• Hindi News
  • International
  • Coronavirus China Italy USA | Coronavirus Outbreak China Italy Iran USA Spain France Live Today News Updates World Cases Novel Corona COVID 19 Death Toll

कोरोना दुनिया में / अब तक 11 लाख केस और 64 हजार मौतें: ब्रिटेन में 24 घंटे में 708 लोगों ने दम तोड़ा; अमेरिका में मौतों का आंकड़ा 8 हजार पार

स्पेन: मैड्रिड में कोरोना मरीज को अस्पताल ले जाते स्वास्थ्यकर्मी। यहां संक्रमण का आंकड़ा 1.24 लाख हो गया है। स्पेन: मैड्रिड में कोरोना मरीज को अस्पताल ले जाते स्वास्थ्यकर्मी। यहां संक्रमण का आंकड़ा 1.24 लाख हो गया है।
लंदन के बेट्रेसा पार्क में शनिवार को धूप सेंकते लोग। यहां के मेयर सादिक खान के मुताबिक, अगर लोग घर में नहीं रहेंगे तो सार्वजनिक स्थान बंद कर दिए जाएंगे। लंदन के बेट्रेसा पार्क में शनिवार को धूप सेंकते लोग। यहां के मेयर सादिक खान के मुताबिक, अगर लोग घर में नहीं रहेंगे तो सार्वजनिक स्थान बंद कर दिए जाएंगे।
लंदन के ग्रीनविक पार्क में घूम रहे लोगों को घर में रहने की हिदायत देता पुलिसकर्मी। ब्रिटेन में सरकार ने लोगों पर कुछ बंदिशें लगाई हैं। हालांकि, यहां कम्प्लीट लॉकडाउन अब तक नहीं किया गया है। लंदन के ग्रीनविक पार्क में घूम रहे लोगों को घर में रहने की हिदायत देता पुलिसकर्मी। ब्रिटेन में सरकार ने लोगों पर कुछ बंदिशें लगाई हैं। हालांकि, यहां कम्प्लीट लॉकडाउन अब तक नहीं किया गया है।
यह मैसेज 2 अप्रैल को न्यूयॉर्क में टाइम्स स्क्वायर पर नजर आया। न्यूयॉर्क में इटली और स्पेन से भी ज्यादा लोग संक्रमित हैं। यह मैसेज 2 अप्रैल को न्यूयॉर्क में टाइम्स स्क्वायर पर नजर आया। न्यूयॉर्क में इटली और स्पेन से भी ज्यादा लोग संक्रमित हैं।
यह तस्वीर कैलिफोर्निया की है। यहां गवर्नर ने लोगों से घरों में रहने की अपील की है। यह तस्वीर कैलिफोर्निया की है। यहां गवर्नर ने लोगों से घरों में रहने की अपील की है।
X
स्पेन: मैड्रिड में कोरोना मरीज को अस्पताल ले जाते स्वास्थ्यकर्मी। यहां संक्रमण का आंकड़ा 1.24 लाख हो गया है।स्पेन: मैड्रिड में कोरोना मरीज को अस्पताल ले जाते स्वास्थ्यकर्मी। यहां संक्रमण का आंकड़ा 1.24 लाख हो गया है।
लंदन के बेट्रेसा पार्क में शनिवार को धूप सेंकते लोग। यहां के मेयर सादिक खान के मुताबिक, अगर लोग घर में नहीं रहेंगे तो सार्वजनिक स्थान बंद कर दिए जाएंगे।लंदन के बेट्रेसा पार्क में शनिवार को धूप सेंकते लोग। यहां के मेयर सादिक खान के मुताबिक, अगर लोग घर में नहीं रहेंगे तो सार्वजनिक स्थान बंद कर दिए जाएंगे।
लंदन के ग्रीनविक पार्क में घूम रहे लोगों को घर में रहने की हिदायत देता पुलिसकर्मी। ब्रिटेन में सरकार ने लोगों पर कुछ बंदिशें लगाई हैं। हालांकि, यहां कम्प्लीट लॉकडाउन अब तक नहीं किया गया है।लंदन के ग्रीनविक पार्क में घूम रहे लोगों को घर में रहने की हिदायत देता पुलिसकर्मी। ब्रिटेन में सरकार ने लोगों पर कुछ बंदिशें लगाई हैं। हालांकि, यहां कम्प्लीट लॉकडाउन अब तक नहीं किया गया है।
यह मैसेज 2 अप्रैल को न्यूयॉर्क में टाइम्स स्क्वायर पर नजर आया। न्यूयॉर्क में इटली और स्पेन से भी ज्यादा लोग संक्रमित हैं।यह मैसेज 2 अप्रैल को न्यूयॉर्क में टाइम्स स्क्वायर पर नजर आया। न्यूयॉर्क में इटली और स्पेन से भी ज्यादा लोग संक्रमित हैं।
यह तस्वीर कैलिफोर्निया की है। यहां गवर्नर ने लोगों से घरों में रहने की अपील की है।यह तस्वीर कैलिफोर्निया की है। यहां गवर्नर ने लोगों से घरों में रहने की अपील की है।

