• Hindi News
  • International
  • South Africa Neetherelands [Coronavirus World Cases] Update | London Washington Paris Amsterdem COVID Cases Today

कोरोना दुनिया में:मॉडर्ना ने कहा- अगर जरूरत हुई तो ओमिक्रॉन वैरिएंट के लिए अलग वैक्सीन 2 महीने में तैयार कर लेंगे

2 महीने पहले
मॉडर्ना वैक्सीन कंपनी के मुताबिक, ओमिक्रॉन वैरिएंट पर रिसर्च जारी है।

कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी समेत 13 देशों में पहुंच चुका है। ज्यादातर देश ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए ट्रैवल बैन लागू कर चुके हैं। इसको लेकर बढ़ते खतरे के बीच, वैक्सीन कंपनी मॉडर्ना ने कहा है कि अगर ओमिक्रॉन पर अलग वैक्सीन की जरूरत हुई तो यह 2 से तीन महीने में तैयार हो जाएगी।

मॉडर्ना वैक्सीन कंपनी ने कहा है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट के लिए स्पेशल वैक्सीन (ओमिक्रॉन स्पेसिफिक) 2 से 3 महीने में तैयार हो जाएगी। साउथ अफ्रीका में कोरोना के नए वैरिएंट की वजह से दुनिया परेशान है। वैक्सीन कंपनियां अब तक दावे से यह नहीं कह पा रही हैं कि मौजूदा वैक्सीन इस नए वैरिएंट को काबू करने में कारगर साबित होंगी या नहीं।

मॉडर्ना के चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर पॉल बर्टन ने कहा- हम हालात पर नजर रख हुए हैं। फिलहाल, सिर्फ यही कह सकता हूं कि अगर ओमिक्रॉन के लिए अलग से वैक्सीन की जरूरत हुई तो यह कुछ हफ्तों में तैयार कर ली जाएगी। कुछ हफ्तों में तस्वीर पूरी तरह साफ हो जाएगी। साइंटिस्ट्स इस वैरिएंट और वैक्सीन एफिशिएंसी पर रिसर्च कर रहे हैं। हम उन लोगों के सैम्पल्स की जांच भी कर रहे हैं, जो वैक्सीनेट होने के बावजूद इस वैरिएंट से पॉजिटिव हो गए।

WHO की वॉर्निंग

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) ने चेतावनी दी है कि नया वैरिएंट दुनिया के लिए बड़ा खतरा बन सकता है। अगर इस वैरिएंट के चलते कोरोना संक्रमण तेज हुआ तो इसके नतीजे खतरनाक होंगे। WHO ने यह भी कहा कि अभी तक इस वैरिएंट से एक भी मौत की पुष्टि नहीं हुई है। अभी तक यह भी साफ नहीं हुआ है कि ये वैरिएंट कितना संक्रामक और घातक है। ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला केस बोत्सवाना में मिला। दक्षिण अफ्रीका में पहली बार इसकी सीक्वेंसिग की गई। इसके बाद ये हॉन्गकॉन्ग, ब्रिटेन, जर्मनी, नीदरलैंड, डेनमार्क, बेल्जियम, इजराइल, चेक रिपब्लिक, ऑस्ट्रेलिया, पुर्तगाल और कनाडा तक पहुंच चुका है।

पुर्तगाल फुटबॉल क्लब के 13 प्लेयर्स में ओमिक्रॉन
पुर्तगाल सरकार ने कहा है कि उनके 13 प्लेयर्स में ओमिक्रॉन वैरिएंट पाया गया है। ये सभी बेलेनीनेसी क्लब के लिए खेलते हैं। नेशनल हेल्थ इंस्टीट्यूट ने एक बयान में कहा- इस क्लब ने शनिवार को बेनेफिका के खिलाफ जो मैच खेला, उसमें बेलेनीनेसी के सिर्फ 9 प्लेयर ही मैदान पर उतर सके। हमारी टीम कुछ दिनों पहले साउथ अफ्रीका गई थी। वहां से लौटने के बाद प्लेयर्स का टेस्ट कराया गया। 9 प्लेयर्स को ओमिक्रॉन वैरिएंट से पॉजिटिव पाया गया है। कुल मिलाकर 17 प्लेयर और स्टाफ मेंबर्स पॉजिटिव पाए जा चुके हैं।

बेलेनीनेसी को शनिवार के मुकाबले में 9 प्लेयर्स के साथ उतरना पड़ा था।
बेलेनीनेसी को शनिवार के मुकाबले में 9 प्लेयर्स के साथ उतरना पड़ा था।

ब्रिटेन में 18 साल से ऊपर के लोगों को लगेगी बूस्टर डोज
कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर ब्रिटेन में सख्ती बढ़ा दी गई है। यहां ट्रैवल बैन, फेस मास्क और टेस्टिंग को लेकर ढिलाई नहीं बरतने की सलाह दी गई है। सूत्रों के मुताबिक, अब यहां 18 साल से ऊपर सभी नागरिकों को बूस्टर डोज दी जाएगी। अभी तक ये डोज केवल 40 साल से ऊपर वालों को दी जा रही थी। बूस्टर डोज का वैक्सीनेशन तेज करने के लिए दूसरी और तीसरी डोज का अंतर भी कम किया जा सकता है। अभी ये 6 महीने है और इसे घटाकर 5 महीने किया जा सकता है।

