• Hindi News
  • International
  • Coronavirus Variant Omicron Outbreak World LIVE Updates| France NEWYORK, WASHINGTON, CANADA Reported Cases And Deaths By COUNTRY Wise

कोरोना दुनिया में:बीते दिन 30.17 लाख नए संक्रमित मिले; US में बाइडेन एडमिनिस्ट्रेशन 40 करोड़ N95 मास्क मुफ्त बांटेगी

वॉशिंगटन5 महीने पहले

दुनिया में बीते दिन 30.17 लाख नए कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई है। 17.70 लाख लोग ठीक हुए हैं, जबकि 8,039 लोगों की मौत हुई है। नए संक्रमितों के मामले में अमेरिका 5.46 लाख मरीजों के साथ टॉप पर है, जबकि 2.82 लाख नए मामलों के साथ भारत दूसरे नंबर पर है। वहीं, 1.32 लाख नए केस के साथ ब्राजील तीसरे नंबर पर है।

अमेरिका में 1720 नई मौतें दर्ज की गई हैं। वहीं भारत में 441 लोगों की मौत हुई है। एक्टिव केस के मामले में अमेरिका टॉप पर है। पूरी दुनिया में 5.86 करोड़ एक्टिव केस हैं। इनमें से 2.43 करोड़ अकेले अमेरिका में हैं। अब तक करीब 33.51 करोड़ से ज्यादा लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से 27.08 करोड़ ठीक हो चुके हैं। वहीं, 55.72 लाख ने जान गंवाई है।

बाइडेन सरकार के 2 अहम फैसले

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने N95 मास्क मुफ्त बांटने और कोविड टेस्ट भी मुफ्त में करने का फैसला किया है।
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने N95 मास्क मुफ्त बांटने और कोविड टेस्ट भी मुफ्त में करने का फैसला किया है।

अमेरिका में बाइडेन एडमिनिस्ट्रेशनने 40 करोड़ N95 मास्क बांटने जा रही है। ये N95 मास्क हेल्थ सेंटर्स और फार्मेसी के जरिए डिस्ट्रीब्यूट किए जाएंगे। पिछले हफ्ते न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि अमेरिकी सरकार ने कई कंपनियों को कुल मिलाकर 50 करोड़ N95 मास्क तैयार करने को कहा है। कंपनियों से यह मास्क सरकार खरीदेगी और फिर हर राज्य को उसकी जरूरत के मुताबिक ये मास्क भेजे जाएंगे। वहां से आम लोग इन्हें ले सकेंगे। इसके लिए कोई पैसा नहीं देना होगा। अमेरिकी इतिहास में पहले कभी इतने बड़े पैमाने पर प्रोटेक्टिव हेल्थ इक्युपमेंट्स मुफ्त नहीं बांटे गए।

अमेरिकी हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, N95 मास्क कोरोना के खिलाफ जंग में अहम हथियार साबित हुए हैं। यह 95% एयरबॉर्न एयर पार्टिकल्स को रोक देते हैं। बुधवार को ही अमेरिका ने एक और अहम फैसला किया। इसके तहत covidtests.gov वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करने के बाद घर पर ही मुफ्त में कोविड टेस्ट कराया जा सकेगा।

न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले चैपल-हैडली वनडे सीरीज और ए टी-20 मैच को ओमिक्रॉन के बढ़ते मामले की वजह से रद्द कर दिया है। न्यूजीलैंड को ऑस्ट्रेलिया में 30 जनवरी से तीन वनडे मैचों की सीरीज खेलनी थी। पहला वनडे 30 जनवरी, दूसरा 2 फरवरी और तीसरा मैच 5 फरवरी को खेलना था। इसके अलावा 8 फरवरी को एक टी-20 मैच भी खेला जाना था।