  • स्पेन में 24 घंटे में संक्रमण के 7 हजार नए मामले सामने आए, 809 मौतें हुईं, देश में अब 26 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा
  • अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 3 लाख के पार हुई, शनिवार को 12 हजार से ज्यादा संक्रमित मामले सामने आए

दैनिक भास्कर

Apr 05, 2020, 02:04 AM IST

वॉशिंगटन. कोरोनावायरस से दुनिया में अब तक 64 हजार 231 लोगों की मौत हो चुकी है। 11 लाख 92 हजार 715 संक्रमित हैं। इसी दौरान दो लाख 46 हजार 102 मरीज स्वस्थ भी हुए। स्पेन में 24 घंटे में संक्रमण के सात हजार नए मामले सामने आए हैं। 809 लोगों की मौत हुई है। यहां अब तक करीब 12 हजार लोग दम तोड़ चुके हैं। फ्रांस के 600 सैनिक भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। ब्रिटेन में शुक्रवार और शनिवार के दरमियान 708 लोगों की मौत हो गई। अमेरिका में मौतों का आंकड़ा 8 हजार के पार हो गया। 

अमेरिका : आठ हजार से ज्यादा मौतें
अमेरिका में शनिवार रात 12 बजे तक मौतों का आंकड़ा 8 हजार 157 हो गया। कुल संक्रमितों का आंकड़ा तीन लाख से भी ज्यादा हो गया है। शनिवार को 12 हजार 653 नए मामले सामने आए। इसी दौरान 647 संक्रमितों की मौत भी हुई।  

बीजिंग इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पिछले हफ्ते मौजूद यात्री।  पिछले दो महीने में चीन से 40 हजार पैसेंजर अमेरिका पहुंचे।

अमेरिका : ट्रम्प ने देर से लिया फैसला
न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, जनवरी की शुरुआत से मार्च के आखिर तक करीब 4 लाख 30 हजार यात्री चीन से अमेरिका आए। तब तक निमोनिया जैसे लक्षण कुछ यात्रियों में सामने आने लगे थे। पिछले दो महीने में 40 हजार पैसेंजर्स चीन से सीधे अमेरिका आए। इसके बाद राष्ट्रपति ट्रम्प ने यात्रा संबंधी प्रतिबंध लगाए। लेकिन, इस दौरान भी चीन से अमेरिकी या वो यात्री यहां आए जिन्हें प्रतिबंधों से अलग रखा गया था। ऐसी कुल 279 फ्लाइट्स अमेरिका पहुंचीं। पिछले हफ्ते तक यह सिलसिला जारी था। एक आंकड़े के मुताबिक, अमेरिका आने वाले कम से कम 25 फीसदी यात्रियों में उस वक्त कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं थे। चीन से अमेरिका आए एक यात्री ने कहा, “मैं हैरान था कि यहां बहुत ज्यादा प्रबंध नहीं थे। एक एयरपोर्ट स्टाफ मेंबर ने मुझसे कुछ सवाल किए। लेकिन, उसने न तो चेकअप किया और न ही कोई और तरीका अपनाया जिससे संक्रमण का पता लगाया जा सकता।” 
 
