एलिजाबेथ के घर की बात:बेटे चार्ल्स के अफेयर, बहू डायना के डिप्रेशन से परेशान थीं; विलियम की पत्नी केट की बोल्ड फोटो पर भी विवाद हुआ

3 महीने पहले

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ नहीं रहीं। वे 96 साल की थीं। 70 साल के राज में उनकी छवि पर कोई दाग नहीं आया, लेकिन इस दौरान शाही परिवार में फूट और मनमुटाव चलता रहा। परिवार में भरोसा टूटता, सवाल उठते तो एलिजाबेथ संभालने की कोशिश करने लगतीं। हर बार कामयाब भी हुईं।

इसके सबसे बड़े किरदार क्वीन के बड़े बेटे प्रिंस चार्ल्स रहे। 40 साल पहले कैमिला पार्कर के साथ उनके अफेयर से परिवार का ताना-बाना बिगड़ना शुरू हुआ। इसके बाद इसमें उनकी पत्नी प्रिंसेस डायना, बेटे हैरी, बहू केट और मेगन के नाम शामिल होते गए। एक नाम प्रिंस एंड्रयू का भी है, जो क्वीन के दूसरे बेटे थे।

1. प्रिंसेज डायना: शाही परिवार की सबसे कॉन्ट्रोवर्शियल और यादगार शख्सियत
प्रिंसेज डायना, रॉयल फैमिली की सबसे मशहूर और अब तक याद की जाने वाली राजकुमारी। 24 फरवरी 1981 को शाही परिवार ने 32 साल के प्रिंस चार्ल्स की सगाई का ऐलान किया। क्वीन के बड़े बेटे चार्ल्स की होने वाली पत्नी उनसे 13 साल छोटी थीं। नाम डायना स्पेंसर, उम्र 19 साल।

29 जुलाई 1981 को प्रिंस चार्ल्स और डायना की शादी हुई। इसे वेडिंग ऑफ दी सेंचुरी कहा गया। सेंट पॉल कैथेड्रल में हुए भव्य समारोह पर 48 मिलियन डॉलर खर्च हुए थे। 74 देशों में रिकॉर्ड 75 करोड़ ने लोगों इसे लाइव देखा।
29 जुलाई 1981 को प्रिंस चार्ल्स और डायना की शादी हुई। इसे वेडिंग ऑफ दी सेंचुरी कहा गया। सेंट पॉल कैथेड्रल में हुए भव्य समारोह पर 48 मिलियन डॉलर खर्च हुए थे। 74 देशों में रिकॉर्ड 75 करोड़ ने लोगों इसे लाइव देखा।

सगाई के 5 महीने बाद दोनों पति-पत्नी बन गए। डायना अब राजकुमारी थीं, लेकिन थीं तो बाहरी ही। उन्होंने शाही परिवार के तौर-तरीकों के साथ चलने का दबाव झेला। इससे उन्हें घुटन होने लगी।

इसमें भी सबसे खराब था प्रिंस चार्ल्स का अफेयर। डायना को शादी से पहले इस बारे में पता था। वे चार्ल्स से शादी नहीं करना चाहती थीं, लेकिन शादी पर दुनिया भर में इतनी बातें हो गई थीं कि डायना ऐसा नहीं कर पाईं। 11 साल बाद दोनों अलग हो गए। दिसंबर 1992 में महारानी ने उन्हें इजाजत दे दी कि दोनों अलग-अलग रहें।

प्रिंसेज डायना ने सैकड़ों साल पुरानी परंपराओं वाले शाही परिवार की छवि बदलकर रख दी। ब्रिटेन की जनता उन्हें पसंद करती थी। हालांकि, वे शाही परिवार के साथ खुश नहीं थीं। 'डायना:हर ट्रू स्टोरी' किताब में लिखा है कि उन्होंने कई बार आत्महत्या करने की कोशिश की थी।
प्रिंसेज डायना ने सैकड़ों साल पुरानी परंपराओं वाले शाही परिवार की छवि बदलकर रख दी। ब्रिटेन की जनता उन्हें पसंद करती थी। हालांकि, वे शाही परिवार के साथ खुश नहीं थीं। 'डायना:हर ट्रू स्टोरी' किताब में लिखा है कि उन्होंने कई बार आत्महत्या करने की कोशिश की थी।