न्यूजीलैंड सरकार ने ओमिक्रॉन के बढ़ते मामले को देखते हुए देश में लौटने वाले सभी लोगों के लिए 10 दिन का क्वारैंटाइन अनिवार्य कर दिया है। जिसकी वजह से ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले वनडे और टी-20 मैच को रद्द कर दिया गया है। यह तीसरी बार है, जब वनडे और टी-20 सीरीज को टालना पड़ा है। पहली बार 2020 मार्च में इसे टाला गया था।

दुनिया में अब तक कोरोना मामलों की स्थिति
कुल संक्रमित:
33.51 करोड़

ठीक हुए: 27.08 करोड़

एक्टिव केस: 58.67 करोड़

कुल मौतें: 55.72 लाख

यूरोप में संक्रमण बढ़ने के बाद भी बंदिशें नही

यूरोप में ओमिक्रॉन के मामले में लगातार तेजी आ रही है। सोमवार को यूरोप में पौने 8 लाख नए मामले सामने आए। लेकिन इसके बावजूद यूरोप थमा नहीं है। कई देशों की सरकारें लॉकडाउन या फिर बंदिशों को लगाने से परहेज कर रही हैं। फ्रांसीसी सरकार ने शिक्षकों के विरोध प्रदर्शन के बावजूद स्कूलों को बंद नहीं करने का फैसला किया है।

सरकार का कहना है कि डबल डोज और टीकाकरण के बाद आबादी बेहतर ढंग से संक्रमण का मुकाबला कर सकती है। फ्रांस में लगभग एक लाख संक्रमण के नए मामले रोज आ रहे हैं। यूरोप के एक और प्रमुख देश ब्रिटेन में मंगलवार को एक बड़ा फैसला हुआ। ब्रिटेन के उप प्रधानमंत्री डोमेनिक रैब ने कहा कि ब्रिटेन में लॉकडाउन अथवा वैक्सीन पास को लागू नहीं किया जाएगा। रैब ने कहा, ब्रिटेन में भले ही रोज लगभग 90 हजार केस आ रहे हैं पर हम सुरक्षित हैं।

स्कॉटलैंड: ओमिक्रॉन के कारण क्रिसमस से पहले स्कॉटलैंड में लगाए सभी प्रतिबंध 24 जनवरी से हट जाएंगे। नाइट क्लब फिर से खुल जाएंगे। इंडोर में लोगों के जमा होने पर से पाबंदी हट जाएगी। यहां मंगलवार को 36,526 नए केस आए। फर्स्ट मिनिस्टर निकोला स्टर्नजन ने कहा ओमिक्रॉन को हरा दिया है।

स्पेन: स्पेन में रोज लगभग 1.10 लाख केस आ रहे हैं। यहां की लगभग 80 फीसदी आबादी को टीके लगे हुए हैं। सरकार ने आउटडोर में मास्क की अनिवार्यता लागू की हुई है। यहां ऑफिस, बाजार, स्कूल और सार्वजनिक स्थान खुले हुए हैं।

हॉलैंड: यूरोप में सबसे पहले लॉकडाउन लगाने वाले देश हॉलैंड ने 22 जनवरी से लॉकडाउन को हटाने का ऐलान किया है।

जर्मनी: यहां रोज 54 हजार नए केस आ रहे हैं लेकिन सार्वजनिक यातायात को बंद नहीं किया गया है।

पुर्तगाल: यहां रोज 21 हजार नए केस आ रहे हैं लेकिन स्कूल-कॉलेजों में कक्षाएं जारी हैं।

रूस: रोज 30 हजार से ज्यादा केस आ रहे हैं लेकिन यहां पर लॉकडाउन नहीं है।

फिनलैंड: रोज 22 हजार केस, लेकिन ऑफिस-मॉल खुले हेैं।

पोलैंड: रोज लगभग 15 हजार नए केस, पांचवीं लहर की आशंका, सार्वजनिक परिवहन जारी।

स्विट्जरलैंड: रोज लगभग 20 हजार नए केस,आइसोलेशन अवधि को 7 से 5 दिन किया।