फ्रांस के दो मेडिकल एक्सपर्ट्स की आलोचना
फ्रांस के दो मेडिकल एक्सपर्ट्स ने सुझाव दिया कि कोरोना वैक्सीन का परीक्षण अफ्रीका में ही होना चाहिए। अब उनके इस सुझाव को नस्लीय भेदभाव वाला बताया जा रहा है। इनमें से एक जीन पॉल मीरा पेरिस के अस्पताल में आईसीयू चीप हैं। उनके मुताबिक, अफ्रीकी देश पिछड़े हैं, लिहाजा वहां वैक्सीन का ट्रायल किया जा सकता है। पॉल की साथी कैमिली लोश ने इसका समर्थन किया। अब कुछ जानकार और सोशल मीडिया यूजर्स उनकी कड़ी आलोचना कर रहे हैं। हालांकि, मीरा ने बाद में अपने सुझाव के लिए माफी मांग ली। लोश ने सफाई में कहा- हम यह कहना चाहते हैं कि यूरोप के साथ अफ्रीका में भी कोरोना वैक्सीन का ट्रायल होना चाहिए।  

अफ्रीकी देश बुर्किना फासो के एक चर्च के बाहर हेल्थ वर्कर लोगों को सैनेटाइजर देता हुआ। फ्रांस के दो वैज्ञानिकों ने अफ्रीकी देशों में कोरोनावायरस के वैक्सीन टेस्ट का सुझाव दिया। उनके इस सुझाव को जानकार नस्लीय भेदभाव वाला मान रहे हैं।

ब्रिटेन : हर रोज बढ़ता आंकड़ा
यहां लगातार चौथे दिन मौतों का आंकड़ा बढ़ गया। शुक्रवार से शनिवार के बीच 708 लोगों ने दम तोड़ दिया। यह ब्रिटेन में एक दिन में होने वाली सबसे ज्यादा मौते हैं। अब तक 4,313 लोगों की मौत हो चुकी है। संक्रमितों का आंकड़ा करीब 42 हजार हो चुका है। चीन ने ब्रिटेन को 300 वेंटिलेटर्स भेजे हैं। इनका इस्तेमाल ब्रिटेन के नेशनल हेल्थ सर्विस करेगी। केंद्रीय मंत्री माइकल गोव ने शनिवार को यह जानकारी दी।

लंदन के ग्रीनविक पार्क में घूम रहे लोगों को घर में रहने की हिदायत देता पुलिसकर्मी। ब्रिटेन में सरकार ने लोगों पर कुछ बंदिशें लगाई हैं। हालांकि, यहां कम्प्लीट लॉकडाउन अब तक नहीं किया गया है।  

स्पेन : लॉकडाउन 26 अप्रैल तक

प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेझ ने शनिवार रात ऐलान किया कि 14 मार्च से लगाया गया लॉकडाउन 26 अप्रैल तक जारी रहेगा। जरूरत हुई तो इसे और भी बढ़ाया जा सकता है। इस ऐलान से पहले सांचेझ ने मुख्य विपक्षी नेता पाब्लो ब्लैंको से फोन पर बातचीत की। लॉकडाउन को स्पेन सरकार ने ‘स्टेट अलार्म’ नाम दिया है।  

लंदन : मेयर ने कहा- सार्वजनिक सुविधाओं की एक सीमा
मेयर सादिक खान ने शनिवार को लंदन के लोगों को चेतावनी दी। कहा, “हमने लंदन में सार्वजनिक स्थान बंद नहीं किए हैं। लेकिन, लोगों को घर में रहने के आदेश का पालन करना होगा। नियमों का पालन न होने पर सुविधाएं खत्म भी की जा सकती हैं। अगर आप घर से बाहर जाकर लोगों से मिलने का प्लान बना रहे हैं तो ऐसा न करें। कोई आपसे मिलने आ रहा है तो उसे मना कर दें।” सादिक के इस बयान से पहले ब्रिटिश सरकार ने भी लोगों से कहा था- अगर आप धूप का आनंद लेने जा रहे हैं तो फिर सोचिए। आपको कुछ और भी मिल सकता है (कोरोनावायरस)। 

ब्रिटेन के मैनचेस्टर में शनिवार को मास्क लगाकर खरीदारी से लौटती महिला। ब्रिटेन में आंशिक लॉकडाउन है लेकिन इसके बावजूद लोग सड़कों पर नजर आ रहे हैं। 