1992 में एक किताब आई- डायना: हर ट्रू स्टोरी। इसमें डायना की टूटी शादी, चार्ल्स और कैमिला के अफेयर और डायना के डिप्रेशन की सभी बातें थीं। अब परदे के पीछे की बातें किताब की शक्ल में लोगों के हाथों में थीं। इससे शाही परिवार को काफी शर्मिंदगी झेलनी पड़ी। खुद क्वीन एलिजाबेथ ने 1992 को बहुत बुरा साल बताया था।

2. प्रिंस चार्ल्स: शादीशुदा महिला से डेट, डायना के निधन के बाद उसी से शादी
प्रिंस चार्ल्स ने कैमिला पार्कर को डेट करना शुरू किया, तब वे शादीशुदा थीं। दोनों के रिश्ते की वजह से शाही परिवार में तनाव था। कहा जाता है कि क्वीन एलिजाबेथ ने चार्ल्स को समझाया भी, लेकिन फायदा नहीं हुआ।

प्रिंस चार्ल्स और कैमिला विंडसर ग्रेट पार्क में स्मिथ के लॉन में अक्सर मिला करते थे। यहां चार्ल्स पोलो खेलते थे। कहा जाता है कि दोनों की पहली मुलाकात एक पोलो मैच के दौरान ही हुई थी। (फोटो में कैमिला सबसे दाईं तरफ हैं)
प्रिंस चार्ल्स और कैमिला विंडसर ग्रेट पार्क में स्मिथ के लॉन में अक्सर मिला करते थे। यहां चार्ल्स पोलो खेलते थे। कहा जाता है कि दोनों की पहली मुलाकात एक पोलो मैच के दौरान ही हुई थी। (फोटो में कैमिला सबसे दाईं तरफ हैं)

31 अगस्त, 1997 में पेरिस में एक रोड एक्सीडेंट में प्रिंसेस डायना की मौत हो गई। तब उनकी उम्र 36 साल थी। डायना उस वक्त अपने दोस्त डोडी अल फयद के साथ थीं। इसके बाद 1999 से चार्ल्स और कैमिला दोबारा साथ नजर आने लगे। लंबे वक्त तक रिश्ते में रहने के बाद दोनों ने अप्रैल 2005 में शादी कर ली।

10 फरवरी 2005 को कैमिला और प्रिंस चार्ल्स की सगाई का ऐलान किया गया। कहा जाता है कि चार्ल्स ने कैमिला को हीरे की जो अंगूठी दी, वह उनकी दादी को दी गई थी, जब उन्होंने क्वीन एलिजाबेथ II को जन्म दिया था।
10 फरवरी 2005 को कैमिला और प्रिंस चार्ल्स की सगाई का ऐलान किया गया। कहा जाता है कि चार्ल्स ने कैमिला को हीरे की जो अंगूठी दी, वह उनकी दादी को दी गई थी, जब उन्होंने क्वीन एलिजाबेथ II को जन्म दिया था।

अपने शासन की 70वीं सालगिरह पर क्वीन एलिजाबेथ ने कहा था कि चार्ल्स के राजा बनने पर कैमिला ब्रिटेन की महारानी होंगी। एलिजाबेथ के इस ऐलान ने कैमिला को राजपरिवार के सदस्य के तौर पर अपनाने की मंजूरी दे दी।

