिको और ब्रिटेन को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है। पिछले 28 दिन में दुनिया भर में 1.97 लाख संक्रमितों की मौत हुई है। इसी दौरान एक करोड़ 17 लाख नए केस सामने आए। अमेरिका में कोरोना संक्रमितों की संख्या सबसे ज्यादा 4.68 करोड़ है। भारत में 3.42 करोड़ लोग वायरस की चपेट में आ चुके हैं। तीसरे नंबर पर मौजूद ब्राजील में यह संख्या 2.18 करोड़ है।

चीन में अब भी असर
2019 के आखिर में चीन में कोरोना का पहला मामला सामने आया था। मार्च 2020 में इसने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया। खास बात यह है कि चीन समेत कोई देख जहां ये वायरस पहुंचा, वह अब भी इस महामारी से नहीं उबर सका है। हाल के दिनों में चीन में ही हजारों मामले सामने आए हैं।

दुनिया की बात करें तो पिछले महीने अमेरिका, ब्रिटेन, रूस, तुर्की और यूक्रेन में सबसे ज्यादा केस मिले हैं। worldometers.info के मुताबिक, अमेरिका में अब तक संक्रमण से 7.66 लाख लोगों की मौत हुई है। इसके बाद ब्राजील और फिर भारत का नंबर है। भारत में 4.58 लाख मौतें हुई हैं। इनके अलावा मैक्सिको, रूस और पेरू में 2 लाख से ज्यादा मरीजों ने दम तोड़ा है।

रूस में एक दिन में सबसे ज्यादा 40 हजार केस

रूस में अब भी हर दिन के साथ कोरोना के नए मामलों का रिकॉर्ड बन रहा है।
रूस में अब भी हर दिन के साथ कोरोना के नए मामलों का रिकॉर्ड बन रहा है।

रूस में पिछले 24 घंटे में 40 हजार से ज्यादा केस आए हैं। फेडरल रिस्पॉन्स सेंटर ने सोमवार को बताया कि इससे एक दिन पहले देश में रिकॉर्ड 40,993 नए केस मिले थे। अब तक देश में कुल 85.54 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं। राजधानी मॉस्को में महामारी का सबसे ज्यादा असर है। देश में इससे मरने वालों की संख्या 2.39 लाख हो गई है।

वैक्सीनेशन की रफ्तार भी तेज
ज्यादातर देशों में वैक्सीनेशन तेजी से चल रहा है। ब्रिटेन में अब तक 12 साल या उससे ज्यादा उम्र के करीब 80% लोगों को दो डोज के साथ वैक्सीनेट किया जा चुका है। 86.9% लोग ऐसे हैं जिन्हें पहला डोज लग चुका है। येल यूनिवर्सिटी में इन्फेक्शन डिसीज के एक्सपर्ट डॉक्टर अल्बर्ट कू कहते हैं- हमारे जीवन में इस तरह की घटना एक बार ही होती है। बेहतर यही होगा कि हम खुद को सुरक्षित रखें।

खबरें और भी हैं...