फ्रांस : 600 सैनिक पॉजिटिव 
मुश्किलों से जूझ रहे फ्रांस के लिए शनिवार को एक और परेशानी वाली खबर आई। डिफेंस मिनिस्टर फ्लोरेंस पार्ली के मुताबिक, 600 सैनिक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। फ्लोरेंस ने सीएनएन से कहा, “हमारे लिए यह खबर ज्यादा बड़े खतरे का संकेत है। हमारे 600 सैनिक संक्रमित पाए गए हैं। हम इस घटनाक्रम पर पैनी नजर रख रहे हैं।” शुक्रवार को ही खबर आई थी की सेनेगल-सूडान बॉर्डर पर तैनात 4 सैनिक संक्रमित हैं। इन्हें इलाज के लिए पेरिस लाया गया है।

इटली में कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। यहां 13 अप्रैल तक सख्त लॉकडाउन भी है। इसके बावजूद मिलान की सड़कों पर लोग नजर आ रहे हैं। हालांकि, इन्होंने मास्क जरूर लगाए हैं।  

अमेरिका: ट्रम्प ने कहा- चुनाव तय समय पर होंगे

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, अमेरिका में इस साल होने वाले राष्ट्रपति चुनावों को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि चुनाव अपने निर्धारित समय तीन नवंबर को ही होंगे। उन्होंने कहा कि वे मतदान के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले बैलट के समर्थन में नहीं है। मतदान पोलिंग बूथ में ही किया जाना चाहिए। हालांकि, कोरोना के कारण कई राज्यों ने चुनाव स्थगित कर दिए हैं और डेमोक्रेटिक पार्टी ने इस महामारी के कारण जुलाई और अगस्त के बीच होने वाले नामांकन सम्मेलन को भी स्थगित कर दिया है।

कैलिफोर्निया: यूसीआई मेडिकल सेंटर में मेडिकल सुविधाओं की कमी है, जिसकी वजह से नर्सों को काफी परेशानी होती है। शुक्रवार को नर्स और उनके समर्थकों ने इसका विरोध किया।

न्यूयॉर्क: एक दिन में 562 लोगों की मौत

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, गुरुवार आधी रात से शुक्रवार आधी रात तक न्यूयॉर्क में 562 लोगों की मौत हुई। यानी हर ढाई मिनट में एक व्यक्ति की जान गई है। यह एक दिन में मरने वालों का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू ने एक आदेश जारी किया।  इसके मुताबिक राज्य के जिन अस्पताल में वेंटिलेटर्स की जरूरत कम है, वहां से इसे हटाकर इसकी कमी से जूझ रहे अस्पतालों में पहुंचाया जाएगा। 

अमेरिका: आयोवा में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते छात्र। यह उन राज्यों में शामिल हैं, जहां कोरोना को लेकर सख्त कदम नहीं उठाए गए हैं।

सीडीसी ने कपड़े के मास्क पहनने की सलाह दी: ट्रम्प

व्हाइट हाउस में शुक्रवार को प्रेस ब्रिफिंग के दौरान राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा, ‘‘सीडीसी ने अपनी सिफारिश में कहा है कि नागरिक अपनी इच्छा के अनुसार नॉन-मेडिकल क्लॉथ (कपड़े) का इस्तेमाल कर सकते हैं।’’ हालांकि, ट्रम्प ने स्पष्ट किया कि वह खुद मास्क नहीं पहनेंगे। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि सीडीसी की यह सिफारिशें हाल के रिसर्च पर आधारित है। ट्रम्प ने कहा कि सीडीसी मेडिकल ग्रेड या सर्जिकल ग्रेड मास्क के इस्तेमाल की सिफारिश नहीं कर रहा है। मेडिकल कर्मचारियों के लिए एन95 रेस्पिरेटर मास्क को बचाया जाना जरूरी है। साथ ही उन्होंने कहा कि अमेरिकियों को अभी भी प्रशासन द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर जारी किए गए दिशा-निर्देशों का पालन करना चाहिए।

अपडेट्स

  • कुछ अमेरिकी राज्य अभी भी सख्त लॉकडाउन का विरोध कर रहे हैं। इनमें उत्तर और दक्षिण डकोटा, नेब्रास्का और आयोवा शामिल हैं। वहीं, अलबामा की गवर्नर के. इवे ने शुक्रवार शाम घोषणा की कि वे पूरे राज्य में स्टे-एट-होम ऑर्डर (घर में रहने के आदेश) जारी कर रही हैं, जो शनिवार से लागू होगा। 
  • अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने शुक्रवार को पत्रकारों से कहा, “कोरोना से जुड़े मामलों की जांच को लेकर हमने अभी तक देशभर में रिकॉर्ड 14 लाख लोगों की जांच की है।”

