माइक्रोसॉफ्ट के इनोवेशन:डॉक्टर-मरीज की चर्चा लिखित रूप में, टेलीहेल्थ में आमने-सामने जैसी देखभाल मिल रही

वॉशिंगटन5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
माइक्रोसॉफ्ट ने क्लाउड फॉर हेल्थकेयर लॉन्च किया। - Dainik Bhaskar
माइक्रोसॉफ्ट ने क्लाउड फॉर हेल्थकेयर लॉन्च किया।

टेक दिग्गज कंपनियों के सीईओ की महत्वपूर्ण सूची में हेल्थकेयर सबसे ऊपर है। अमेजन अपना हेल्थकेयर कारोबार शुरू करने जा रही है। एपल आईफोन को पेशेंट डाइग्नोस्टिक और एंगेजमेंट टूल में बदल रही है। जबकि गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट अपनी निवेश ईकाई एआई एंड एनालिटिक्स के जरिए हेल्थकेयर पर बड़ा दांव लगा रही है। ऐसे में माइक्रोसॉफ्ट भी पीछे कैसे रह सकती है। वह टेक्नोलॉजी के जरिए हेल्थकेयर उद्योग में अक्सर आने वाली कुछ बड़ी परेशानियों का समाधान देने में जुटी है। महामारी के दौर में सेहत और देखभाल संबंधी चुनौतियां और ज्यादा बढ़ गई हैं।

जानिए माइक्रोसॉफ्ट के इनोवेशन किस तरह हेल्थकेयर इंडस्ट्री के परिदृश्य को बदल रहे हैं...भर्ती किए बिना अच्छी देखभाल

कंपनी ने एज्योर आईओटी कनेक्टर लॉन्च किया है। इसकी मदद से हेल्थकेयर टीम को अस्पताल का सारा डेटा समझने में मदद करते हैं। इसके अलावा एआई सक्षम अल्गोरिदम से जोखिम के संकेतों को तुरंत पकड़ने में मदद मिलती है। दूरदराज के इलाके में मौजूद मरीज की निगरानी में भी इसका इस्तेमाल लगातार बढ़ रहा है। खासकर कोरोना के दौर में। इससे डॉक्टरों को यह ट्रैक करने में मदद मिलती है कि अस्पताल में लाए बिना मरीजों की देखभाल किस तरह की जा रही है। इसे बेहतर कैसे कर सकते हैं।

नेचरल लैंग्वेज इनपुट में बड़ा दांव

ड्रैगन एंबिएंट एक्सपीरियंस के जरिए डॉक्टर और मरीज के बीच चर्चा को लिखित शब्दों में बदला जाता है। इससे डॉक्टर व मरीज में जुड़ाव बढ़ता है। इससे डाक्यूमेंटेशन प्रक्रिया में कमी आती है और डॉक्टर मरीज पर ज्यादा फोकस कर पाते हैं।

क्लाउड फॉर हेल्थकेयर: वर्चुअल केयर में फिजिकल से बेहतर अनुभव

माइक्रोसॉफ्ट में ग्लोबल हेल्थकेयर एंड साइंस के वाइस प्रेसिडेंट (कॉर्पोरेट) टॉम मैकगिनीज कहते हैं कि महामारी ने देखभाल में एक तरह का अलगाव पैदा किया है, जबकि मरीज जुड़ाव चाहते हैं। हम चाहते हैं कि वर्चुअल केयर में ही लोगों को फिजिकल केयर जैसा अनुभव मिले। इसे ध्यान में रखते हुए माइक्रोसॉफ्ट ने क्लाउड फॉर हेल्थकेयर लॉन्च किया। इस सॉफ्टवेयर में फिजिकल देखभाल देने वाली कंपनियों के लिए टेलीहेल्थ सुविधाओं पर जोर दिया गया है। इसके अलावा बुकिंग एप का इस्तेमाल डॉक्टर टेलीहेल्थ परामर्श शेड्यूलिंग के लिए करते हैं।