3. डायना के छोटे बेटे हैरी: पत्नी के लिए शाही परिवार से अलग हुए

सात मार्च 2021 को प्रिंस हैरी और मेगन ने एक इंटरव्यू में जो कहा, उस पर शाही परिवार को सफाई देनी पड़ी थी। उन्होंने बताया कि रॉयल फैमिली उनके बेटे आर्ची को प्रिंस नहीं बनाना चाहती थी। उसके जन्म से पहले उन्हें डर था कि कहीं उसका रंग काला न हो।
सात मार्च 2021 को प्रिंस हैरी और मेगन ने एक इंटरव्यू में जो कहा, उस पर शाही परिवार को सफाई देनी पड़ी थी। उन्होंने बताया कि रॉयल फैमिली उनके बेटे आर्ची को प्रिंस नहीं बनाना चाहती थी। उसके जन्म से पहले उन्हें डर था कि कहीं उसका रंग काला न हो।

डायना के छोटे बेटे प्रिंस हैरी पत्नी मेगन के साथ 9 जनवरी 2020 को शाही परिवार से अलग हो गए। वे ब्रिटेन से अमेरिका चले गए। प्रिंस हैरी और मेगन ने एक इंटरव्यू में कहा कि रॉयल फैमिली से अलग होना बहुत मुश्किल अनुभव था। वैसा ही, जैसा कभी उनकी मां प्रिंसेज डायना के लिए रहा होगा।

हैरी ने कहा कि वह तो कल्पना भी नहीं कर सकते कि उनकी मां के हालात कितने बुरे रहे होंगे। हैरी की पत्नी मेगन फिल्म स्टार रह चुकी थीं और नॉन ब्रिटिश थीं। वे डायना की तरह ही रहीं। उनकी ही तरह बाहरी। अपनी लाइफस्टाइल की वजह से मेगन को शाही परिवार का गुस्सा झेलना पड़ा। इसी वजह से हैरी अपने परिवार से दूर हो गए।

4. प्रिंस विलियम की पत्नी केट: मैगजीन में छपी टॉपलेस तस्वीर

29 अप्रैल 2011 को प्रिंस विलियम और केट मिडलटन की शादी हुई थी। लोग इसके सेलिब्रेशन में शामिल हो सकें, इसलिए उस दिन नेशनल हॉलिडे रखा गया था। सादगी भरा जीवन जीने वालीं केट का नाम कई विवादों से जुड़ चुका है।
29 अप्रैल 2011 को प्रिंस विलियम और केट मिडलटन की शादी हुई थी। लोग इसके सेलिब्रेशन में शामिल हो सकें, इसलिए उस दिन नेशनल हॉलिडे रखा गया था। सादगी भरा जीवन जीने वालीं केट का नाम कई विवादों से जुड़ चुका है।

2012 में प्रिंस विलियम की पत्नी केट मिडलटन की टॉपलेस तस्वीर एक फ्रेंच मैग्जीन में छपी थी। इससे शाही परिवार काफी खफा हुआ था। खुद प्रिंस विलियम में इसे दुखद बताया था। इस मामले में मैग्जीन से जुड़े 6 लोगों पर केस भी दर्ज हुआ था।

केट मिडलटन पर अपने देवर राजकुमार हैरी और उनकी पत्नी मेगन मार्केल से साथ विवाद का आरोप भी लगा। शाही परिवार ने इस पर चुप्पी साधे रखी। केट मिडलटन जब अपने पहले बच्चे को जन्म देने वाली थीं, तब उनकी देखरेख कर रही नर्स ने सुसाइड कर लिया था। इसको लेकर भी शाही परिवार पर सवाल उठे थे।

5. प्रिंस एंड्रयू: नाबालिग से सेक्शुअल हैरेसमेंट की वजह से टाइटल छोड़ना पड़ा

प्रिंस एंड्रयू रॉयल नेवी में हेलिकॉप्टर पायलट रह चुके हैं। नेवी से रिटायर होने के बाद 2001 में वह बिजनेस करने लगे।
प्रिंस एंड्रयू रॉयल नेवी में हेलिकॉप्टर पायलट रह चुके हैं। नेवी से रिटायर होने के बाद 2001 में वह बिजनेस करने लगे।