फ्रांस: स्वास्थ्यकर्मियों का आभार जताने के लिए एफिल टावर को लाल, सफेद और नीले रंग की रोशनी में सजाया गया। 

ऑस्ट्रेलिया: पीएम ने कहा- संक्रमण के पीछे चीन के वेट मार्केट का हाथ

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने गुरुवार को एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि कोरोनावायरस के संक्रमण के पीछे चीन के वेट मार्केट (मांस बाजार) का हाथ है। उन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्लयूएचओ) और संयुक्त राष्ट्र (यूएन) से मांस बाजार के खिलाफ कार्रवाई की अपील की। उन्होंने कहा कि चीन का यह मार्केट दुनिया के अन्य देशों और लोगों के लिए गंभीर खतरा है। माना जाता है कि पिछले साल दिसंबर में कोरोना की शुरुआत वुहान के अवैध पशु बाजार से ही शुरू हुई थी।

ऑस्ट्रेलिया: सिडनी एयरपोर्ट पर फंसे फ्रांस के नागरिक। फ्रांस यूरोप का तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश है।

पाकिस्तान: लॉकडाउन के बीच जरूरी चीजों की आपूर्ति पर जोर

प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को कहा कि महामारी के दौरान लोगों की आवाजाही और परिवहन पर प्रतिबंधों के बीच जरूरी चीजों की आपूर्ति पर जोर दिया जाएगा। देश में शुक्रवार तक दो हजार 764 लोग संक्रमित हो चुके हैं। यहां 42 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा मामले पंजाब प्रांत (1,069) में सामने आए हैं। उधर, पाकिस्तान पिपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सांसद रहमान मलिक ने संयुक्त राष्ट्र से आग्रह किया है कि कोरोनावायरस मानव निर्मित है या प्राकृतिक रूप से उत्पन्न, इसका पता लगाने के लिए जांच कराए।

  • मलिक ने कहा कि यह भी पता लगाया जाए कि वायरस की उत्पत्ति किस जगह हुई है। डॉन न्यूज के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस को लिखे पत्र में मलिक ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र कन्वेंशन ऑन बायोलॉजिकल वेपंस, 1975 के तहत कोरोना पर एक आयोग गठित कर जांच कराई जाए। 
  • आयोग में वायरोलॉजिस्ट, वैज्ञानिक, प्रोफेसर, शोधकर्ता, माइक्रोबायलॉजी क्षेत्र के विशेषज्ञ शामिल हो सकते हैं। आयोग को तीन महीने में गुटेरेस को अपनी रिपोर्ट पेश करनी चाहिए।
  • कराची के लियाकताबाद में स्थानीय लोगों ने शनिवार को पुलिस वैन पर पथराव किया। पुलिस इलाके लॉकडाउन के बीच लोगों से घरों में रहने की सलाह दे रही थी। 

ब्राजील: 359 लोगों की मौत

दक्षिण अमेरिकी देश ब्राजील में पिछले 24 घंटों के दौरान 1,146 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9,056 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के कार्यकारी सचिव जोआओ गबार्डो ने शुक्रवार देर बताया कि देश में अब तक 359 की मौत हो गई है, जो संक्रमित लोगों का 4% है। पिछले 24 घंटों में 60 मरीजों की मौत हो गई है। उन्होंने बताया कि ब्राजील में लगातार तीसरे दिन कोरोना के एक हजार नए मामले दर्ज किए गए हैं।

अमेरिका: न्यूयॉर्क में एक कोरोना मरीज को अस्पताल ले जाते चिकित्सक। देश में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले यहीं है। यहां करीब तीन हजार लोगों की मौत हो चुकी है।

इटली: 766 नई मौतें
न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, सिविल प्रोटेक्शन एजेंसी ने शुक्रवार को बताया कि इटली में 24 घंटे में 766 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही मौतों का आंकड़ा 14 हजार 681 तक पहुंच गया है। एक दिन पहले यहां 760 लोगों की जान गई थी। वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, इटली में इस महीने की शुरुआत से संक्रमण के आंकड़ों में कमी आई है। यहां एक अप्रैल को चार हजार 782, दो अप्रैल को चार हजार 668 और तीन अप्रैल को चार हजार 585 केस सामने आए थे।