ब्रिटेन में अभी तक 1.8 करोड़ लोगों को बूस्टर डोज दी गई है। सभी वयस्कों को बूस्टर डोज देने का फैसला इसलिए लिया गया है, क्योंकि ब्रिटिश लैब्स में दक्षिण अफ्रीकी वैरिएंट के 75 संभावित सैंपलों की जांच की जा रही है। यहां 3 ऐसे केस कन्फर्म हो चुके हैं और इनके संपर्क में आए लोगों की ट्रेसिंग भी की जा रही है।

फ्रांस में 8 लोगों में ओमिक्रॉन संक्रमण की आशंका
फ्रांस में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के 8 संदिग्ध केस मिले हैं। फ्रांसीसी हेल्थ मिनिस्ट्री ने रविवार रात को बताया कि कुछ यात्री पिछले 14 दिनों में अफ्रीका की ट्रिप से लौटे हैं, उन्हीं में से 8 लोगों में ओमिक्रॉन संक्रमण की आशंका है। इन सभी मरीजों में कोरोना वायरस की स्क्रीनिंग में अल्फा, बीटा, गामा और डेल्टा वैरिएंट्स के म्यूटेशंस नहीं मिले हैं, अब सीक्वेंसिंग के जरिए आगे की जानकारी जुटाई जाएगी। फ्रांस ने सात अफ्रीकी देशों से फ्लाइट्स बैन की हुई है।

जापान ने भी ट्रैवल बैन का सख्त कदम उठाया है। सरकार ने एयरपोर्ट्स के लिए नई गाइडलाइन्स भी जारी कर दी है।
जापान ने भी ट्रैवल बैन का सख्त कदम उठाया है। सरकार ने एयरपोर्ट्स के लिए नई गाइडलाइन्स भी जारी कर दी है।

कनाडा में मिले दो ओमिक्रॉन संक्रमित मरीज, नाइजीरिया से लौटे थे दोनों
कनाडा में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के पहले दो मामले सामने आए हैं। कनाडा सरकार ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि ऑन्टारियो में ओमिक्रॉन वैरिएंट के दो कन्फर्म केस मिले हैं। यह दोनों ही केस नाइजीरिया से लौटे दो लोगों में मिले हैं। चीफ मेडिकल ऑफिसर ऑफ हेल्थ ने बताया कि ओटावा पब्लिक हेल्थ इस मामले की जांच कर रहा है और दोनों मरीज आइसोलेशन में हैं।

इसके बाद से ही कनाडा आने वाले यात्रियों के लिए टेस्टिंग के नियम सख्त किए जा रहे हैं। अब किसी भी देश से आने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट पर ही टेस्टिंग करानी होगी। शुक्रवार को कनाडा ने दक्षिणी अफ्रीकी देशों से आने वाले यात्रियों पर बैन लगाया था।

अमेरिका ने की अफ्रीकी देशों से ट्रैवल बैन करने की तैयारी
साउथ अफ्रीका में सबसे पहले मिले कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से बचाव के लिए अमेरिका ने कमर कस ली है। अमेरिका ने इस वायरस से बचाव के लिए अफ्रीकी देशों से किसी भी तरह के ट्रैवल पर बैन लगाने की तैयारी की है। राष्ट्रपति जो बाइडेन के एडमिनिस्ट्रेशन के सूत्रों ने बताया कि इसकी घोषणा सोमवार को कर दी जाएगी।

उधर, राष्ट्रपति के चीफ मेडिकल एडवाइजर डॉ. एंथोनी फॉसी ने कहा है कि ओमिक्रॉन कोरोना के अब तक मिले अन्य सभी वैरिएंट के मुकाबले ज्यादा तेजी से संक्रमण फैलाने वाला लग रहा है। अब तक सामने आए फैक्ट्स के आधार पर यह भी लग रहा है कि यह वैरिएंट मोनोक्लोनल एंटीबॉडीज (कोरोना संक्रमण होने पर नेचुरल तरीके से शरीर में खुद बनने वाली इम्यूनिटी) को बाईपास कर सकता है और इसी कारण यह थोड़ा घातक साबित हो सकता है। संभावना यह भी है कि वैक्सीन के कारण बने एंटीबॉडीज को भी यह धोखा दे सकता है।​​​​​

डरबन के एक लैब में काम करता टैक्निशियन।
डरबन के एक लैब में काम करता टैक्निशियन।

नीदरलैंड्स में 13 लोगों में ओमिक्रॉन वैरिएंट मिला, सभी साउथ अफ्रीका से एमस्टर्डम पहुंचे थे
साउथ अफ्रीका में कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन मिलने के बाद दुनिया अलर्ट पर है। इस मामले में नीदरलैंड्स के लिए रविवार को एक गंभीर परेशानी की बात सामने आई। यहां शुक्रवार को 61 लोगों को पॉजिटिव पाया गया था। इनमें से 13 में ओमिक्रॉन वैरिएंट मिला है। उधर, मॉडर्ना वैक्सीन के चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर पॉल बर्टन ने ओमिक्रॉन वैरिएंट को खतरनाक बताया है। हालांकि बर्टन ने उम्मीद जताई है कि इस वैरिएंट से भी निपट लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...