• Hindi News
  • International
  • Narendra Modi | COVID19 Virtual Summit 2022 Update; PM Narendra Modi And US President Joe Biden To Participate

कोविड 19 वर्चुअल समिट:मोदी ने कहा- इस साल 5 अरब वैक्सीन डोज बनाएंगे, भारत ने 98 देशों को भेजे 20 करोड़ डोज

नई दिल्ली7 दिन पहले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार शाम दूसरी कोविड-19 ग्लोबल वर्चुअल समिट में शामिल हुए। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और दुनिया के कई दूसरे राष्ट्राध्यक्ष भी इस समिट का हिस्सा बने। समिट में भाषण के दौरान मोदी ने कहा- भारत ने अपने हेल्थकेयर बजट के लिए अब तक की सबसे ज्यादा राशि अलॉट की है। हमारा वैक्सीनेशन प्रोग्राम दुनिया में सबसे बड़ा है।

महामारी से निपटने के प्रयासों पर मोदी ने कई अहम बातें कहीं। प्रधानमंत्री ने कहा- हमने हमारी 90% आबादी और 5 करोड़ बच्चों को पूरी तरह वैक्सीनेटेड कर दिया है। भारत WHO से मंजूर चार वैक्सीन का प्रोडक्शन कर रहा है। भारत की क्षमता इस साल 5 अरब डोज का प्रोडक्शन करने की है। पिछले महीने हमने भारत में WHO सेंटर फॉर ट्रेडिशनल मेडिसिन की नींव रखी। इससे प्राचीन ज्ञान का लाभ दुनिया को मिल सकेगा। यह स्पष्ट है कि भविष्य की हेल्थ इमरजेंसी से निबटने के लिए ग्लोबल रिस्पांस जरूरी होगा।

हमने 98 देशों को द्विपक्षीय और कोवेक्स के जरिए 20 करोड़ डोज सप्लाई किए हैं। भारत ने कोरोना टेस्टिंग, इलाज और कोरोना के डेटा मैनेजमेंट के लिए कम लागत वाली तकनीकें ईजाद की हैं। हमने दूसरे देशों को भी ये तकनीक उपलब्ध कराने की पेशकश की है।

गुरुवार को दूसरी कोविड-19 ग्लोबल वर्चुअल समिट को संबोधित करते प्रधानमंत्री मोदी।
गुरुवार को दूसरी कोविड-19 ग्लोबल वर्चुअल समिट को संबोधित करते प्रधानमंत्री मोदी।

WHO को नसीहत
कोरोना वायरस के ग्लोबल डेटाबेस में भी भारत के जिनोमिक्स कंसोर्टियम ने योगदान दिया है। हम इस नेटवर्क को अपने पड़ोसी देशों को भी उपलब्ध कराएंगे। भारत में हम अपनी पारंपरिक दवाओं का इस्तेमाल कोविड से लड़ाई और इम्यूनिटी बढ़ाने में कर रहे हैं। इससे अनगिनत जीवन बचाए जा रहे हैं।

हमें वैक्सीन और दवाओं तक पहुंच बनाने के लिए ग्लोबल सप्लाई चेन बनानी होगी। इसके लिए WHO के नियमों को आसान बनाना होगा। WHO में सुधार कर उसे और मजबूत करना होगा, ताकि ग्लोबल हेल्थ सिक्योरिटी का ढांचा बनाया जा सके।

कोविड पर दूसरी ग्लोबल समिट
पहली कोविड-19 ग्लोबल वर्चुअल समिट सितंबर 2021 में हुई थी और तब भी बाइडेन की गुजारिश पर मोदी इसमें शामिल हुए थे। अमेरिका में सबसे ज्यादा कोविड-19 के केस और मौतें सामने आईं थीं। अब वहां हालात पर काबू पा लिया गया है और इसके लिए वैक्सीनेशन पर सबसे ज्यादा फोकस किया गया।

बाइडेन ने दिया न्योता
भाषण के पहले भारतीय विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया- अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने मोदी को इसके लिए न्योता दिया है। इस दौरान ग्लोबल हेल्थ सिक्योरिटी आर्किटेक्चर बनाने पर विचार किया जाएगा।

कोविड-19 के दौर में भारत ने अमेरिका, यूरोप के अलावा कई देशों को हेल्थ सेक्टर में भरपूर मदद दी। भारत ने कई देशों को लाखों वैक्सीन डोनेट कीं और इसकी वजह से इन देशों ने वैक्सीनेशन ड्राइव तेजी से चलाई। G20 और G7 मीटिंग ने भी इस मुद्दे पर भारत की तारीफ की थी।

भारत का कोविड अपडेट
हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, बुधवार को देश में 2505 नए केस सामने आए। इस दौरान 52 संक्रमितों की मौत हो गई। देश में अब तक कुल 43,112,690 केस सामने आए हैं। 5 लाख 22 हजार 864 मौतें हुई हैं।