इटली: दुनियाभर में सबसे ज्यादा मौतें यहां हुई हैं। कोरोना के प्रभाव को देखते हुए सरकार ने लॉकडाउन 13 अप्रैल तक बढ़ा दिया है। 

चीन: कोरोना से मरने वालों के लिए मौन

चीन में कोरोनावायरस से मरने वाले लोगों के लिए शनिवार को तीन मिनट का मौन रखा गया। इस दौरान पुरे देश में नेशनल फ्लैग का आधा झुकाकर रखा गया। देश में इस महामारी से करीब तीन हजार 300 लोगों की मौत हुई है। स्थानीय समय के अनुसार दस बजे (भारतीय समय के अनुसार 8.30 बजे सुबह) देशभर में मौन रखा गया। चीन में कोरोना का पहला मामला दिसंबर में वुहान शहर में सामने आया था।

वुहान में स्वास्थ्यकर्मियों ने कोरोना से मरने वाले लोगों के लिए 3 मिनट का मौन रखा।

सऊदी अरब: हज यात्रा 222 साल बाद रद्द हो सकती है
सऊदी अरब हज यात्रा 222 साल बाद रद्द कर सकता है। इससे पहले 1798 में ऐसा किया गया था। सऊदी सरकार ने फरवरी के अंत में उमरा को बैन कर दिया था। उमरा भी हज की तरह ही होता है। निश्चित इस्लामी महीने में मक्का और मदीना की यात्रा को हज कहा जाता है। इस समय के अलावा सालभर में इन स्थानों की धार्मिक यात्रा उमरा कहलाती है। पिछले साल यहां हज यात्रा पर करीब 20 लाख लोग पहुंचे थे। यह सालाना इस्लामिक कार्यक्रमों का प्रमुख हिस्सा है। यही कारण है कि 1918 फैले फ्लू के दौरान भी इसे रद्द नहीं किया गया था। अगर यात्रा रद्द होती है सउदी अरब के लिए यह साल घाटे का होगा। क्योंकि महामारी के कारण तेल की कीमतें पहले ही गिरी हुई हैं। यहां अब तक दो हजार 39 लोग संक्रमित हैं, जबकि 25 की मौत हो चुकी है।

सऊदी अरब: 3 अप्रैल को पवित्र शहर मक्का के एक मस्जिद में सऊदी सशस्त्र बलों ने प्रार्थना सभा में भाग लिया। यहां 25 लोगों की मौत हो गई है।

अफ्रीका: 50 देश कोरोना की चपेट में

अफ्रीका में कोरोनावायरस का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। यहां अब तक 284 लोगों की मौत हो गई है और करीब 7028 लोग संक्रमित हैं। अफ्रीका सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (अफ्रीका सीडीसी) ने शुक्रवार को बताया कि कोरोना अब तक करीब 50 अफ्रीकी देशों में फैल चुका है। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के 1,462 मामले, अल्जीरिया में 847 और मिस्र में 779 मामले दर्ज किए गए हैं। महाद्वीप पर अब तक 779 मरीज पूरी तरह से ठीक हो गए हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान मृतकों की संख्या बढ़कर 221 से 284 हो गई है।

यह तस्वीर दक्षिण अफ्रीका की राजधानी केपटाउन की है। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए लोगों को घरों में रहने के लिए कहा जा रहा है।

इराक: कोरोना के 820 मामलों की पुष्टि, 54 की मौत

इराक के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में अब तक कोरोना के 820 मामले दर्ज किए जा चुके हैं. वहीं 54 लोगों की मौत हो गई है। मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर कहा कि पिछले 24 घंटे के दौरान सामने आए 48 केस सामने आए हैं। महामारी से निपटने के लिए चीन के सात विशेषज्ञों की एक टीम सात मार्च से ही इराक के चिकित्सकों के साथ मिल कर काम कर रही है।

कोरोना से 10 सबसे ज्यादा प्रभावित देश

देश

कितने संक्रमित

कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 3, 00,625 8,157 14,518
इटली 124,632 15,362 20,996
स्पेन 124,736 11,744 34,219
जर्मनी 92,150 1,330 26,400
चीन 81,639 3,326 76,755
फ्रांस 89,953 7,560 15,438
ईरान 55,743 3,452 19,736
ब्रिटेन 38,168 3,605 135
तुर्की 20,921 425 484
स्विट्जरलैंड 19,606 591 4,846

स्रोत: https://www.worldometers.info/coronavirus

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना