कोरोना पर WHO की चेतावनी:डेल्टा और ओमिक्रॉन की सुनामी आएगी, दुनिया का हेल्थ सिस्टम तबाही के कगार पर पहुंच जाएगा

जेनेवा5 महीने पहले

WHO चीफ टेडरोस एडनोम गेब्रियासिस ने कोरोना महामारी पर दुनिया को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि डेल्टा और ओमिक्रॉन वैरिएंट की ऐसी सुनामी आएगी कि हेल्थ सिस्टम तबाही के कगार पर पहुंच जाएगा।

गेब्रियासिस बोले- दुनियाभर का हेल्थ सिस्टम वैसे ही अपनी क्षमताओं से आगे जाकर काम कर रहा है। इसके बाद डेल्टा और ओमिक्रॉन जैसे दोनों खतरे संक्रमण का आंकड़ा रिकॉर्ड ऊंचाई तक ले जाएंगे। इससे हॉस्पिटलाइजेशन और मौतें बढ़ेंगी।

एक हफ्ते में 11% बढ़े ग्लोबल केस
WHO चीफ ने कहा कि कोरोना के ग्लोबल केस की संख्या में पिछले हफ्ते 11% का उछाल आया है। अमेरिका और फ्रांस में बुधवार को रोजाना के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी दर्ज की गई है। ओमिक्रॉन को लेकर मैं बहुत चिंतित हूं, यह बहुत तेजी से फैलता है और यह डेल्टा के साथ-साथ दुनिया में फैल रहा है।

चीफ साइंटिस्ट ने कहा- मौजूदा वैक्सीन ओमिक्रॉन के खिलाफ अभी भी प्रभावी

WHO की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन(फाइल फोटो)।
WHO की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन(फाइल फोटो)।

WHO की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने कहा है कि मौजूदा वैक्सीन ओमिक्रॉन के खिलाफ अभी भी प्रभावी है। ऐसा इसलिए है क्योंकि शरीर में मौजूद टी सेल इम्युनिटी नए वैरिएंट का मुकाबला करने में सक्षम है। उन्होंने कहा,’ ऐसा लग रहा है कि वैक्सीन अभी भी प्रभावी साबित हो रही है। हालांकि, अलग- अलग वैक्सीन का प्रभाव अलग-अलग है।

WHO के इमरजेंसी यूज लिस्ट में शामिल सभी वैक्सीन में से अधिकांश गंभीर बीमारी रोकने और डेल्टा वैरिएंट के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करने में सक्षम हैं।

पैंडेमिक एक्सपर्ट ने कहा- 2022 में खत्म हो सकती है महामारी की भयावहता

WHO के पैंडेमिक एक्सपर्ट माइक रेयान(फाइल फोटो)।
WHO के पैंडेमिक एक्सपर्ट माइक रेयान(फाइल फोटो)।

WHO के पैंडेमिक एक्सपर्ट माइक रेयान ने बुधवार को कहा कि कोरोना महामारी की भयावहता अगले साल समाप्त हो सकती है। हालांकि, कोरोना वायरस दुनिया से गायब नहीं होगा। टॉप इमरजेंसी एक्सपर्ट रेयान ने कहा कि ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर किसी नतीजे पर पहुंचना जल्दबाजी होगी। इस वैरिएंट के बुजुर्गों में फैलने के बाद ही ज्यादा जानकारी सामने आएगी।