शाही परिवार के इतिहास में सबसे बड़ी शर्मिंदगी प्रिंस एंड्रयू की वजह से हुई। उन पर एक नाबालिग के सेक्शुअल हैरासमेंट का आरोप लगा। 2019 में सामने आए इस मामले को 'एपस्टीन स्कैंडल' कहा गया। इसके बाद प्रिंस एंड्रयू को मिला ड्यूक ऑफ यॉर्क का टाइटल वापस ले लिया गया। उनसे अपने नाम के साथ हिज रॉयल हाइनेस इस्तेमाल करने का अधिकार नहीं रहा।

ब्रिटिश सिंहासन पर दावेदारी में प्रिंस एंड्रयू का नंबर नौंवा था। एंड्रयू ने आरोपों के बाद अपनी शाही जिम्मेदारियों को छोड़ दिया।

दिवंगत महारानी से जुड़ी ये खबरें भी जरूर पढ़ें...

एलिजाबेथ ने स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कासल में अंतिम सांस ली, चार्ल्स किंग बनाए गए

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का गुरुवार को निधन हो गया। वह पिछले कुछ वक्त से बीमार थीं। 96 साल की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय फिलहाल स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कासल में थीं। यहीं उन्होंने अंतिम सांस ली। वे सबसे लंबे समय तक (70 साल) ब्रिटेन की क्वीन रहीं।
पढ़ें पूरी खबर...

15 देशों की सिंबॉलिक महारानी थीं एलिजाबेथ-II, रोज मिलता था सरकारी काम का ब्यौरा

एलिजाबेथ सिर्फ ब्रिटेन ही नहीं, 14 अन्य आजाद देशों की भी महारानी थीं। ये सभी देश कभी न कभी ब्रिटिश हुकूमत के अधीन रहे थे। एलिजाबेथ द्वितीय संवैधानिक रानी होने के साथ यूनाइटेड किंगडम की हेड ऑफ स्टेट यानी राज्य प्रमुख भी थीं। इस नाते सरकार रोज उनके पास जरूरी दस्तावेज भेजती थी।
पढ़ें पूरी खबर...

तीन बार भारत आईं एलिजाबेथ-II, रिपब्लिक डे पर शाही मेहमान बनीं

​​एलिजाबेथ-II तीन बार भारत आईं। 1961, 1983 और 1997 में वो भारत की शाही मेहमान बनी थीं। 1961 में भारत के गणतंत्र दिवस की परेड में भी शामिल हुई थीं। उनके साथ प्रिंस फिलिप भी थे।तब राष्ट्रपति रहे राजेंद्र प्रसाद और PM जवाहरलाल नेहरू पालम एयरपोर्ट पर उनकी अगवानी करने पहुंचे थे।
पढ़ें पूरी खबर...

क्वीन एलिजाबेथ के जयपुर दौरे पर हुआ था विवाद

पहले भारत दौरे के दौरान वे जयपुर और उदयपुर भी आई थीं। यह दौरा काफी विवादों में भी रहा था। इस दौरान जवाहरलाल नेहरू ने दरबार लगाने और टाइगर शूट के लिए सवाई माधोपुर में जयपुर के पूर्व राजघराने की शिकारगाह जाने पर आपत्ति जताई थी।
पढ़ें पूरी खबर...

2.23 किलो सोने का मुकुट, 70 साल बाद ब्रिटेन का राष्ट्रगान बदलेगा

एलिजाबेथ-II के निधन के बाद उनके बेटे प्रिंस चार्ल्स नए किंग बन गए हैं। अब उन्हें किंग चार्ल्स-III के नाम से जाना जाएगा। महारानी के निधन के 24 घंटों के भीतर लंदन स्थित सेंट जेम्स पैलेस में एक सेरेमोनियल बॉडी के बीच चार्ल्स को आधिकारिक तौर पर राजा घोषित किया जाएगा।
पढ़ें पूरी खबर...

खबरें और भी हैं...