• Hindi News
  • International
  • China Xinjiang Uyghurs Muslims: 22 Countries Expressed Concern Over Atrocities Against Uyghurs Muslims; Pakistan, Saudi

यूएन / चीन में उइगर मुस्लिमों पर अत्याचार पर 22 देशों ने जताई चिंता; पाक-सऊदी समेत 37 देश बचाव में आए



China Xinjiang Uyghurs Muslims: 22 Countries Expressed Concern Over Atrocities Against Uyghurs Muslims; Pakistan, Saudi
X
China Xinjiang Uyghurs Muslims: 22 Countries Expressed Concern Over Atrocities Against Uyghurs Muslims; Pakistan, Saudi

  • 10 जुलाई को यूरोपियन यूनियन, जापान समेत 22 देशों ने चीन में उइगर मुस्लिमों की हालत पर चिंता जताई थी
  • इस पर चीन ने पश्चिमी देशों की चिंता को ढोंग बताते हुए उइगर मुस्लिमों को खुश बताया था

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2019, 11:47 AM IST

जेनेवा. चीन में उइगर मुस्लिमों पर हो रहे अत्याचार पर 22 देशों ने बयान जारी कर चिंता जाहिर की। इस पर अब पाकिस्तान, सऊदी अरब समेत 37 देशों ने संयुक्त राष्ट्र को पत्र लिखकर चीन का बचाव किया है। पत्र में इन देशों के राजदूतों ने कहा है कि चीन ने अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार के कामों में हमेशा योगदान दिया है। चीन ने आतंक और कट्टरता को खत्म करने की प्रक्रिया के बीच हमेशा मानवाधिकार का सम्मान किया है। 

चीन में डिटेंशन कैंपों में भेजे जाते हैं उइगर मुस्लिम

  1. दरअसल, चीन के शिनजियांग प्रांत में लंबे समय से उइगर मुस्लिमों के साथ अत्याचार की खबरें आती रही हैं। कुछ समय पहले ही एक अमेरिकी अखबार ने दावा किया था कि शिनजियांग में चीनी प्रशासन मुस्लिमों को डिटेंशन सेंटर में बंद कर रहा है और वहां धार्मिक पहचान की चीजों को भी उनसे अलग कर रहा है। इसके बाद से ही अमेरिका समेत कई देशों ने जिनपिंग सरकार के इस कदम की निंदा कर चुके हैं। 

  2. न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, 10 जुलाई को यूरोपियन यूनियन, जापान, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और न्यूजीलैंड समेत 22 देशों ने इस पर चीन का कड़ा विरोध जताते हुए बयान जारी किया था। इसमें चीन से शिनजियांग प्रांत में रहने वाले उइगर मुस्लिम समुदाय को सामूहिक रूप से बंदी बनाने की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए कहा गया था। 

  3. शुक्रवार को ही रूस, पाकिस्तान, सऊदी अरब, नाइजीरिया, अल्जीरिया और उत्तर कोरिया समेत 37 देशों के राजदूतों ने बीजिंग के बचाव में यूएन को पत्र लिखा। इसमें कहा गया कि चीन ने अपने मुस्लिम बहुसंख्यक उत्तर पश्चिमी क्षेत्र में आतंक, अलगाववाद और धार्मिक कट्टरता का सामना किया है। लेकिन आतंकरोधी ट्रेनिंग के जरिए अब वहां लोगों में शांति और सुरक्षा की भावना है। चीन भी इससे पहले पश्चिमी देशों की चिंता को ढोंग बताते हुए दावा कर चुका है कि शिनजियांग के लोग अब खुश हैं। 

COMMENT